अच्छी खबर: आईटी कंपनियों ने फिर शुरू की हायरिंग, कर्मचारियों को दे रहीं सैलरी में बढ़ोतरी और बोनस का ऑफर


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • 60 हजार से ज्यादा नौकरियां देंगी HCL, इंफोसिस और कॉग्निजेंट
  • TCS और विप्रो ने 1 जनवरी से कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाई

कोविड-19 महामारी के दौरान अधिकांश सेक्टर्स की कंपनियों का डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन पर फोकस रहा है। इससे सॉफ्टवेयर सर्विसेज कंपनियों के क्लाइंट्स बढ़ गए हैं। तीसरी तिमाही में इन कंपनियों की कमाई में जबर्दस्त बढ़ोतरी रही है। यही कारण है कि सॉफ्टवेयर सर्विसेज कंपनियों ने फिर से हायरिंग शुरू कर दी है। इसके अलावा कंपनियां मौजूदा कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी और बोनस ऑफर कर रही हैं।

अगले वित्त वर्ष में 17 हजार फ्रेशर्स को नौकरी देगी HCL

HCL टेक्नोलॉजी ने सोमवार को ही अपने कर्मचारियों को 700 करोड़ रुपए का वन-टाइम बोनस देने का ऐलान किया है। रिकॉर्ड 10 बिलियन डॉलर के रेवेन्यू का आंकड़ा पार करने पर कंपनी ने यह घोषणा की है। इसका करीब 1.60 लाख कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। 1 साल या इससे ज्यादा समय से काम कर रहे कर्मचारियों को बोनस दिया जाएगा। इसके अलावा कंपनी वित्त वर्ष 2021-22 में भारत में 15 हजार फ्रेशर्स को नौकरी देने की योजना बना रही है। साथ ही कंपनी 1500-2000 कर्मचारी क्लाइंट लोकेशन पर नियुक्त करेगी।

TCS ने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाई

देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सर्विसेज कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज (TCS) लिमिटेड कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने वाली पहली कंपनी बन गई है। TCS ने पिछले साल 1 अक्टूबर से 4.5 लाख कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का फैसला किया है। इसके अलावा इंफोसिस और विप्रो ने भी जनवरी में कर्मचारियों के प्रमोशन और सैलरी में बढ़ोतरी की घोषणा की है।

24 हजार कॉलेज ग्रेजुएट्स को नौकरी देगी इंफोसिस

इंफोसिस के CEO और MD सलिल पारेख का कहना है कि घोषणा के अनुरूप हमने कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी शुरू कर दी है। यह बढ़ोतरी 1 जनवरी 2021 से लागू होगी। इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2022 में 24 हजार कॉलेज ग्रेजुएट्स को नौकरी देने का फैसला किया है। कॉलेज ग्रेजुएट्स की हायरिंग में इंफोसिस ने पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 15 हजार की बढ़ोतरी की है।

विप्रो के 1.45 लाख कर्मचारियों की सैलरी बढ़ी

एक अन्य आईटी कंपनी विप्रो ने B और B3 बैंड या इससे निचले बैंड के कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी कर दी है। सैलरी में यह बढ़ोतरी 1 जनवरी 2021 से लागू हो गई है। कंपनी की कुल वर्कफोर्स के करीब 80% कर्मचारी B3 तक के बैंड में शामिल हैं। इसका मतलब यह है कि कंपनी के कुल 1.80 लाख कर्मचारियों में से 1.45 लाख को सैलरी में बढ़ोतरी का लाभ मिला है।

2021 में 23 हजार लोगों को नौकरी देगी कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी

कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस कॉरपोरेशन में इस समय भारत में करीब 2 लाख कर्मचारी हैं। कंपनी को उम्मीद है कि वह 2021 में देश में 23 हजार लोगों को नौकरी देगी। पिछले साल के मुकाबले इस साल हायरिंग में 35% बढ़ोतरी की गई है। कॉग्निजेंट के CEO ब्रायन हम्फरीज का कहना है कि यह हायरिंग डिजिटल प्राथमिकता वाले क्षेत्र में की जाएगी। इसमें क्लाउड, डाटा एंड आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, डिजिटल इंजीनियरिंग और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *