अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का आरोप: CBI, ED से आरोप की जांच करवाने की मांग को लेकर दायर 2 याचिकाओं पर आज बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Anil Deshmukh Vs Param Bir Singh Mumabi Highcourt PIL News Update; Uddhav Thackeray Sharad Pawar Charges Maharashtra Politics Latest News Update

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र सरकार ने परमबीर सिंह(दाएं) को मुंबई के पुलिस कमिश्नर पद से हटाकर होमगार्ड डिपार्टमेंट में DG बनाया है, जिसके बाद से सिंह, गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ हमलावर हैं।

बॉम्बे हाईकोर्ट (HC) मंगलवार को महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई करने वाला है। इनमें से एक जनहित याचिका है। इसे मुंबई के वकील डॉ. जयश्री लक्ष्मणराव पाटिल द्वारा दायर किया गया है। इसमें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा, गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगे आरोपों की जांच सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ED) से करवाने की मांग की गई है। परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ हर महीने 100 करोड़ रुपए की वसूली के आरोप लगाए हैं। साथ ही उन्होंने इस मामले की जांच सीबीआई से भी कराने की मांग की है।

दूसरी याचिका परमबीर सिंह की ओर से दायर की गई है। 100 करोड़ की वसूली के अलावा अपनी याचिका में सिंह ने ट्रांसफर-पोस्टिंग में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया है। इसके अलावा उन्होंने कोर्ट से अपील की है कि देशमुख के घर के सीसीटीवी फुटेज को सुरक्षित रख लिया जाए, इससे पहले कि उसे ‘नष्ट’ कर दिया जाए। माना जा रहा है कि दोपहर 12 बजे के आसपास दोनों याचिकाएं सुनवाई के लिए आएंगी। परमबीर सिंह ने इससे पहले इन आरोपों को लेकर सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था, जिसे शीर्ष अदालत ने गंभीर करार दिया था और सिंह को पहले हाईकोर्ट जाने के लिए कहा था। जिसके बाद उनकी ओर से हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई।

परमबीर सिंह की अर्जी के अहम पॉइंट्स

  • गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर के बाहर लगे CCTV फुटेज को जब्त कर उसकी जांच करवाने की मांग।
  • परमबीर सिंह ने कहा कि अगर उनके आरोपों की जांच जल्दी नहीं की गई तो हो सकता है कि अनिल देशमुख सभी सबूतों को मिटा दें और CCTV फुटेज को डिलीट कर दें।
  • अनिल देशमुख ने फरवरी में अपने आवास पर कई मीटिंग कीं। मुंबई क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (CIU) के इंस्पेक्टर सचिन वझे भी इसमें शामिल हुए थे। उस दौरान गृह मंत्री अनिल देशमुख ने वझे को होटल, बार और रेस्टोरेंट से हर महीने 100 करोड़ रुपए की उगाही करने को कहा था।
  • 24-25 अगस्त 2020 को राज्य खुफिया विभाग की इंटेलिजेंस कमिश्नर रश्मि शुक्ला ने DGP को अनिल देशमुख की ओर से ट्रांसफर-पोस्टिंग में किए जा रहे भ्रष्टाचार की जानकारी दी थी। DGP ने यह जानकारी गृह मंत्रालय में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी को दी थी। ये जानकारियां टेलीफोन पर हुई बातचीत को रिकॉर्ड कर जुटाई गई थीं। इस पर अनिल देशमुख के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय उल्टे रश्मि शुक्ला का ही तबादला कर दिया गया।

इसलिए नाराज हैं परमबीर सिंह

महाराष्ट्र सरकार ने परमबीर सिंह को मुंबई के पुलिस कमिश्नर पद से हटाकर होमगार्ड डिपार्टमेंट में DG बनाया है। उन पर असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वझे को प्रोटेक्शन देने का आरोप है। कारोबारी मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर स्कॉर्पियो में विस्फोटक मिलने के मामले में वझे को गिरफ्तार किया गया है। परमबीर सिंह पुलिस कमिश्नर पद से हटाए जाने से नाराज हैं और उन्होंने अब गृह मंत्री अनिल देशमुख पर उगाही का आरोप लगाया है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *