आंदोलन के बीच रंगों का त्योहार: कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बॉर्डर पर ही मनाई होली; लोकनृत्य और गाने-बजाने के साथ रंग खेला


  • Hindi News
  • National
  • Holi Celebration In Ghazipur At Delhi Uttar Pradesh Border Farmers Protesting Since Last 123 Days

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

यह फोटो सिंघु बॉर्डर की है। यहां शनिवार को किसानों ने कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर होलिका दहन किया।

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने भी होली मनाई। गाजीपुर में दिल्ली-उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर पिछले 123 दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने लोकनृत्य और गाना-बजाना कर त्योहार का लुत्फ उठाया। इस दौरान कुछ किसान गाना गाते नजर आए, तो कुछ ने डांस कर त्योहार को मनाया।

26 नवंबर से दिल्ली के बॉर्डर पर जमे किसान
किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 नवंबर से दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं। 26 जनवरी को लाल किले की हिंसा के बाद कमजोर पड़े आंदोलन को किसान संगठन फिर से तेज करने की कोशिशों में लगे हुए हैं। उनकी मांग है कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए।

किसान लंबे समय तक टिकने की तैयारी में जुटे
कड़ाके की ठंड झेलने के बाद आंदोलनकारी किसान अब गर्मियों के मौसम को देखते हुए तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने टेंट्स में पंखे लगवाना शुरू कर दिए हैं। साथ ही टेंट की ऊंचाई बढ़ाकर उसके अंदर एक और टेंट लगा रहे हैं ताकि गर्मी से बच सकें। इसके साथ ही धरनास्थलों पर AC लगी ट्रॉलियां भी नजर आ रही हैं। किसान नेता राकेश टिकैत कह चुके हैं कि आंदोलन कम से कम दिसंबर तक चलेगा।

खबरें और भी हैं…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *