आत्महत्या: इंसाफ को एसएसपी दफ्तर के बाहर सिर पटकने वाली महिला ने फंदा लगा दी जान


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बठिंडा12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

4 महीने पहले एसएसपी बठिंडा के दफ्तर के बाहर सुनवाई ना होने पर रोते बिलखते हुए निशा और उसका 8 साल का बेटा। (फाइल फोटो)

  • पति और ससुरालियों की प्रताड़ना से दुखी होकर महिला ने की खुदकुशी

पति व ससुरालियों की प्रताड़ना से दुखी होकर लगातार पुलिस थानों व अफसरों के पास इंसाफ के लिए चक्कर लगाने वाली 30 साल की निशा ने फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। निशा वही महिला है जो चार महीने पहले ससुरालियों की प्रताड़ना में इंसाफ के लिए एसएसपी दफ्तर पहुंची थीं। जहां उसकी सुनवाई न होने पर उसने हंगामा करते हुए एसएसपी दफ्तर के बाहर जमीन पर माथा तक पटका था। इंसाफ के लिए पिछले कई महीनों से दर-दर की ठोकरें खा रही निशा ने रविवार देर रात किला रोड पर स्थित एक किराए के मकान पर खुदकुशी कर ली।

मृतका के शव को सहारा जनसेवा ने सरकारी अस्पताल पहुंचाया, जहां कोतवाली पुलिस ने मृतका के भाई के बयानों पर आराेपी पति संदीप कुमार व सास बिमला के खिलाफ खुदकुशी के लिए मजबूर करने के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस ने लाश का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। मृतका अपने पीछे एक आठ साल व एक ढाई साल के दो बेटों को छोड़ गई।

भाई के बयानाें पर पति व सास के खिलाफ खुदकुशी को मजबूर करने का केस

किराए के मकान में अपने दो बच्चों के साथ रहती थी –सहारा जनसेवा के हेल्पलाइन नंबर पर सूचना मिली कि किला रोड पर स्थित मुहल्ला झुट्टिका में एक महिला ने फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया है। वह एक किराए के मकान में अपने दो बच्चों के साथ रह रही थी। वर्करों ने शव फंदे से उतारकर तुरंत सरकारी अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। जिसकी पहचान निशा पत्नी संदीप कुमार के तौर पर हुई।

एएसआई बिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस को बयान देकर गंगाराम वाली गली निवासी राजेश कुमार ने बताया कि उसकी बहन निशा रानी की शादी करीब दस साल पहले किला रोड मोहल्ला झुट्टिका निवासी संदीप कुमार के साथ हुई थी। पिछले माह से उसकी बहन का अपने पति व सास के साथ घरेलू विवाद चल रहा था। जिसके चलते उसका पति व सास उसकी बहन को परेशान करते थे और उसके साथ मारपीट भी करते थे। पति व सास ने उसकी बहन व उसके बच्चों को कई महीने पहले घर से निकाल दिया था और तलाक लेने के लिए कोर्ट में केस दायर किया था।

जिसके चलते उसकी बहन को मानसिक तौर पर भी परेशान किया जा रहा था। जब उसकी बहन ने अपने पति व सास के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी, तो उसकी सास व जेठानी ने अलग-अलग थानों में उसकी बहन के खिलाफ केस दर्ज करवा दिए। इसके बाद से उसकी बहन काफी परेशान रहने लगी व रविवार को फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। एएसआई बिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस ने मृतक महिला के भाई राजेश कुमार की शिकायत पर पति संदीप कुमार व सास बिमला देवी के खिलाफ आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया है।

पहले भी खुदकुशी का प्रयास कर चुकी थी 22 अक्टूबर को निशा अपने दो बच्चों को लेकर एसएसपी दफ्तर में इंसाफ के लिए पहुंची थीं। यहां उसकी सुनवाई न होने पर उसने हंगामा करते हुए एसएसपी दफ्तर के बाहर ही फर्श पर अपना माथा पटकना शुरू कर दिया था, लेकिन किसी तरह पुलिस मुलाजिमों ने उसे कार्रवाई का भरोसा दिलाकर घर भेज दिया था। इसके चार-पांच दिन बाद ही निशा पावर हाउस रोड पर

बेहोशी की हालत में मिली थी, जिसे सहारा ने सरकारी अस्पताल में दाखिल करवाया था, तब निशा ने परेशानी में नींद की गोलियां खाकर सुसाइड करने का प्रयास किया था, लेकिन उसकी जान बच गई। इसके कुछ समय बाद उसके खिलाफ उसकी सास व जेठानी ने अलग-अलग थानों में केस दर्ज करवा दिए थे। ससुरालियों की ओर से की जा रही प्रताड़ना में इंसाफ न मिलने पर आखिरकार अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *