आसमान में बची जान: दुबई से आ रहे विमान में बेहोश हुआ पैसेंजर; क्रू मेंबर्स ने समय रहते दी ऑक्सीजन, चेन्नई तक सुरक्षित पहुंचाया


  • Hindi News
  • National
  • Passenger Fainted In A Plane Coming From Dubai; Crew Members Deliver Oxygen In Time, Safely To Chennai

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चेन्नई36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

विमान से चेन्नई आ रहे एक अन्य पैसेंजर ने मरीज की जान बचाने वाली दो महिला क्रू मेंबर्स की तस्वीर पोस्ट की है। दोनों पीपीई किट में हैं। उसने दोनों को अनाम हीरो बताया।

अमीरात एयरलाइंस के क्रू मेंबर्स की सजगता से एक भारतीय पैसेंजर की जान बच गई। घटना शुक्रवार 19 मार्च की है। एयरलाइंस अधिकारियों के मुताबिक, दुबई से चेन्नई आ रहे विमान संख्या EK544 में एक पैसेंजर्स अचानक बेहोश हो गया। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी साथ ही दिल की धड़कन भी रुक गई थी। घटना के दौरान विमान समुद्री क्षेत्र से गुजर रहा था।

ऐसे में क्रू मेंबर्स ने पैसेंजर को फौरन कार्डियो पल्मोनरी रेसूसिटेसन (CPR) देकर उनकी जान बचा ली। फ्लाइट जब चेन्नई पहुंची तो पैसेंजर को अस्पताल भेजा गया। अमीरात एयरलाइंस के प्रबंधन ने बताया कि हम अपने क्रू मेंबर्स को कार्डियो पल्मोनरी रेसूसिटेसन (CPR) देना सिखाते हैं, ताकि किसी भी आपात स्थिति में मरीज की जान बचाई जा सके।

सोशल मीडिया पर क्रू मेंबर्स की तस्वीर पोस्ट की
विमान से आ रहे एक अन्य यात्री नरेन सुब्रमण्यम ने बताया कि बुजुर्ग की स्थित ठीक नहीं थी। मैं एक पल के लिए बहुत ज्यादा परेशान हो गया था। लेकिन विमान के क्रू मेंबर्स ने समय रहते उन्हें बचा लिया। उन्होंने जान बचाने वाली दो महिला क्रू मेंबर्स की तस्वीर पोस्ट की है। दोनों क्रू मेंबर्स पीपीई किट में दिख रहे हैं। नरेन ने आगे लिखते हुए उन्हें अनाम हीरो बताया और जान बचाने के लिए धन्यवाद भी दिया।

क्या होता है कार्डियो पल्मोनरी रेसूसिटेसन
इमरजेंसी में अगर किसी व्यक्ति को कार्डियक अरेस्ट और सांस न ले पाने की दिक्कत आती है तो उसे कार्डियो पल्मोनरी रेसूसिटेसन (CPR) देकर ठीक किया जा सकता है। इसमें मरीज को सांसे दी जाती हैं, जिससे फेफड़ों को समय पर ऑक्सीजन मिलता है। साथ ही सांस आने तक या दिल की धड़कन सामान्य होने तक छाती को दबाया जाता है। इसे शरीर में पहले से मौजूद ऑक्सीजन वाला खून एक्टिव हो जाता है। ऐसे में मरीज की जान बच जाती है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *