इतिहास में आज: दुनिया का सबसे भीषण विमान हादसाः स्पेन के रनवे पर भिड़ गए थे दो बोइंग 747, 583 की मौत


  • Hindi News
  • National
  • Today History: Aaj Ka Itihas 27 March Update | What Happened Today? 1977 Spain Tenerife Island Plane Crash And World Theatre Day

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

27 मार्च 1977 को स्पेन के टेनेराइफ के रनवे पर दो बोइंग 747 आपस में भिड़ गए थे। इस हादसे में 583 लोगों की मौत हुई थी। इस हादसे को आज भी दुनिया के सबसे भीषण विमान हादसे के तौर पर जाना जाता है। इस हादसे में शामिल पैन अमेरिकन वर्ल्ड एयरवेज की फ्लाइट पर सवार 61 लोगों की जान ही बच सकी थी।

KLM की फ्लाइट 4805 ने एम्स्टर्डम से यात्रा शुरू की थी जबकि पैन अमेरिकन फ्लाइट 1736 ने लॉस एंजिलिस इंटरनेशनल एयरपोर्ट से। दोनों ही विमानों को स्पेन के ग्रान कैनेरिया एयरपोर्ट जाना था, जो कैनेरी आइलैंड का एक हिस्सा है। दरअसल, दोनों विमानों को जिस लास पामोज एयरपोर्ट पर जाना था, वहां पैसेंजर एरिया में एक ब्लास्ट हुआ था। इसके बाद एयरपोर्ट को बंद कर ट्रैफिक डायवर्ट किया गया था। ज्यादातर विमानों को टेनेराइफ भेजा गया, जहां एक ही व्यक्ति ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था। जब ग्रान कैनेरिया का एयरपोर्ट खुला तो विमानों में टेनेराइफ से जल्द से जल्द निकलने की होड़ लग गई थी।

एयरपोर्ट पर KLM का बोइंग 747 पैन अमेरिकी विमान के ठीक आगे था। जैसे ही KLM का विमान रनवे पर आया, अमेरिकी कंपनी का विमान भी पीछे-पीछे आगे बढ़ा। वहां विमानों को पार्किंग से निकलकर टेकऑफ के लिए 180 डिग्री टर्न लेना पड़ता था। अमेरिकी विमान को रनवे से बाहर निकलकर KLM के विमान को टेकऑफ के लिए जगह देनी थी। उस वक्त मौसम भी ठीक नहीं था। कोहरे की वजह से दोनों पायलटों को पता ही नहीं चला कि दोनों के विमान रनवे पर हैं। KLM बोइंग ने टेकऑफ रन शुरू की, पर तब तक पैन अमेरिकन फ्लाइट हटी नहीं थी और दोनों विमान टकरा गए। इस दौरान पैन अमेरिकन फ्लाइट के पायलट ने विमान को जल्द रनवे से हटाने की कोशिश भी की, पर देर हो चुकी थी। हादसे में 583 लोगों की मौत हुई।

इस हादसे के बाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स के लिए नए नियम बने। जांच में पता चला कि हादसे का एक बड़ा कारण कम्युनिकेशन गैप भी रहा। इसके बाद तय हुआ कि जब तक वास्तविक टेकऑफ न हो, तब तक इस शब्द का इस्तेमाल न करते हुए डिपार्चर ही बोला जाए। इसके बाद ही क्रू रिसोर्स मैनेजमेंट शुरू हुआ। एयर ट्रैफिक कंट्रोल और फ्लाइट क्रू के बीच कम्युनिकेशन में भी सुधार हुआ। इस्तेमाल होने वाली भाषा का स्टैंडर्डाइजेशन हुआ।

आज विश्व रंगमंच दिवसः 1961 में हुई शुरुआत
विश्व रंगमंच दिवस यानी वर्ल्ड थिएटर डे हर साल 27 मार्च को मनाया जाता है। 1961 में इंटरनेशनल थिएटर इंस्टिट्यूट ने इस दिन को मनाने की शुरुआत की। तब से हर साल दुनियाभर में इस दिन राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय थिएटर समारोह होते हैं। इंटरनेशनल थिएटर इंस्टीट्यूट इसी दिन एक कॉन्फ्रेंस करता है। इसका मकसद एक थिएटर कलाकार का चयन करना होता है, जो लोगों को एक खास मैसेज देता है। इस मैसेज का लगभग 50 भाषाओं में अनुवाद किया जाता है, जो दुनियाभर के अखबारों में छपता है। 1962 में फ्रांस के जीन काक्टे ने पहला मैसेज दिया था। 2002 में गिरीश कर्नाड ने यह मैसेज दिया।

1998ः अमेरिका में वियाग्रा को मिली मंजूरी
अमेरिका में पुरुष नपुंसकता को दूर करने वाली फाइजर की दवा को मंजूरी मिली थी। 2012 में कंपनी ने सिर्फ वियाग्रा से 2 अरब अमेरिकी डॉलर कमाए।

देश-दुनिया में 27 मार्च को इन घटनाओं के लिए भी याद किया जाता है-

  • 2019ः भारत ने अपनी एंटी-सैटेलाइट मिसाइल का इस्तेमाल कर अपना ही सैटेलाइट मार गिराया। सरकार ने कहा कि स्पेस में भारतीय संपत्तियों को विदेशी हमलों से बचाने का यह परीक्षण था। अमेरिका ने पहली बार 1959 में ऐसा एंटी-सैटेलाइट टेस्ट किया था, तब सैटेलाइट दुर्लभ और नए थे।
  • 2013ः दक्षिण अफ्रीका में ब्रिक्स राष्ट्रों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) ने 4.5 ट्रिलियन डॉलर के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोग्राम के लिए डेवलपमेंट बैंक बनाने पर सहमति दी। यह वर्ल्ड बैंक को चुनौती थी, जिस पर पश्चिमी देशों के पक्ष में काम करने का आरोप लगता रहा है।
  • 2008ः अंतरिक्ष यान एंडेवर पृथ्वी पर सफलतापूर्वक सुरक्षित लौटा।
  • 2003ः रूस ने घातक टोपोल आरएस-12 एम बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया।
  • 1933ः जापान ने लीग ऑफ नेशंस से खुद को अलग कर लिया।
  • 1899ः इतालवी आविष्कारक जी मारकोनी ने फ्रांस और इंग्लैंड के बीच पहला इंटरनेशनल रेडियो प्रसारण किया।
  • 1884ः बोस्टन से न्यूयॉर्क के बीच पहली बार फोन पर लंबी दूरी की बातचीत हुई।
  • 1871ः पहला अंतरराष्ट्रीय रग्बी मैच स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया।
  • 1855ः अब्राहम गेस्नर ने केरोसिन (मिट्टी के तेल) का पेटेंट कराया।
  • 1841ः पहले स्टीम फायर इंजन का सफल परीक्षण न्यूयॉर्क में किया गया।
  • 1721: स्पेन और फ्रांस ने मैड्रिड समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे।
  • 1668ः इंग्लैंड के शासक चार्ल्स द्वितीय ने बॉम्बे को ईस्ट इंडिया कंपनी को सौंपा था।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *