इतिहास में आज: मनोहर पर्रिकर का निधन हुआ, जो मुख्यमंत्री होते हुए भी स्कूटर से चलते थे, टी स्टॉल पर खड़े होकर चाय पीते नजर आ जाते थे


  • Hindi News
  • National
  • Today History: Aaj Ka Itihas 17 March Interesting Facts Update | Manohar Parrikar Death Anniversary, 1992 South African Apartheid Referendum

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दो साल पहले आज ही के दिन गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन हुआ था। कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद 63 साल की उम्र में देश के पूर्व रक्षा मंत्री ने अंतिम सांस ली। उन्होंने आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई की थी। गोवा का सीएम होने के बावजूद कई साल तक उन्होंने सीएम हाउस का इस्तेमाल नहीं किया था। वे अपने ही घर में रहते थे। सीएम रहते हुए पर्रिकर कई बार विधानसभा जाते समय सरकारी गाड़ी को छोड़कर स्कूटर का इस्तेमाल करते थे। इसके साथ ही वो बिना सुरक्षा के किसी भी टी स्टॉल पर खड़े होकर चाय पीते भी नजर आ जाते थे।

पर्रिकर की ये आदतें गोवा के लोगों के लिए एक आम बात थी। पर्रिकर नवंबर 2014 से 13 मार्च 2017 तक देश के रक्षा मंत्री भी रहे थे। पर्रिकर फ्लाइट में हमेशा ही इकोनॉमी क्लास में ट्रेवल करते थे। वो मोबाइल और टेलीफोन के बिल का भुगतान अपनी जेब से करते थे। उन्हें पब्लिक ट्रांसपोर्ट का बेझिझक इस्तेमाल करते देखा जाता था।

दक्षिण अफ्रीका में जनमत संग्रह के बाद रंगभेद की नीति खत्म हुई
17 मार्च, 1992 को दक्षिण अफ्रीका के 33 लाख श्वेत वोटर्स से पूछा गया कि क्या वो रंगभेद नियम को खत्म करना चाहते हैं। 1948 से चले आ रहे इस कानून पर हुए जनमत संग्रह में 28 लाख से ज्यादा श्वेत लोगों ने वोट किया। 68.73 फीसदी लोगों ने इसके पक्ष में वोट किया। इसके साथ ही नेल्सन मंडेला के 27 साल तक जेल में रहने की तपस्या सफल हुई। इस जनमत संग्रह कराने वाले दक्षिण अफ्रीका के तत्कालीन राष्ट्रपति एफडब्ल्यू डी क्लार्क को नोबेल शांति पुरस्कार भी मिला।

जनमत संग्रह कराने वाले दक्षिण अफ्रीका के तत्कालीन राष्ट्रपति एफडब्ल्यू डी क्लार्क को नोबेल शांति पुरस्कार मिला था।

जनमत संग्रह कराने वाले दक्षिण अफ्रीका के तत्कालीन राष्ट्रपति एफडब्ल्यू डी क्लार्क को नोबेल शांति पुरस्कार मिला था।

देश-दुनिया में 17 मार्च की अन्य महत्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार हैं-

2011 : संयुक्त राष्ट्र महासंघ की सुरक्षा परिषद ने लीबिया के ऊपर नो फ्लाय जोन बनाने को मंजूरी दी। इसी को आधार बनाकर पश्चिमी देशों ने लीबिया की कर्नल मुअम्मर गद्दाफी सरकार को गिरा दिया।

1996: लाहौर में हुए क्रिकेट विश्वकप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर श्रीलंका विश्व चैंपियन बना। 107 रन की नाबाद पारी खेलने वाले अरविंद डिसिल्वा मैन ऑफ द मैच बने।

1990: बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल का जन्म हुआ। २०१२ के लंदन ओलिंपिक में साइना ने वुमन सिंगल्स बैडमिंटन में कांस्य पदक जीता था। बैडमिंटन में ओलिंपिक पदक जीतने वाली साइना भारत की पहली खिलाड़ी बनी थीं।

1987: सुनील गावस्कर ने करियर का आखिरी टेस्ट मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला। 13 से 17 अगस्त तक बेंगलुरु में हुए इस मैच में गावस्कर मैन ऑफ द मैच रहे। हालांकि, भारत ये मैच 16 रन से हार गया था।

1978: लेबनान पर इजराइली हमलों के बाद हजारों फिलिस्तीनियों को घर छोड़कर भागना पड़ा।

1969: गोल्डा मेयर इजराइल की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनीं। मेयर इजराइल की चौथी राष्ट्रपति थीं।

1957: फिलीपींस के राष्ट्रपति रेमॉन मैग्सेसे का विमान हादसे में निधन हुआ।

1845: ब्रिटेन में रबर बैंड को पेटेंट किया गया। ब्रिटेन के आविष्कारक स्टीफन पैरी को ये पेटेंट मिला था।

1861: दस साल से ज्यादा समय तक चले आंदोलन के बाद इटली का एकीकरण हुआ।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *