उदयपुर की घटना: प्यार में धाेखा मिला ताे युवती ने इंजीनियर पर कराया एसिड अटैक, नजदीकियां बढ़ाकर बाॅस के साथ रची साजिश


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उदयपुर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

आरोपी नाइजा समेत पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया।

प्यार में धोखा खाने वाली इंजीनियर युवती ने सबक सिखाने के लिए सहकर्मी इंजीनियर युवक पर एसिड अटैक करवा दिया। हिरण मगरी पुलिस ने युवती सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। थानाधिकारी रामसुमेर ने बताया कि मामले में राजसमंद के खमनाेर हाल नीमच खेड़ा में दुर्गा कॉॅलोनी निवासी विक्रम सिंह पुत्र मोती सिंह राठौड़, उसके भाई रोशन सिंह और नाइजा नाम की युवती को गिरफ्तार किया है। घायल परिवादी सेक्टर-3 निवासी अभिषेक सिंह ने रिपाेर्ट दर्ज कराई थी, जाे रोशन और नाइजा के साथ डबोक स्थित उदयपुर सीमेंट फैक्ट्री में काम करता है। प्रेम और धाेखे की कहानी वहीं से शुरू हुई थी।

23 मई को थी अभिषेक की शादी, मारना नहीं सिर्फ सबक सिखाने का प्लान था

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि 23 मई को अभिषेक की शादी थी। अभिषेक से संपर्क टूटने के बाद नाइजा और रोशन करीब आ गए। नाइजा के कहने पर रोशन ने अभिषेक को सबक सिखाने की साजिश रची। नाइजा ने अपने किसी और मित्र से रोशन को काम करवाने के लिए 40 हजार रुपए भी दिए।

रोशन ने वारदात के लिए अपने ही भाई विक्रम से संपर्क किया। उसने विक्रम से झूठ बोला कि फैक्ट्री में काेई धमका रहा है, उसे सबक सिखाना है। रोशन अपनी ही फैक्ट्री से एसिड लेकर आया और विक्रम को दिया। रोशन ने विक्रम से कहा था कि पीठ पर ही डालना, सिर्फ सबक सिखाना है, न कि मारना। फिर घटना के दिन विक्रम और रोशन नीमच खेड़ा अपने घर से साथ में निकले। विक्रम को सेवाश्रम उतारा और विक्रम ने वारदात को अंजाम दिया।

सीसीटीवी फुटेज से सामने आया सच

कार्रवाई में मुख्य भूमिका कांस्टेबल रामजीलाल और साइबर सेल के कांस्टेबल लोकेश रायकवाल की रही। इन्होंने सीसीटीवी फुटेज देखे तो सेवाश्रम पुलिस के नीचे विक्रम दिखाई दिया। पहचान कर उसे थाने लाए। इधर पूछताछ के लिए रोशन और नाइजा पहले से बैठे थे। विक्रम ने कहा कि रोशन को परेशान कर रहा था इसलिए अभिषेक काे सबक सिखाया। इधर, रोशन से सख्ती से पूछताछ की तो उसने पूरी कहानी उगल दी।

बॉस खुद हॉस्पिटल ले गया

उदयपुर सीमेंट फैक्ट्री में इंजीनियर अभिषेक ने 7 मई को हिरण मगरी थाने में रिपोर्ट दी। बताया कि सेवाश्रम से रोज बस से फैक्ट्री जाता हूं, लेकिन लाॅकडाउन के कारण दोस्त रोशन की कार में जाने लगा। 7 मई की रात 9.30 बजे फैक्ट्री के लिए घर से निकला। रोशन वहीं से उसे पिक करता था। सेवाश्रम पुलिया के पास काेई युवक उसकी पीठ पर ज्वलनशील पदार्थ फेंककर भाग गया। घर लाैटा ताे रोशन का फोन आया। घटना बताने पर वही एमबी हॉस्पिटल ले गया। फिर रिपोर्ट दर्ज कराई। अभिषेक ने किसी से रंजिश और युवक को पहचानने से इनकार किया था।

परिवार वालों के सामने पहचानने से इंकार करने से नाराज थी युवती

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी रोशन 2013, अभिषेक 2016 और नाइजा 2018 से काम कर रहे हैं। नाइजा निंबाहेड़ा स्थित जेके सीमेंट से उदयपुर सीमेंट फैक्ट्री आई थी। रोशन दोनों का बाॅस है। अभिषेक से नजदीकियां बढ़ी ताे नाइजा शादी का दबाव बनाने लगी। वह उसके घर पहुंच गई। अभिषेक ने परिवार के सामने नाइजा को पहचानने से इनकार कर दिया। तभी रोशन पहुंचा और नाइजा को समझाकर घर ले गया। तब से नाइजा रंजिश पाले हुए थी। कुछ दिन बाद नाइजा और रोशन की करीबियां बढ़ी ताे अभिषेक को सबक सिखाने की साजिश रची।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *