उम्मीद: पैसेंजर और मेमू लोकल शुरू करने रेलवे ने लिखा पत्र, सहमति मिली तो चलेंगी ट्रेनें


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायगढ़10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बिलासपर से रायगढ़, कोरबा के बीच पैसेंजर, मेमू लोकल ट्रेनों को लेकर तैयारी तेज हो गई है । जोन के प्रस्ताव पर रेलवे बोर्ड ने मंजूरी दे दी है, लेकिन बोर्ड ने राज्य सरकार की सहमति के बाद ट्रेनों के परिचालन की शर्त रखी है। इसलिए अब इस संबंध में एसईसीआर जोन से राज्य सरकार को पत्र लिखा है। कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण रेलवे ने 22 मार्च से रूट की सभी ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया था। जुलाई से कोविड-19 की एडवायजरी का पालन करते हुए कुछेक लंबी दूरी की ट्रेनों को स्पेशल बनाकर शुरू की है। अब तक रूट पर लंबी दूरी की 50 फीसदी ट्रेनें शुरू हो चुकी है। इनमें स्लीपर के साथ जनरल कोच के लिए भी यात्रियों को आरक्षित टिकटों पर यात्रा करना पड़ रहा है। इन ट्रेनों का ठहराव सिर्फ बड़े स्टेशनों पर है, इसलिए छोटे स्टेशनों के लिए रूट के यात्रियों के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है। ऐसे में जांजगीर, चांपा, रायगढ़, कोरबा के यात्रियों द्वारा पैसेंजर और मेमू लोकल शुरू करने की मांग की जा रही है। इस पर रेलवे ने बोर्ड को जोन की 10 पैसेंजर व मेमू लोकल ट्रेनों का प्रस्ताव भेजा था। जिस पर बोर्ड ने राज्य सरकार की सहमति के बाद शुरू करने की शर्त पर सहमति दी है।

पहले इस रूट से गुजरती थी यह लोक ट्रेनें
झारसुगुड़ा-गोंदिया-झारसुगुड़ा पैसेजर, रायगढ़-बिलासपुर-रायगढ़ मेमू लोकल, टाटा-इतवारी-टाटा, कोरबा बिलासपुर मेमू लोकल, गेवरारोड-रायपुर-गेवरारोड पैसेजर, इसके अलावा कोरबा से छूटने वाली त्रिवेंद्रम और शिवनाथ एक्सप्रेस भी बिलासपुर तक पैसेंजर बनकर चलती थी, लेकिन वर्तमान में रूट के यात्रियों के पास कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *