एंटीलिया केस मनसुख हिरेन मौत मामला: डमी बॉडी के साथ ATS ने घटनास्थल पर सीन रीक्रिएट किया; NIA की टीम भी मनसुख के घर पहुंची, पत्नी विमला से की पूछताछ


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मनसुख की पत्नी ने पुलिस को दी गई शिकायत में लिखा है, “पूरी परिस्थिति को देखते हुए मुझे शक है कि मेरे पति का खून सचिन वझे ने किया है।” 

महाराष्ट्र के मनसुख हिरेन की मौत मामले की जांच कर रही ATS गुरुवार की रात ठाणे की खाड़ी पहुंची। इस दौरान ATS की टीम अपने साथ एक डमी बॉडी लेकर आई थी। टीम ने घटना का सीन रीक्रिएट किया। टीम को आशंका है कि मनसुख की कहीं और हत्या कर शव को लाकर यहां फेंका गया है। सीन रीक्रिएट के दौरान खाड़ी में लो टाइड थी। सीन रीक्रिएशन के बाद ATS की टीम ने मौसम विशेषज्ञों और स्थानीय मछुआरों से भी मुलाकात की। इसके बाद टीम ने कुछ मछुआरों के बयान भी दर्ज किए हैं। हालांकि इस कार्रवाई को लेकर किसी तरह की जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है।

NIA की टीम ने हिरेन के परिजनों से की मुलाकात
उधर, गुरुवार को NIA की एक टीम चार वाहनों में सवार होकर ठाणे पहुंची। फिर टीम ने हिरण के घर जाकर टीम ने परिजनों से तीन घंटे बातचीत की। पूछताछ के समय हिरण की पत्नी विमला, दो बेटे तथा परिवार के ही अन्य सदस्य भी उपस्थित थे। बताया जा रहा है कि हिरण परिवार से स्कॉर्पियो कार तथा उसके गायब होने के संबंध में पूछताछ की गई है।

सूत्रों के मुताबिक, टीम ने अपनी पूछताछ में स्कॉर्पियो कार को ही केंद्र में रखा। कार के संदर्भ में अधिक से अधिक जानकारी लेने की कोशिश टीम ने की। साथ ही इस बारे में जानकारी ली कि उक्त स्कॉर्पियो कार किस तरह उसके पास आई थी। उक्त घटना के पहले कार का उपयोग कौन कर रहा था। कार मालिक के साथ हिरण का कैसा संबंध था।

क्या है पूरा मामला?
25 फरवरी को दक्षिण मुंबई के पैडर रोड स्थित एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से भरी एक स्कॉर्पियो गाड़ी खड़ी मिली थी। 24 फरवरी की मध्य रात 1 बजे यह गाड़ी एंटीलिया के बाहर खड़ी की गई थी। दूसरे दिन गुरुवार को इस पर पुलिस की नजरें गईं और कार से 20 जिलेटिन की रॉड बरामद की गई थीं। 5 मार्च को इस स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन का शव बरामद हुआ था। कुछ दिन पहले ही मनसुख ने इस गाड़ी के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

मनसुख की मौत के मामले में महाराष्ट्र ATS ने हत्या का केस दर्ज किया है। मनसुख हिरेन की मौत के बाद उनकी पत्नी और विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (CIU) में कार्यरत और असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वझे पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। विमला हिरेन के हवाले से फडणवीस ने विधानसभा की कार्यवाही के दौरान कहा था कि सचिन वझे ने ही मनसुख की हत्या की है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने जानकारी दी कि वझे को उनके पद से हटा दिया गया है। वझे उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर से बरामद हुई विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो गाड़ी मामले की जांच से भी जुड़े थे।

क्या है मनसुख हिरेन की पत्नी का आरोप
मनसुख हिरेन की पत्नी विमला हिरेन ने सचिन वझे पर आरोप लगाते हुए कंप्लेंट दर्ज करवाई है। अपनी कंप्लेंट में विमला ने कहा, “26 फरवरी 2021 को मेरे पति पूछताछ के लिए सचिन वझे के साथ क्राइम ब्रांच गए। इसके बाद 10.30 बजे आए। उन्होंने मुझे बताया कि वे दिन भर सचिन वझे के साथ थे। 27 फरवरी की सुबह मेरे पति एक बार फिर क्राइम ब्रांच के ऑफिस गए और रात 10.30 बजे वापस आए। इसके बाद 28 फरवरी को फिर एक बार वे सचिन वझे के साथ गए और अपना स्टेटमेंट लिखवाया। घर आकर उन्होंने स्टेटमेंट की कॉपी रखी, उसमें सचिन वझे का हस्ताक्षर भी है यानी किसी और ने उनसे पूछताछ नहीं की। तीनों दिन सचिन वझे ही उनके साथ थे।“

हिरेन की पत्नी ने आगे लिखा कि 2 मार्च को घर आने के बाद उनके पति सचिन वझे के साथ ही ठाणे के घर से मुंबई गए थे और उनके कहने पर ही वकील गिरी के माध्यम से उन्होंने पुलिस और मीडिया द्वारा बार-बार पूछताछ किए जाने से परेशान होने की शिकायत की थी। इसके बाद पत्नी ने शिकायत में लिखा है, “पूरी परिस्थिति को देखते हुए मुझे शक है कि मेरे पति का खून सचिन वझे ने किया है।”

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *