एंटीलिया केस: महाराष्ट्र के गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग तेज; अजित पवार और जयंत पाटिल को NCP चीफ ने दिल्ली बुलाया


  • Hindi News
  • National
  • Sachin Waze Latest News And Updates | Uddhav Thackeray: Parambir Singh Writes To Maharashtra CM | Maharashtra HM Anil Deshmukh, NCP Sharad Pawar Calls Ajit Pawar To Delhi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्‌ठी के बाद विवादों में घिरे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के आवास के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के गंभीर आरोपों के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग तेज हो गई है। भाजपा ने मुंबई, नागपुर समेत कई जगहों पर देशमुख के खिलाफ प्रदर्शन किया। भाजपा ने कहा कि गृह मंत्री को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।

इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखी गई परमबीर की चिट्ठी के बाद राज्य में सियासी भूचाल आ गया है। मामले में NCP प्रमुख शरद चीफ सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने पार्टी के दो बड़े नेताओं को दिल्ली तलब किया है। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री अजित पवार और पार्टी के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल शामिल होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, NCP नेताओं के बीच अनिल देशमुख पर लगे आरोपों को लेकर चर्चा की जाएगी। देशमुख का नाम आने के बाद राज्य की उद्धव सरकार दबाव में आ गई है। विपक्ष के अलावा उनकी सरकार में साथी कांग्रेस ने भी मामले की जांच कराने और उनके इस्तीफे की मांग की है।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का बड़ा आरोप- महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वझे से हर महीने 100 करोड़ रु. मांगे थे

मेरी ही आईडी से चिट्‌ठी भेजी गई : परमबीर
परमबीर ने कहा कि चिट्‌ठी पूरी तरह सही है। उसे मेरी ही आईडी से भेजा गया है। शनिवार को यह बात सामने आई थी कि जो चिट्ठी भेजी गई है उस पर परमवीर के साइन नहीं हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से भी चिट्ठी की सत्यता पर संदेह जताया गया था।

अपडेट्स

  • मनसुख हिरेन हत्याकांड मामलें में महाराष्ट्र ATS ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है।
  • राज्य के मंत्री जयंत पाटिल ने अनिल देशमुख को हटाए जाने की बात का खंडन किया।

वझे को देशमुख के संरक्षण का आरोप लगाया था
परमबीर ने चिट्‌ठी में कहा था कि सचिन वझे को गृहमंत्री का संरक्षण था और उन्होंने वझे से हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने को कहा था। इन सब शिकायतों को लेकर परमबीर ने उद्धव को एक चिट्ठी भी लिखी थी। उन्होंने यह भी कहा कि अपने गलत कामों को छुपाने के लिए मुझे बलि का बकरा बनाया गया।

गृह मंत्री ने आरोप खारिज किए
गृह मंत्री देशमुख ने सभी आरोपों से इनकार करते हुए कहा था कि परमबीर खुद को बचाने के लिए उन पर आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने परमबीर के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने की बात भी कही थी।

अब NIA कर रही दोनों मामलों की जांच
एंटीलिया केस में मुंबई पुलिस के साथ-साथ राज्य सरकार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। पहले एंटीलिया केस की जांच मुंबई पुलिस से लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को सौंपी गई। इसके बाद NIA ने मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वझे को गिरफ्तार किया। इसके बाद मामले में मनसुख हिरेन की मौत के मामले की जांच भी NIA को सौंप दी गई।

इससे पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को पुलिस कमिश्नर के पद से हटा दिया गया था। उनका तबादला होमगार्ड विभाग में कर दिया गया। अब परमबीर ने उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर महाराष्ट्र सरकार में गृहमंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाए हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *