कर्नाटक में भी CM बदलने की मांग: भाजपा विधायक बोले- येदियुरप्पा के साथ अगला चुनाव नहीं जीत सकते; पार्टी को बचाने के लिए नया मुख्यमंत्री चुनना होगा


  • Hindi News
  • National
  • Demand Of New Chief Minister Raised In Karnataka BJP MLA Basangouda Yatnal Slams BS Yediyurappa

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेंगलुरु3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भाजपा विधायक बसनगौड़ा पाटिल यतनाल पहले भी CM येदियुरप्पा पर पार्टी के ईमानदार और वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करने के आरोप लगाते रहे हैं।

उत्तराखंड में भाजपा विधायकों की नाराजगी की वजह से मुख्यमंत्री बदलने के 10 दिन बाद अब कर्नाटक में भी ऐसी मांग उठने लगी है। कर्नाटक में भाजपा विधायक बसनगौड़ा पाटिल यतनाल ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री बदलना चाहिए। अगले चुनाव में भाजपा येदियुरप्पा के साथ मैदान में नहीं उतर सकती। अगर राज्य में भाजपा को जीवित रखना है, तो पार्टी को नया मुख्यमंत्री चुनना ही होगा।

कैबिनेट विस्तार के समय भी हुआ था विरोध
जनवरी में येदियुरप्पा सरकार में सात नए मंत्रियों को शामिल किया गया था। तब भी विजयपुरा सिटी से भाजपा विधायक यतनाल ने येदियुरप्पा पर पार्टी के ईमानदार और वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि जो लोग मुख्यमंत्री को ब्लैकमेल कर रहे हैं, उन्हें ही मंत्री बनाया जा रहा है।

वहीं, होन्नाली से विधायक और मुख्यमंत्री के पॉलिटिकल सेक्रेटरी एमपी रेणुकाचार्य ने भी येदियुरप्पा से नाखुशी जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि सरकार और कैबिनेट सिर्फ बेंगलुरु और बेलगाम तक ही सिमट कर रह गई है। मैं खुश नहीं हूं, लेकिन किससे इस बारे में बात करूं?

कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए MLC भी खुश नहीं
कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए MLC एएच विश्वनाथ ने येदियुरप्पा पर वादे नहीं निभाने का आरोप लगाया था। उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा था कि आखिर क्यों एक्साइज मिनिस्टर एच नागेश को छोड़ दिया गया और आरअसार नगर विधायक मुनिरत्ना को कैबिनेट में शामिल नहीं किया गया।

उन्होंने कहा था कि जिनके बलिदानों की वजह से आप मुख्यमंत्री बने, उन्हें दरकिनार कर आप ऐसे लोगों को मंत्री बना रहे हैं, जिन पर धोखाधड़ी का केस चल रहा है। उन्होंने पूछा कि क्या आप ऐसे लोगों को सिर्फ इसलिए मंत्री बना रहे हैं, क्योंकि वे आपको ब्लैकमेल कर रहे हैं।

कांग्रेस-JDS की सरकार गिरने के बाद CM बने थे येदियुरप्पा
येदियुरप्पा ने 26 जुलाई 2019 को चौथी बार CM पद की शपथ ली थी। कांग्रेस के समर्थन वाली JDS सरकार गिरने के बाद उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। इससे पहले कांग्रेस ने 76 विधायक होने के बावजूद 37 सीटों वाली पार्टी JDS के एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनवाया था।

बाद में दोनों पार्टियों के कई विधायक टूटकर भाजपा में आ गए थे। विधानसभा स्पीकर ने उन्हें अयोग्य करार दे दिया था। बाद में हुए उपचुनाव में 11 बागी विधायकों ने जीत हासिल की थी। इनमें से 10 मंत्री बने थे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *