कैद में PNB घोटाले का आरोपी: डोमिनिका की जेल में बंद भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी की पहली तस्वीर सामने आई; आंख लाल और हाथ पर चोट के निशान


  • Hindi News
  • National
  • Photos Of Fugitive Diamond Merchant Mehul Choksi Imprisoned In Dominica’s Prison Surfaced; Red Eyes And Bruises On Hand

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोसियू4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सलाखों में कैद मेहुल चौकसी।

करोड़ों रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले का आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी की डोमिनिका के जेल से पहली तस्वीर सामने आई है। सलाखों के पीछे कैद चौकसी स्काई कलर के टी-शर्ट में दिख रहा है। उसके चेहरे पर डर और भय साफ देखा जा सकता है। सबसे बड़ी बात है कि उसके बाएं आंख में चोट के निशान दिख रहे हैं। उसकी आंख लाल है। साथ ही उसके हाथ में भी चोट के निशान देखे जा सकते हैं।

डोमिनिका की कैबिनेट ने मेहुल चौकसी से जुड़े मसले पर चर्चा की है। इसमें मेहुल के डोमिनिका में मौजूदगी पर भी बात की गई।कैबिनेट ने तय किया है कि चौकसी के बारे में अब डोमिनिका की हाई कोर्ट ही फैसला करेगी, जहां उसके वकील ने राहत के लिए याचिका दायर की है।

नागरिकता केा लेकर डोमनिका सरकार ने एंटीगुआ से मांगी है जानकारी
डोमिनिका की सरकार ने बुधवार को बताया था कि नेशनल सिक्योरिटी मिनिस्ट्री ने एंटीगुआ सरकार से मेहुल चौकसी की नागरिकता और कुछ अन्य तथ्यों को लेकर जानकारी मांगी हैं। चौकसी अवैध तरीके से डोमिनिका में आया था। अभी वह हमारी कस्टडी में है, उससे पूछताछ की जा रही है। सारी जानकारी मिलते ही उसे एंटीगुआ के हवाले कर दिया जाएगा।

इससे पहले एंटीगुआ-बारबुडा के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन ने चौकसी को भारत के हवाले करने को कहा था। हालांकि डोमिनिका ने जांच के बाद ही फैसले की बात कही है।

सलाखों के पीछे से हाथ दिखाता मेहूल चौकसी।

सलाखों के पीछे से हाथ दिखाता मेहूल चौकसी।

चौकसी ने लगाया था अपहरण और मारपीट का आरोप
दो दिन पहले मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डोमेनिका में चौकसी के वकील मार्श वेन ने कहा कि सुबह उन्होंने अपने क्लांइट से पुलिस स्टेशन में मुलाकात की है। वकील के मुताबिक चौकसी ने आरोप लगाया कि उसे डोमिनिका में अपहरण कर लाया गया है। चौकसी ने अपने साथ मारपीट का भी आरोप लगाया है। चौकसी के वकील मामले में राहत के लिए अदालत में अपील दाखिल करने वाले हैं।

क्यूबा भागने की फिराक में था चौकसी
चौकसी मंगलवार, 25 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था। एंटीगुआ मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि 62 साल का चौकसी डोमिनिका से क्यूबा भागने की फिराक में था, उसी दौरान उसे CID ने दबोच लिया। सूत्रों के मुताबिक, वह एंटीगुआ और बारबुडा से बोट के जरिए डोमिनिका पहुंचा था।

​​​​​​​इंटरपोल ने जारी किया था यलो नोटिस
चौकसी कुछ दिन पहले एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था। इसके बाद इंटरपोल ने उसके खिलाफ यलो नोटिस जारी किया था। बाद में इसी नोटिस को एंटीगुआ सरकार ने भी रिटेन किया। इसके बाद उसकी तलाश तेज कर दी गई। डोमिनिका की लोकल मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि चौकसी को मंगलवार रात पकड़ा गया।

हाथ पर चोट के निशान दिखाता मेहुल चौकसी।

हाथ पर चोट के निशान दिखाता मेहुल चौकसी।

2017 में एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ली थी
14,500 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का आरोपी चौकसी जनवरी 2018 में विदेश भाग गया था। बाद में पता चला कि वह 2017 में ही एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ले चुका था। पीएनबी घोटाले की जांच कर रही है केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) जैसी एजेंसिया चौकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी हैं। वह खराब सेहत का हवाला देकर भारत में पेशी पर आने से इनकार कर चुका है। कभी कभी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उसकी पेशी होती है। भारत में उसकी कई संपत्तियां भी जब्त की जा चुकी हैं।

भांजे नीरव को भारत लाने की मिल चुकी है मंजूरी
इस घोटाले का मुख्य आरोपी चौकसी का भांजा नीरव मोदी लंदन की जेल में है। वहां की अदालत और सरकार ने उसके प्रत्यर्पण की मंजूरी भी दे दी है। लेकिन नीरव ने प्रत्यर्पण के फैसले को लंदन के हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में हाईकोर्ट का फैसला आने में 10 से 12 महीने का वक्त लग सकता है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *