कोरोना के साथ ब्लैक फंगस से भी बचना है: 10 राज्यों में 4536 केस, राजस्थान में प्राइवेट अस्पतालों में भी फ्री इलाज होगा


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना के बीच अब ब्लैक फंगस लगातार खतरनाक होता जा रहा है। इस संक्रमण के चलते कुछ मरीजों की आंख तक निकालनी पड़ रही है। ये बीमारी जानलेवा भी साबित हो रही है। राजस्थान सरकार ने स्थिति संभालने के लिए इस बीमारी को मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में शामिल कर लिया है। यानी अब सरकारी ही नहीं बल्कि प्राइवेट अस्पताल में भी मरीज फ्री इलाज करवा सकेंगे।

केंद्र सरकार ने भी गुरुवार को सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर ब्लैक फंगस के लिए अलर्ट किया था। केंद्र ने सभी राज्य सरकारों से कहा है कि ब्लैक फंगस को महामारी एक्ट के तहत नोटेबल डिजीज घोषित किया जाए। यानी राज्यों को ब्लैक फंगस के केस, मौतों, इलाज और दवाओं का हिसाब रखना होगा।

10 राज्यों में ब्लैक फंगस के 4536 केस, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा

1. महाराष्ट्र
राज्य में अब तक ब्लैक फंगस के 1500 केस सामने आ चुके हैं। यह किसी एक राज्य में सबसे बड़ा आंकड़ा है। महाराष्ट्र सरकार ने इस बीमारी के इलाज में काम आने वाले एम्फोटेरिसिन B इंजेक्शन के 2 लाख डोज का ऑर्डर किया है। अब इस ऑर्डर के लिए केंद्र सरकार की मंजूरी का इंतजार है।

2. गुजरात
गुजरात के 4 शहरों में ब्लैक फंगस के 1200 मामले सामने आए हैं। सरकार इसे महामारी घोषित कर चुकी है। अब सरकारी-निजी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज इस बीमारी के बारे में केंद्र की गाइडलाइंस का पालन करेंगे।

3. मध्य प्रदेश
राजधानी भोपाल में बीते 28 दिन में ब्लैक फंगस के 239 मरीज आ चुके हैं। 10 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 174 पेशेंट अस्पतालों में हैं। इनमें 129 की सर्जरी हो चुकी है। सरकार भोपाल में सिर्फ 68 मरीज ही बता रही है। पूरे राज्य में 585 मरीज बताए जा रहे हैं।

4. राजस्थान
राज्य में 400 लोग ब्लैक फंगस का शिकार हुए हैं। जयपुर में 148 लोग इससे संक्रमित हैं। जोधपुर में 100 मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि, सरकार पूरे राज्य में ही 100 केस बता रही है। सरकार इसे महामारी घोषित कर चुकी है। इस संक्रमण को मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में भी शामिल करते हुए सरकारी के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी फ्री इलाज के इंतजाम किए जा रहे हैं।

5. हरियाणा
पूरे प्रदेश में ब्लैक फंगस के 316 मरीज हैं। इस संक्रमण को महामारी घोषित करने वाला हरियाणा पहला राज्य था। राज्य का औषधि विभाग स्टेरॉयड की बिक्री पर भी रोक लगा चुका है। राज्य में ब्लैक फंगस से रिकॉर्ड 8 लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले सिरसा में 5 लोगों ने दम तोड़ दिया।

6. दिल्ली
दिल्ली में ब्लैक फंगस के 300 मरीज सामने आ चुके हैं। इंजेक्शन की कमी के चलते मरीजों के ऑपरेशन करने पड़ रहे हैं। एम्स में एक सप्ताह में 80 मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें से 30 की हालत गंभीर है।

7. छत्तीसगढ़
प्रदेश में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या 100 के करीब पहुंच चुकी है। अस्पतालों में 92 मरीजों का इलाज चल रहा है। सबसे ज्यादा 69 मरीज एम्स में भर्ती हैं। इनमें से 19 का ऑपरेशन हो चुका है।

8. तेलंगाना
तेलंगाना सरकार ने भी ब्लैक फंगस को महामारी एक्ट में नोटिफाई कर दिया है। राज्य में ब्लैक फंगस के 80 मामले सामने आ चुके हैं।

9. उत्तराखंड
एम्स ऋषिकेश में ही अब तक ब्लैक फंगस के 46 मरीज आ चुके हैं। इनमें से 3 की मौत हो गई। एक मरीज ठीक होकर घर चला गया, जबकि 42 का इलाज चल रहा है।

10. तमिलनाडु
राज्य में अब तक सिर्फ 9 केस सामने आए हैं। लेकिन दूसरे राज्यों की स्थिति को देखते हुए इसे महामारी एक्ट में नोटिफाई करने का फैसला लिया गया है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *