गंगा में UP से डंप हो रही लाशें: बक्सर के रानी घाट पर प्रशासन ने लगाया महाजाल, अबतक 10 शव फंसे; डेड बॉडी दफनाई गईं, वीडियोग्राफर भी तैनात


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बक्सर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रानी घाट पर गंगा में लगे इस महाजाल में बीते 24 घंटे में 10 शव फंसे हैं।

बिहार-यूपी की सीमा से लगे बक्सर जिले में मंगलवार को गंगा नदी में 71 लाशें तैरती हुई मिली थीं। शव कहां से आए हैं? इस बात को लेकर बिहार और यूपी सरकार के अफसरों के बीच विवाद शुरू हो गया था।

इस बदनामी के दाग को धोने के लिए बक्सर जिला प्रशासन ने मंगलवार सुबह रानी घाट में महाजाल लगाकर गंगा के दोनों किनारों को जोड़ दिया। इसका नतीजा भी तुरंत देखने को मिला। इस महाजाल में बीते 24 घंटे में 10 शव फंसे हैं।

दरअसल, लाशों के मिलने के बाद बक्सर प्रशासन ने दावा किया था कि ये शव उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद और वाराणसी के घाटों से बहकर यहां पहुंचे हैं। जब इस बात की भनक यूपी के इन सीमावर्ती जिलों के अफसरों को लगी तो उन्होंने इन दावों को सिरे से नकार दिया था।

उत्तर प्रदेश की ओर से शवों के बहकर आने की बात की पुष्टि होते ही बिहार सरकार हरकत में आ गई। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद और DGP संजीव कुमार सिंघल ने भास्कर से बात की। उन्होंने कहा कि बक्सर में घाट किनारे मिले शव उत्तर प्रदेश से बहकर आए हैं। इसकी पुष्टि हो गई है। हमने पड़ोसी राज्य से प्रशासन के विभिन्न स्तरों पर बात कर इसे रोकना सुनिश्चित करने को कहा है।

रानी घाट पर अब वीडियोग्राफर भी तैनात
बक्सर के रानी घाट पर मल्लाह-गोताखोर और प्रखण्ड कर्मियों को तैनात किया गया है। साथ ही एक वीडियोग्राफर भी तैनात किया गया है जो यूपी से आ रहे शवों की वीडियोग्राफी कर रहा है। यह वीडियो प्रशासन के पास सबूत के तौर पर रहेगा। यहां जो भी शव आए, उनकी जांच के लिए सैंपल लेकर उन्हें दफना दिया गया है।

बक्सर प्रशासन ने बलिया में की तहकीकात
बक्सर पुलिस ने सोमवार देर रात यूपी के बलिया में बारा चौकी के पास गंगा नदी की तहकीकात की। पुलिस को वहां बिहारी नाम का मल्लाह मिला, जिसने बताया कि सभी लाशें बारा चौकी के साहब के कहने पर वही गंगा नदी में प्रवाहित कर रहा था।

गंगा नदी उत्तर प्रदेश से बहती हुई बिहार आती है। ऐसे में जितनी भी लाशें हैं, वह चौसा के गंगा घाट पर इकट्ठी हो गई हैं। इधर बक्सर प्रशासन ने चरित्रवन घाट और चौसा श्मशान घाट पर 24 घंटे की शिफ्ट में अधिकारियों की नियुक्ति की। प्रशासन ने गंगा नदी में यूपी-बिहार बॉर्डर पर जाल भी लगा दिया ताकि पता चले कि लाशें कहां से आ रही हैं।

सोमवार को देशभर में वायरल हुई चौसा श्मशान घाट की तस्वीरें
बक्सर के चौसा श्मशान घाट पर गंगा में पड़ी लाशों की तस्वीरें सोमवार को देश भर में वायरल हो गई थीं। हालांकि इसके बाद बक्सर जिला प्रशासन ने रात भर मेहनत की। घाट पर पड़े शवों को जेसीबी की सहायता से जमीन में दफन कर दिया गया। चौसा और आसपास के घाटों से कुल 71 शवों के DNA व कोविड टेस्ट के लिए सैंपल लिए गए। इस मामले में बक्सर और पड़ोसी UP के गाजीपुर जिलों के DM के बीच मेरा-तेरा वाली बयानबाजी भी हुई। दोनों ने अपने-अपने यहां के शव होने से साफ इनकार कर दिया।

(चौसा से सत्यप्रकाश पांडेय का इनपुट)

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *