गौरेला-पेंड्र-मरवाही जिले का स्थापना दिवस: आज से अरपा महोत्सव का आगाज; सांस्कृतिक, साहित्यिक, खेलकूद से सजेंगे दिन-रात


  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Arpa Mahotsav In Gorella Pendra Marwahi District | Two Day Chhattisgarh Government Arpa Mahotsav Will Begin In Gorella Pendra Marwahi District From Today

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गौरेलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के नवनिर्मित गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के स्थापना दिवस पर अरपा महोत्सव का मंगलवार से शुभारंभ हो रहा है।

  • 10 फरवरी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और 9 फरवरी को राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल करेंगे महोत्सव का शुभारंभ
  • जिले की स्थापना के एक वर्ष पूरे होने के अवसर पर होंगे विविध कार्यक्रम, संगोष्ठी, प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले के पहले स्थापना दिवस पर मंगलवार से दो दिवसीय अरपा महोत्सव का आगाज होने जा रहा है। इस दौरान विभिन्न साहित्यिक और खेलकूद से दिन और रात सजेंगे। वहीं शाम गीत-संगीत और लोक नृत्य व लोक गीतों से सराबोर होगी। पहले दिन महोत्सव का शुभारंभ राजस्व और जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल करेंगे। जबकि बुधवार को अंतिम दिन दोपहर 1 बजे से CM भूपेश बघेल महोत्सव में शामिल होंगे।

अरपा महोत्सव में 9 फरवरी को
शासकीय बहुउद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पेंड्रा सभागार में सुबह 11.30 से पंडित माधव राव सप्रे की स्मृति में संगोष्ठी। इसके बाद दोपहर 3 बजे से स्वागत गीत और आरती वंदना, 3.15 बजे से जिम्नास्टिक्स कराटे व एरोबिक्स, 4 बजे प्रभारी मंत्री महोत्सव का शुभारंभ करेंगे। शाम 4.30 बजे से स्थानीय लोक दल का सांस्कृतिक कार्यक्रम, शाम 6:00 बजे से कबड्‌डी का सेमीफाइनल व फाइनल। उसके बाद लोकरंग अर्जुंदा की ओर से प्रदर्शन किया जाएगा।

महोत्सव में अगले दिन 10 फरवरी को
10 फरवरी को सुबह 11 बजे से घनश्याम महानंद ‘लोक झांझर’ का छत्तीसगढ़ी कार्यक्रम, दोपहर 12.30 बजे एन कुमार जादूगर की प्रस्तुति, दोपहर 2 बजे CM बघेल कार्यक्रम का लोकार्पण, करेंगे। दोपहर 2.30 बजे से भिलाई पुलिस बैंड का म्यूजिकल शो, 3.30 बजे गायिका सीमा कौशिक की प्रस्तुति, शाम 6 बजे पद्मश्री अनुज शर्मा और लोक दल की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। इसके अलावा LED स्टेज, स्काई बेलून, फूड जोन, लेजर लाइट शो होगा।

प्रतियोगिताओं से की जा चुकी है महोत्सव की शुरुआत
महोत्सव की शुरुआत मूवी मेकिंग, लोगो मेकिंग, कबड्डी, चित्रकला, दिव्यांग बच्चों के लिए रंगोली चित्रकला सहित विभिन्न प्रतियोगिताओं से की जा चुकी है। इसके साथ ही श्रमदान के माध्यम से दुर्गा सरोवर पेंड्रा, तीपान जल स्रोत पेंड्रा की साफ-सफाई की गई है। पर्यटकों के लिए कैंपिंग, साइट विजिट, बोनफायर व म्यूजिकल इवेंट, केवची से नेचर कैंप, गगनई तक साइकिल रैली,पारंपरिक नृत्य, प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *