छत्तीसगढ़ में छात्र का सेक्सुअल हैरेसमेंट: महिला टीचर करती थी 16 साल के स्टूडेंट का यौन शोषण; छात्र ने जान दी, सुसाइड नोट को 4 दिन बाद डिकोड कर पाई पुलिस


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिलासपुर9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया है। छात्र ने कोड लैंग्वेज में सुसाइड नोट लिखा था। इसे डिकोड करने में पुलिस को वक्त लग गया। इस नोट के आधार पर आरोपी महिला को गिरफ्तारी किया।

  • तोरवा इलाके का मामला, 4 दिन पहले छात्र का शव फंदे से लटका मिला था
  • सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा- जरूरत पड़ती तो टीचर फायदा उठाती और जब चाहे नंबर ब्लॉक कर देती

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में केमेस्ट्री की टीचर अपने ही 16 साल के छात्र का यौन शोषण करती रही। उसे अश्लील चैट भेजती थी और उसके साथ शारीरिक संबंध भी बनाती थी। इस दौरान छात्र उससे एक तरफा प्यार करने लगा, लेकिन जब छात्र को सच्चाई पता चली तो उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मौके से मिले सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा है कि जब जरूरत पड़ती तो टीचर उसका (छात्र का) फायदा उठाती थी। जब चाहे नंबर ब्लॉक कर देती। इस नोट के आधार पर पुलिस ने महिला टीचर को गिरफ्तार कर लिया है। मामला तोरवा थाना इलाके का है।

जानकारी के मुताबिक, सरकंडा इलाके के प्राइवेट स्कूल लोयला में अराधना एक्का केमेस्ट्री की टीचर थीं। सुसाइड करने वाला छात्र भी इसी स्कूल में पढ़ता था। आरोप है कि महिला टीचर ने छात्र को प्यार के जाल में फंसाया और उससे शारीरिक संबंध बनाने लगी। इस बीच टीचर का स्कूल के ही किसी स्टाफ मेंबर से अफेयर शुरू हो गया। इसकी जानकारी छात्र को लगी तो वह परेशान हो गया।

छात्र ने कोड लैंग्वेज में 4 पेज का सुसाइड नोट लिखा था। इसे डिकोड करने में पुलिस को समय लग गया। इसके बाद आरोपी टीचर तक पहुंच सकी।

छात्र ने कोड लैंग्वेज में 4 पेज का सुसाइड नोट लिखा था। इसे डिकोड करने में पुलिस को समय लग गया। इसके बाद आरोपी टीचर तक पहुंच सकी।

छात्र ने सुसाइड का वीडियो बनाया और शेड्यूल करके भेजा
बताया जा रहा है कि छात्र ने कई बार टीचर से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की, लेकिन उसने नंबर ब्लॉक कर दिया। इस बात का जिक्र छात्र ने सुसाइड नोट में भी किया है। इससे परेशान छात्र ने चार दिन पहले फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। उसने नोट लिखने के बाद सुसाइड का वीडियो भी बनाया, जिसे शेड्यूल कर अपने दोस्तों को भेजा। फिलहाल पुलिस ने इस वीडियो को जब्त कर लिया है और इसे सार्वजनिक करने पर रोक लगा दी है।

टीचर के बारे में पता लगाने के लिए मोबाइल और सोशल मीडिया एकाउंट हैक किया
छात्र को टेक्नोलॉजी की अच्छी समझ थी। उसने सुसाइड नोट को कोड भाषा में लिखा था। इसे डिकोड करने में पुलिस को दो दिन से ज्यादा लग गए। टीचर पर नजर रखने के लिए छात्र ने उसके मोबाइल, वॉट्सऐप और सोशल मीडिया एकाउंट हैक कर लिए थे। बताया जा रहा है कि टीचर को कुछ दिन पहले इसका अहसास हुआ तो वह छात्र के घर 18 मार्च को गई थी। टीचर के घर से निकलने के आधे घंटे बाद छात्र ने सुसाइड कर लिया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *