जयपुर में अस्पताल के ICU में रेप: ऑपरेशन के कारण शरीर पर कपड़े नहीं, सिर्फ एक शीट थी; वार्ड बॉय ने 5-7 बार शरीर पर पंच किया, बेहोश होने से विरोध नहीं कर पाई


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Accused Was For 6 Months, Ward Boy In Shell B Hospital, Work Was To Check The Patient, Sitting In A Wrong Position, The Victim Does Job In A Hotel

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अस्पताल में वॉर्ड बॉय खुशीराम ने महिला मरीज के साथ रेप किया।

राजस्थान में जयपुर के शैल्बी अस्पताल में महिला मरीज से ICU में वार्ड बॉय द्वारा रेप मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। जिस आरोपी कर्मचारी ने यह वारदात की, उसकी ड्यूटी उन मरीजों की निगरानी करना था जिन्हें बेहोशी का इंजेक्शन दिया गया। महिला का ऑपरेशन हुआ था, जिससे वह बेहोश थी। ऑपरेशन होने के बाद उसके शरीर पर कपड़े नहीं थे। सिर्फ एक शीट डली थी। यह देखकर आरोपी खुशीराम की नीयत बिगड़ गई।

दरिंदा खुशीराम पिछले 6 महीने से यहां वार्ड बॉय की भूमिका में काम कर रहा था। उसे मरीजों को ऑपरेट करने के बाद चेक करना रहता है कि वे होश में आए हैं या नहीं। इसी दौरान उसने महिला मरीज के साथ यह शर्मनाक घटना की। पीड़िता एक होटल में जॉब करती है।

यहां पढ़िए पूरी खबर…वेंटीलेटर पर थी पीड़िता, मुंह पर ऑक्सीजन मास्क लगा था, हाथ बंधे थे और वार्ड बॉय रातभर करता रहा अश्लीलता

​​​​​​आरोपी को 8 से 9 हजार मिलती है पगार
खुशीराम को हर माह 8 से 9 हजार रुपए पगार मिलती है। बावजूद उसे न अपने परिवार की चिंता थी और न ही किसी अबला की इज्जत की। अस्पताल प्रबंधन के अनुसार, खुशीराम की वार्ड में रात 8 बजे की शिफ्ट में ड्यूटी शुरू होती है। उसका काम वार्ड में मौजूद मरीजों को चेक करना रहता था। यदि मरीज को ऑपरेट किया गया है और एनेस्थेसिया दिया गया है तो उसके बाद वह कितनी देर में होश में आ रहा है या नहीं। इसे चेक करने का जिम्मा खुशीराम का था। इसी ड्यूटी के दौरान खुशीराम रात को ड्यूटी पर आया। तब 2 वार्डों में 6 पेशेंट्स भर्ती थे। इनमें एक वार्ड में महिला वार्डकर्मी की ड्यूटी थी।

जांच के दौरान खुशीराम की नीयत बिगड़ी
प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि जब वह वार्ड में आया। तब मरीज को चेक करने के दौरान पीड़िता को भी चेक किया। चूंकि वह ऑपरेशन थियेटर से लाई गई थी, इसलिए उसे एक चादर ओढ़ाई हुई थी। तब जांच के दौरान खुशीराम की नीयत बिगड़ गई। पुलिस पूछताछ में खुशीराम ने बताया कि उसने करीब 6 से 7 बार महिला को अलग-अलग जगह पंच किया।

हल्की बेहोशी में होने से महिला की आंखें बंद थी
हल्की बेहोशी में होने से महिला की आंखें बंद थी, लेकिन उसे वार्ड बॉय की हरकत महसूस हो रही थी। वार्ड बॉय उनके साथ गलत हरकत कर रहा है, लेकिन वह उस पर रिएक्ट करने की स्थिति लायक होश में नहीं आई थी। चुपचाप सहना उसकी मजबूरी बनी हुई थी। अंतत: इस हरकत के बाद उसने सुबह पति को आपबीती बताई थी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *