जालसाजी: खुद को ट्रैफिक मुलाजिम बताकर अंबाला से चालान भुगतने आए दो लोगों से रुपये 5000 ठगे, आरटीए ने जारी की ठग की फोटो ,कहा- लोग सतर्क रहें


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ठगी का शिकार हुए युवक।

  • ठग के अचानक गायब होने पर लोगों ने हंगामा किया, स्टाफ ने शिकायत मिलते ही तत्काल पुलिस से शिकायत की

आरटीए कार्यालय में एक जालसाज खुद को ट्रैफिक पुलिस मुलाजिम बताक वाहनों के चालान की पेनल्टी भुगतने आए लोगों को ठग रहा है। सोमवार को अंबाला से कार चालान की पेनल्टी भरने आए दो लोगों से 5000 लेकर यह जालसाज फरार हो गया। इस दौरान दोनों ने उसका पीछा किया, पर अचानक ही डीसी कांप्लेक्स में वो गायब हो गया। इसकी शिकायत पीड़ितों ने आरटीए कार्यालय में की तो वहां से मुलाजिमों ने एक फोटो दिखाते हुए कहा यही तो नहीं है। इस पर ठगी का शिकार हुए लोगों ने कहा हां-हां यही है। इस पर मुलाजिमों के द्वारा पुलिस को सूचना दी गई। मगर पुलिस भी उसे नहीं पकड़ सकी।

पहले भी कई बार लोगों को ठग चुका, ज्यादातर बाहरी लोगों को करता है टारगेट- तरुण का कहना है कि कुछ दिन पहले वह अपनी कार से जालंधर आए थे, जहां दस्तावेज पूरे न होने के चलते उनकी कार का चालान हो गया था। उनके साथ आने वाले हरदीप सिंह ने बताया कि नंबर प्लेट टूटी होने से उनकी वैन का चालान हुआ था। सोमवार को दोनों आरटीए चालान जमा करने के लिए आए। इन दोनों को नीचे ही जालसाज

मिल गया और वाहनों के दस्तावेज तुरंत दिलाने को लेकर इनको फर्स्ट फ्लोर पर ले गया। करीब 10 मिनट बाद जालसाज ने बताया कि 5000 रुपए लगेंगे, नहीं तो आपकी वाहनों में कई कमियां है, वाहन जब्त हो जाएंगे। इस पर दोनों ने उसे 5 हजार रुपए दे दिए। इस दौरान जालसाज आरटीए कार्यालय के बैक साइड जाने जाने लगा तो दोनों इसके पीछे गए, फिर अचानक वह कांप्लेक्स में गायब हो गया।

आरटीए कार्यालय में पेनल्टी जमा करने वाले लोगों के साथ हुई ठगी का यह पहला मामला नहीं है। इसके पहले नवंबर के महीने में भी दो लोगों के साथ जालसाज ठगी कर चुका है। कार्यालय के मुलाजिमों का कहना है कि जो लोग बाहर उन्हें ही जालसाज ठगता है। सेक्रेटरी, आरटीए बरजिंदर सिंह का कहना है कि शिकायत मिली है, पुलिस को भी कंप्लेंट कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *