ज्ञापन: न सड़क रोकेंगे और न ही आत्महत्या करेंगे, पानी नहीं मिलेगा तब तक आन्दोलन करेंगे : पंडित रामकिशन


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भरतपुर19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • किसान संघर्ष समिति ने कैनाल प्रोजेक्ट को लेकर पीएम के नाम एसडीएम को दिया ज्ञापन

न सड़क रोकेगे, न रेल रोकेंगे और ना ही आत्महत्या करेगे, जब तक पानी नही मिलेगा तब तक आन्दोलन करेगे। यह विचार किसान संघर्ष समिति के तत्वावधान में कृषि उपज मंडी में ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट को लेकर आयोजित हुई किसान सभा में पूर्व सांसद एवं वयोवृद्ध किसान नेता पंडित रामकिशन ने मुख्य वक्ता के रूप में भाग लेते हुये उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुये कहे। किसान सभा की अध्यक्षता मंड़ी आड़तिया संघ अध्यक्ष भूरा सिंह चौधरी ने की। किसान सभा में पूर्व सांसद पंडित रामकिशन ने कहा कि जो आन्दोलन उठाया है।

जब तक वह सफल नहीं हो जाता है तब तक उनके प्रयास जारी रहेगे। एमएलए एमपी अगर कोशिश करते तो यह कैनाल की योजना अब तक अमल में आ गई होती। यह इलाका काफी पिछड़ा हुआ है। जिनको चुनते है वो काम नहीं करते है।

जो काम करने लायक आदमी हो उनको चुनना चाहिये। किसानों से आग्रह किया कि गांवों में पानी नही तो वोट नही जैसे स्लोगन दीवारों पर लिखा जाए, ताकि एमएलए, एमपी जनप्रतिनिधि आये तो उनको भी पता चले। हम जाति धर्म की लडाई नही लड़ रहे है।

हम तो पशु पक्षी व इंसानों के लिये पानी की लडाई लड रहे है। वही केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुये कहा कि चुनाव प्रचार में आये अमित शाह व प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने भरतपुर में चुनाव के दौरान इस प्रोजेक्ट का समर्थन किया था तो फिर यह प्रोजेक्ट अमल में क्यों नही किया गया। सभा स्थल कार्यवाहक उपखंड अधिकारी मुनी देव यादव व विकास अधिकारी सुरेश बागौरिया पहुंचे।

जहां किसान संघर्ष समिति के सदस्यों ने संयोजक इन्दलसिंह जाट के नेतृत्व एवं पूर्व सांसद पंडित रामकिशन के सानिध्य में ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट को स्वीकृत करने के नाम प्रधानमंत्री के नाम, फ्रूड प्रोसेसिंग सेन्टर कार्य को पूरा करने के नाम मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन एसडीएम को ज्ञापन सौपा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *