टाइगर स्टेट में 21 घंटे में 2 बाघों का शिकार!: MP के पेंच नेशनल पार्क में शिकारी एक बाघ के चारों पंजे काट ले गए, खाल भी उतारी; दूसरे के अंग नहीं ले जा पाए


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Tigers Dead Body Found Found In Madhya Pradesh Pench National Reserve Park

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिवनी/छिंदवाड़ाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

देश में टाइगर स्टेट का तमगा हासिल करने वाले मध्य प्रदेश के पेंच नेशनल पार्क में 21 घंटे के भीतर 2 बाघों के शिकार का मामला सामने आया है। शिकारियों ने एक बाघ के चारों पंजे काट लिए और उसकी खाल भी उतार ले गए। हालांकि दूसरे बाघ की मौत का कारण स्पष्ट नहीं है, लेकिन इसे भी शिकार से ही जोड़कर देखा जा रहा है। शिकारी दूसरे बाघ के अंग नहीं ले जा सके।

महाराष्ट्र के गांव के पास मिले बाघ के सारे अंग गायब थे जिस बाघ के अंग गायब हैं, उसका शव मंगलवार दोपहर 2 बजे पार्क की नागलवाड़ी रेंज में महाराष्ट्र के सराड़ा गांव के पास एक छोटे से नाले में मिला था। यह शव पूरी तरह क्षत-विक्षत था। उसके चारों पंजे कटे हुए थे और खाल गायब थी। वन्य प्राणी चिकित्सकों का कहना है कि बाघ के शव को देखकर लगता है कि उसकी मौत 7 से 8 दिन पहले हुई होगी। बाघ की मौत किन परिस्थितियों में हुई, इसका खुलासा विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही होगा।

स्निफर डॉग भी कोई सुराग नहीं खोज सके
पार्क के डायरेक्टर विक्रम सिंह परिहार ने बताया कि पहला शव सोमवार शाम 5 बजे सिवनी के कोकीवाड़ा में मिला था। इसके बाद मंगलवार दोपहर 2 बजे गांव सराड़ा के पास नाले में दूसरे बाघ का शव क्षतिग्रस्त हालत में मिला। दोनों ही स्पॉट को चारों तरफ से सुरक्षा घेरा डालकर सील कर दिया गया है। बुधवार सुबह घटनास्थल के एक किलोमीटर तक स्निफर डॉग की मदद से तलाशी ली गई, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। कोकीवाड़ा में मिले बाघ के शव का पोस्टमाॅर्टम वन्य प्राणी चिकित्सक अखिलेश मिश्रा ने किया। शव के सभी अंग टीम को सुरक्षित मिले हैं।

पेंच में पिछले 3 महीने में 4 बाघों की मौत हुई
पेंच में मारे गए दोनों बाघों के शव गश्ती दल को मिले थे। ये शव पार्क के अंदर अलग-अलग जगह से मिले थे। पिछले 3 महीने के अंदर यहां 4 बाघों की मौत हो चुकी है। वहीं, पिछली बार मृत मिले बाघों की विसरा रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है, इससे पता नहीं चल सका है कि उनकी मौत कैसे हुई। अब 2 और बाघों की मौत से पार्क मैनेजमेंट की मुश्किल बढ़ गई है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *