डोनेशन में बीजेपी लगातार 7वें साल अव्वल: 2019-20 में बीजेपी को 750 करोड़ रुपए की रकम मिली, कांग्रेस से 5 गुना ज्यादा


  • Hindi News
  • National
  • BJP Congress Corporate Individual Donations Details Latest Update | Corporate Funding Congress

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राजनीतिक दलों को कॉरपोरेट और इंडिविजुअल से डोनेशन मिलने के मामले में बीजेपी लगातार 7वें साल टॉप पर रही है। 2019-20 में बीजेपी को डोनेशन से 750 करोड़ रुपए मिले थे। यह रकम कांग्रेस को मिली डोनेशन (139 करोड़ रुपए) के मुकाबले 5 गुना ज्यादा है। तीसरे नंबर पर शरद पवार की NCP है जिसे 59 करोड़ रुपए मिले।

इस दौरान CPM को डोनेशन से 19.6 करोड़ जबकि ममता बनर्जी की तृणमूल को 8 करोड़ मिले थे। वहीं CPI को 1.9 करोड़ का चंदा मिला था। अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस ने यह रिपोर्ट दी है।

भाजपा के प्रमुख डोनर में बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर की ज्यूपिटर कैपिटल, ITC ग्रुप, मैक्रोटेक डेवलपर्स (लोढ़ा डेवलपर्स), बीजी शिर्के कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी, द प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट और जनकल्याण इलेक्टोरल ट्रस्ट प्रमुख रहे हैं।

बीजेपी के प्रमुख डोनर

नाम डोनेशन
प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट 217.75 करोड़
जनकल्याण इलेक्टोरल ट्रस्ट 45.95 करोड़
ITC 76 करोड़
बीजी शिर्के कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी 35 करोड़
लोढ़ा डेवलपर्स 21 करोड़
ज्यूपिटर कैपिटल 15 करोड़

इलेक्टोरल ट्रस्ट एक ऐसी कंपनी होती है जिसे राजनीतिक दलों में बांटने के लिए कॉरपोरेट हाउसेज से फंड मिलता है। इसके जरिए राजनीतिक दलों को डोनेशन देने वाले कॉरपोरेट अपनी पहचान बताए बिना रकम दे सकते हैं। प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट में भारती एंटरप्राइजेज, GMR एयरपोर्ट डेवलपर्स और DLF प्रमुख रूप से डोनेशन देते हैं। जनकल्याण इलेक्टोरल ट्रस्ट के पास JSW ग्रुप की कंपनियों से पैसा आता है।

बीजेपी को अक्टूबर 2019 में गुलमर्ग रिएलटर्स से भी 20 करोड़ रुपए की फंडिंग मिली थी। गुलमर्ग सुधाकर शेट्टी बिल्डर की कंपनी है। जनवरी 2020 में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शेट्टी के घर पर छापा भी मारा था।

शैक्षणिक संस्थानों में मेवाड़ यूनिवर्सिटी ने सबसे ज्यादा 2 करोड़ दिए
बीजेपी को डोनेशन देने वालों में 14 शैक्षणिक संस्थान भी शामिल हैं। इनमें मेवाड़ यूनिवर्सिटी ने सबसे ज्यादा 2 करोड़ रुपए दिए थे। वहीं एलन करियर कोटा ने 25 लाख और कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग से 10 लाख की रकम दी थी। इसी तरह जीडी गोयनका इंटरनेशनल स्कूल सूरत और पठानिया पब्लिक स्कूल रोहतक से 2.5-2.5 लाख और लिटिल हार्ट कॉन्वेंट स्कूल भिवानी से 21,000 रुपए मिले थे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *