थरूर ने माफी मांगी: बांग्लादेश की आजादी में मोदी ने अपना योगदान बताया तो शशि थरूर ने PM पर निशाना साधा, अब कहा- जल्दबाजी में बयान दिया


  • Hindi News
  • National
  • Shashi Tharoor Sorry Update; Narendra Modi Bangladesh News | Congress MP Shashi Tharoor Says Sorry For PM Narendra Modi Bangladesh Speech

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बांग्लादेश की आजादी के लिए सत्याग्रह से जुड़े बयान पर टिप्पणी के लिए माफी मांगी है। उन्होंने अपनी गलती मानते हुए उन्होंने कहा कि मैंने जल्दबाजी में हेडलाइन और ट्वीट पढ़कर उन्होंने प्रतिक्रिया दी थी। हर कोई जानता है कि बांग्लादेश को किसने आजाद कराया। जिसका मतलब था कि नरेंद्र मोदी ने इंदिरा गांधी के योगदान को नहीं बताया, लेकिन उन्होंने इसका जिक्र किया। सॉरी।

थरूर ने मोदी के भाषण के उस बयान पर टिप्पणी दी थी, जिसमें पीएम मोदी ने बांग्लादेश की आजादी के लिए सत्याग्रह करने और जेल जाने की बात की थी। प्रधानमंत्री शुक्रवार को बांग्लादेश के स्वतंत्रता दिवस की स्वर्ण जयंती और बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्म शताब्दी के अवसर पर ढाका में आयोजित मुख्य समारोह में बोल रहे थे।

शशि थरूर ने दी थी प्रतिक्रया
प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के इसी हिस्से पर थरूर ने टिप्पणी करते हुए सोशल मीडिया पर कहा था कि अंतरराष्ट्रीय ज्ञान: हमारे प्रधानमंत्री बांग्लादेश को भारतीय फर्जी खबर का स्वाद चखा रहे हैं। हर कोई जानता है कि बांग्लादेश को किसने आजाद कराया। थरूर का इशारा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की ओर था।

क्या कहा था मोदी ने?
मोदी ने कहा था कि बांग्लादेश की आजादी के लिए उन्होंने सत्याग्रह किया था और इसके लिए जेल भी गए थे। बांग्लादेश की आजादी के लिए संघर्ष में शामिल होना मेरे जीवन के पहले आंदोलनों में से एक था। मेरी उम्र 20-22 साल रही होगी, जब मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए सत्याग्रह किया था। हालांकि इससे पहले मोदी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधीजी के प्रयास और उनकी महत्वपूर्ण भूमिका की भी तारीफ की थी।

PM मोदी ने नेहरू के बाद इंदिरा गांधी की तारीफ की, बोले- बांग्लादेश को आजादी दिलाने में मैंने भी गिरफ्तारी दी थी

बांग्लादेश की आजादी को सभी समर्थन था : मोदी
इससे पहले बांग्लादेश के 50वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश पहुंचे थे। इस दौरान ढाका में मोदी ने कहा था कि आज का यह अवसर बंगबंधु के विजन और आदर्शों को याद करने का दिन है। ये समय चिरोविद्रोही को, मुक्ति युद्ध की भावना को फिर से याद करने का समय है। बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के लिए भारत के कोने-कोने से, हर पार्टी से, समाज के हर वर्ग से समर्थन था।

उन्होंने कहा था कि तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधीजी के प्रयास और उनकी महत्वपूर्ण भूमिका सर्वविदित है। उसी दौर में 6 दिसंबर 1971 को अटल बिहारी वाजपेयी जी ने कहा था कि हम न केवल मुक्ति संग्राम में अपनी जीवन की आहूति देने वालों के साथ लड़ रहे हैं, बल्कि इतिहास को नई दिशा देने का प्रयास कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *