दिल्ली में जारी है LJP की जंग: राष्ट्रीय कार्यकारिणी मीटिंग के जरिए चिराग ने दिखाया दम, 5 जुलाई को हाजीपुर से संघर्ष यात्रा की करेंगे शुरुआत


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • LJP National Executive Meeting In Delhi News Update; Chirag Paswan Will Lead Sangharsh Yatra From Hajipur On July 5

पटना12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चिराग ने रविवार को दिल्ली में बड़ा ऐलान करते हुए बिहार में संघर्ष यात्रा की शुरुआत करने का ऐलान किया।

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के मालिकाना हक और उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर कब्जे के लिए चाचा-भतीजा के बीच चल रही वर्चस्व की जंग और तेज होती जा रही है। असली LJP कहां है, किसके साथ समर्थन है, किसका पार्टी पर असली अधिकार है और किसके साथ समर्थन ज्यादा है? इन सवालों पर बहस अब बिहार से निकलकर दिल्ली पहुंच गई है।

राजधानी दिल्ली के 12, जनपथ में चिराग पासवान राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग कर रहे हैं। पार्टी की तरफ से दावा किया गया है कि इसमें बिहार समेत 12 स्टेट प्रेसिडेंट के साथ ही 90% राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य शामिल हैं। सभी ने अपना समर्थन चिराग को दिया है।

मीटिंग में मौजूद कार्यकारिणी के सदस्यों ने पार्टी से सस्पेंड किए गए पशुपति कुमार पारस समेत सभी 5 बागी सांसदों के लोजपा का नाम और सिम्बल इस्तेमाल करने पर कड़ी आपत्ति जताई है।

शपथ दिलाने के साथ चिराग ने की मीटिंग की शुरुआत
मीटिंग की शुरूआत में चिराग ने वहां मौजूद सभी सदस्यों को शपथ दिलाई। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि चिराग ने रविवार को दिल्ली में बड़ा ऐलान कर दिया है कि वह बिहार में संघर्ष यात्रा की शुरुआत करने जा रहे हैं। इसके लिए उन्होंने 5 जुलाई का दिन चुना है जो उनके पिता और दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का जन्मदिवस है। संघर्ष यात्रा की शुरुआत के लिए चिराग ने अपने पिता के संसदीय क्षेत्र रहे हाजीपुर को चुना है।

पार्टी नेताओं को शपथ दिलाते चिराग पासवान।

पार्टी नेताओं को शपथ दिलाते चिराग पासवान।

LJP की मीटिंग में पार्टी ने 5 प्रस्तावों पर लगाई मुहर

  1. राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने 2019 में संवैधानिक रूप से चुने गए चिराग पासवान को ही अपना राष्ट्रीय अध्यक्ष माना है। साथ ही चाचा और बागी नेताओं को लेकर लिए गए इनके सभी फैसलों पर सभी सदस्यों ने अपनी सहमति प्रदान कर दी है।
  2. सांसद पशुपति कुमार पारस के द्वारा लोजपा के नाम पर की गई घोषणा और उनके दिए गए बयानों पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने आपत्ति जताते हुए कड़ी निंदा की है। इनके हर कदम को असंवैधानिक करार देते हुए जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया गया है।
  3. कार्यकारिणी ने लोजपा को अस्तित्व में लाने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री व दिवंगत नेता राम विलास पासवान को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न देने और बिहार में उनकी प्रतिमा स्थापना करने की मांग प्रधानमंत्री से की है।
  4. कार्यकर्ताओं से घर-घर जाकर पीड़ित परिवार की मदद करने को कहा है। कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना भी है। ऐसे में कार्यकर्ताओं के जरिए लोजपा लोगों को जागरूक करेगी। उन्हें वैक्सीन लगावाने के लिए प्रेरित करेगी।
  5. बिहार में बाढ़ की शुरूआत हो चुकी है। कई जिलों के लोग बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। इसके खतरे को देखते हुए गांव-गांव तक लोगों की मदद करने का प्रस्ताव भी पास किया गया है।
पार्टी के प्रस्तावों के साथ नेता-कार्यकर्त्ता।

पार्टी के प्रस्तावों के साथ नेता-कार्यकर्त्ता।

21 जून के बाद बिहार आएंगे चिराग
चिराग पासवान ने शनिवार रात लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से मुलाक़ात कर लोक जनशक्ति पार्टी को अपना बताते हुए उस पर दावा ठोका है। शनिवार को ही भास्कर ने आपको बताया था कि 21 जून के बाद चिराग पासवान बिहार आने वाले हैं। इसकी रूप-रेखा उनकी टीम तैयार कर रही है।

एक बड़ी प्लानिंग चल रही है। वह जनता के बीच जाने वाले हैं। उनके सामने अपनी बातों को रखने वाले हैं। चाचा पशुपति कुमार पारस और बागी सांसदों की पोल खोलने वाले हैं। चिराग पासवान और लोजपा की तरफ से दिवंगत राम विलास पासवान को भारत रत्न देने की मांग सरकार से की गई है। लोजपा की तरफ से कहा गया है कि बिहार में उनकी एक बड़ी प्रतिमा स्थापित की जाए।

13-14 जून की रात LJP में हुआ था तख्तापलट
बीते 13 जून की शाम से ही LJP में कलह शुरू हो गई थी। सोमवार 14 जून को चिराग पासवान को छोड़ बाकी पांचों सांसदों ने संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई और हाजीपुर सांसद पशुपति कुमार पारस को संसदीय बोर्ड का नया अध्यक्ष चुन लिया। इसकी सूचना लोकसभा स्पीकर को भी दे दी गई। सोमवार शाम तक लोकसभा सचिवालय से उन्हें मान्यता भी मिल गई थी।

इसके बाद चिराग पासवान ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाकर पांचों बागी सांसदों को LJP से हटाने की अनुशंसा कर दी। फिर 17 जून को पटना में पारस गुट की बैठक में उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *