धोखाधड़ी: पूर्व पार्षद के बेटे के साथ 41 लाख की ठगी, पुलिस ने तीन पर दर्ज किया केस


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

धोखाधड़ी

  • ठगी}मोबाइल कंपनी में इन्वेस्ट करने के नाम पर ठगे पैसे

नगर निगम के पूर्व मनोनीत पार्षद एमपी कोहली के बेटे संदीप कोहली के साथ 41 लाख रुपए की ठगी हो गई। संदीप की शिकायत पर पुलिस ने तीन आरोपियों आदित्य, अरविंद सिंह और दिलप्रीत सिंह सिक्का के खिलाफ आईपीसी की धारा 406ए 420 और 120 बी के तहत केस दर्ज किया है।

संदीप ने शिकायत ने बताया कि यह तीनों आरोपी उनके साथ संपर्क में थे और उन्होंने खुद को एक बड़ी मोबाइल कंपनी के डायरेक्टर बताया था। आरोपियों ने संदीप को मोबाइल कंपनी की डीलरशिप लेने के लिए कहा। उनके कहने पर संदीप ने डिस्ट्रीब्यूटरशिप में 51 लाख रुपए इन्वेस्ट कर दिए।

लेकिन बाद में जब उन्हें कंपनी की असलियत के बारे में पता लगा तो उन्होंने डिस्ट्रीब्यूटरशिप कैंसिल करने के लिए कहा और उनसे अपने 51 लाख रुपए वापस मांगे, जिस पर उन्होंने संदीप को 51 लाख रुपए के 3 चेक दे दिए। संदीप ने जब यह चेक अपने अकाउंट में लगाए तो तीनों बाउंस हो गए।

हालांकि बाद में आरोपियों ने साढ़े नौ लाख संदीप को रिफंड कर दिए थे। लेकिन बाकी के 41.50 लाख रुपए उन्हें नहीं दिए। सेक्टर-26 थाना पुलिस ने तीनों आरोपियों खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

4 लाख लेकर वीजा नहीं दिलवाया, कंपनी पर केस मोहाली| फेज-1 थाना पुलिस ने फेज-5 स्थित अल्फा एजुकेशन कंपनी के तीन संचालकों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया कंपनी के कारिंदे लोगांे को ठगने के बाद यहां से अपना ऑफिस बंद कर फरार हो चुके हैं।

पुलिस को दी शिकायत में पातड़ा पटियाला निवासी बलजिंदर सिंह ने शिकायत दी कि विज्ञापन के माध्यम से उनको फेज-5 स्थित अल्फा एजुकेशन नाम कंपनी का पता चला और फोन पर बात करने पर पता चला कि मात्र स्टडी वीजा का ही काम करते हैं। पीड़ित विश्वास कर आरोपियों के आफिस पहुंचे।

आरोपियों ने उनकी सारी बात सुनने के बाद बताया कि 14 लाख रुपए खर्च आएगा। पीड़ित ने आरोपी संचालक तरनतारन निवासी हरजीत सिंह, गुरदासपुर निवासी गुरपिंदर सिंह, अमृतसर निवासी मनप्रीत सिंह को 7 सितंबर 2019 को 4 लाख रुपए कैश दे दिया। तीनों आराेपियों ने उनको आश्वासन दिया कि यह 4 लाख बतौर जेआईसी फीस है और कैनेडा के कॉलेज में भरने के करीब 20 से 25 दिन के भीतर वीजा आ जाएगा, लेकिन वीजा नहीं मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *