धोखाधड़ी: संकट दूर करने का झांसा देकर महिला से 2 लाख के गहने ठगे


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्वालियर5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • झांसी रोड स्थित मंदिर में रोज जाती थी महिला, मंदिर में ठग महिला से हुई थी दोस्ती

धार्मिक स्थल पर मिलने वाले लाेग अच्छे ही हाें, ये गारंटी नहीं है। इसका उदाहरण है घासमंडी में रहने वाली सुषमा गुप्ता। उनके पति कपड़े की दुकान चलाने वाले देेवेंद्र गुप्ता का काराेबार कुछ समय से अच्छा नहीं चल रहा था। सुषमा इसे ठीक करने के लिए रोज झांसी रोड स्थित मंदिर जाती और मनाेकामना मांगती थी।

इस दाैरान नवंबर में मंदिर में मिली एक महिला से उनकी पहचान हाे गई। महिला ने उनसे दोस्ती गांठ ली और कहा कि वह संकट दूर करा सकती है। इसके बाद वह महिला सुषमा के घर पहुंची और सोने के गहने मांगे। इन गहनों को उसने एक कपड़े की पोटली में रखना बताया और कहा कि एक महीने बाद खोलना। तय समय के बाद सुषमा ने जब पोटली खोलकर देखी तो गहने गायब थे।

इसके बाद वह महिला के घर गई तो पता लगा कि वह किराए से रहती थी और 15 दिन पहले ही मकान खाली कर चली गई। सुषमा ने घटना की शिकायत सोमवार को एसपी से की। बकाैल सुषमा उसे ठगने वाली महिला ने अपना नाम गुड़िया बताया था। वह कंपू इलाके में रहती थी। दोनों के बीच मंदिर पर घंटों बात होती थी। सुषमा ने जब पति का व्यापार मंदा पड़ने के बारे में उसे बताया तो वह बोली कि मैं ज्योतिष जानती हूं। तुम्हारे सारे संकट दूर करा दूंगी।

एक महीने बाद पाेटली खाेली तो गहने गायब थे
ठग महिला ने सुषमा के सारे गहने ले लिए और उसे कहा कि मैं सारे संकट गहनों के रूप में लाल कपड़े में बांध रही है। एक महीने में यह संकट कट जाएंगे, लेकिन ठग ने गहनाें की बजाय कपड़े पोटली में रख लिए। दिसंबर में सुषमा ने जब पाेटली खाेली ताे गहने गायब थे। इसके बाद वह ठग महिला के घर पहुंची। 15 दिन तक महिला उसे गहने वापस करने की बात कहती रही और इसके बाद कमरा खाली कर चली गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *