नंदीग्राम की घटना पर चुनाव आयोग सख्त: ममता की सुरक्षा संभाल रहे पुलिस अफसर पर एक्शन की तैयारी, मामले की रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई होगी


  • Hindi News
  • National
  • Election Commission’s Action After So Called Attacked On West Bengal CM Mamata Banerjee

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी बुधवार को चुनाव प्रचार के दौरान घायल हो गई थीं। TMC सांसद सौगत रॉय ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात कर मामले की जांच कराने की मांग की है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर नंदीग्राम में हुए कथित हमले पर चुनाव आयोग सख्त दिखाई दे रहा है। चुनाव आयोग ममता की सुरक्षा संभाल रहे पुलिस अफसर पर कार्रवाई कर सकता है। चुनाव आयोग के एक सीनियर अधिकारी ने शुक्रवार को इसके संकेत दिए। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग, राज्य सरकार और राज्य में नियुक्त किए गए दोनों स्पेशल ऑब्जर्वर की रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही तय किया जाएगा की ममता के सिक्योरिटी इंचार्ज पर क्या कार्रवाई करनी है।

उन्होंने कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता की CM की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही हुई है। उनके सुरक्षा घेरे के पास आने की अनुमति किसी को नहीं है। घटना के वक्त ममता नंदीग्राम के पुरुलिया बाजार में चुनाव प्रचार कर रही थीं। चुनाव आयोग ने उस समय के CCTV फुटेज देखें हैं। हालांकि फुटेज ज्यादा स्पष्ट नहीं है। फुटेज में कुछ लोग ममता की गाड़ी के बेहद करीब नजर आ रहे हैं।

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता को Z+ सुरक्षा मिली हुई है। उनके साथ 20 सुरक्षाकर्मी होते हैं। इनमें SSW (स्पेशल सर्विस विंग) और IB (इंटेलिजेंस ब्यूरो) के अधिकारी भी शामिल हैं। पूर्व मेदिनीपुर (जिस जिले में नंदीग्राम है) के प्रशासनिक अधिकारियों ने कुछ प्रत्यक्षदर्शियों से बातचीत कर मोबाइल फुटेज भी इकट्‌ठा की है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिले TMC नेता
इससे पहले TMC नेता सौगत रॉय ने पार्टी नेताओं के साथ चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात कर शिकायत की। उन्होंने कहा कि हमनें हमले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। जब घटना हुई, वहां कोई पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था।

सौगत ने आरोप लगाया कि ममता पर हमला उन्हें जान से मारने के लिए करवाया गया था। हमले के पीछे किसी की गहरी साजिश छिपी हुई है। उन्होंने कहा, ‘अब जांच की जिम्मेदारी आयोग पर है। हमने आयोग से किसी तरह की विशेष जांच करने की मांग नहीं की है, लेकिन हम चाहते हैं कि जांच भेदभाव के बिना की जाए।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *