नशे की भेंट चढ़े परिवार की दर्दनाक कहानी: लुधियाना के सियाला गांव में नशे की लत से पागल हो गया बेटा, विधवा मां के पास इलाज को पैसे नहीं थे, इसलिए पेड़ से बांधा


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Ludhiana Village Siala Youth Went Mad Due To Drug Addiction, Mother Did Not Have Money For Treatment, So She Tied Him With Tree

लुधियाना3 मिनट पहले

लुधियाना के गांव सियाला में जंजीर के साथ पेड़ से बाधां गया भाग सिंह।

लुधियाना के गांव सियाला में नशे की भेंट चढ़े परिवार की दर्दनाक कहानी सामने आई है। यहां रहने वाला 28 साल का भाग सिंह नशे का आदि है और नशा न मिलने पर वह अपना मानसिक संतुलन खो बैठा है। मां के पास इलाज को पैसे नहीं थे, तो उसने बेटे को पेड़ से ही बांध दिया है। अगर उसे खोला जाए, तो वह नशे के लिए गांव के लोगों पर ही हमले करने लगता है। घर का आधा सामान तो वह नशे करने के लिए बेच चुका है, जो है उससे परिवार दो वक्त की रोटी ही खा रहा है। उसकी बेबस मां के पास बेबसी के सिवा कुछ भी नहीं है।

गांव सिहाला की चरणजीत कौर बताती हैं कि बेटा करीब 2 साल पहले गांव के ही नशेड़ी युवकों के साथ मिलकर नशे करने लगा था। पहले वह नशे के लिए पैसे चोरी करता था ओर बाद में घर का सामान चोरी करने लगा। उसके पति की कुछ ही समय पहले मौत हो गई और अब हालत यह है कि घर का गुजारा चलाना ही मुश्किल हो गया है। चरणजीत कौर ने कहा कि मैं बेटे का इलाज नहीं करवा सकती, इसलिए उसे पेड़ से बांध दिया। क्योंकि वह नशे की तोड़ और पागलपन की वजह से लोगों पर हमला कर देता है। अब वह किसी को परेशान नहीं करता और मेरी आंखों से सामने रहता है। मां के चेहरे पर यह दर्द साफ झलकता है कि उसके सामने बेटा धीरे-धीरे मौत के मुंह में जा रहा है।

बेड़ियों से जकड़ा भाग सिंह का पैर।

गांव में हर माह हो रही नशे से युवक की मौत
गांव के पूर्व सरपंच रमेश कुमार का कहना है कि नशे की वजह भाग सिंह के यह हालात हुए हैं। उनके गांव के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। गांव की 3000 हजार की आबादी है और यहां की 1600 वोट हैं। हालात यह हैं कि हर तीसरे या चौथे घर में नशा है और माह या दूसरे माह यहां पर नशे से युवक की मौत हो रही है। सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री द्वारा नशा खत्म करने के वादे हवा हो चुके हैं। उन्होंने सरकार से इस पर तुरंत ध्यान देने की मांग की।

2 दिन पहले हुई युवक की मौत
गांव के निवासी और समाज सेवी नीरज सियाला कहते हैं कि गांव में नशा लगातार बढ़ रहा है। न तो पुलिस प्रशासन और न ही सरकार इस तरफ ध्यान दे रही है। 2 दिन पहले ही एक युवक की मौत नशे के कारण हो गई और ऐसे कई घर हैं यहां पर नशे के कारण लोग दम तोड़ चुके हैं। इस पर लगाम लगाने के लिए वह लगातार आवाज उठा रहे हैं।

नशे की लत पूरी न हुई तो भाग सिंह मानसिक संतुलन खो बैठा।

नशे की लत पूरी न हुई तो भाग सिंह मानसिक संतुलन खो बैठा।

हम भाग सिंह का इलाज करवा रहे हैंः SM0
सब डिवीजन अस्पताल के सीनियर मेडिकल अफसर डॉक्टर तारकजोत सिंह का कहना है कि युवक भाग सिंह को नशा छुडाओ केंद्र में दाखिल किया जा रहा है। हमें पता लगा और उसे यहां लाकर इलाज किया जाएगा। हम कोशिश करेंगे उसका इलाज सरकारी खर्च पर हो और परिवार पर इसका बोझ न पड़े।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *