पदोन्नति में नियमों की अनदेखी: पूर्व विधायक पर हमले के आरोपी को दे दिया गैलेंट्री प्रमोशन, एडीजी ने कहा- आईजी व एसपी ने रिपोर्ट में जानकारी नहीं भेजी


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gallantry Promotion Was Given To The Accused Of Attack On Former MLA, ADG Said – IG And SP Did Not Send Information In The Report

जयपुरएक घंटा पहलेलेखक: ओमप्रकाश शर्मा

  • कॉपी लिंक

पुलिस मुख्यालय के अफसराें का कहना है कि रेंज आईजी से मिले प्रस्ताव मेें मुकदमे की जानकारी छुपाई गई है।

  • हमले के आरोपी को दिए गए गैलेंट्री प्रमाेशन को लेकर अफसर आमने-सामने
  • नियम ये: पुलिसकर्मी पर मुकदमा दर्ज होने पर उसे गैलेंट्री प्रमोशन नहीं दिया जाता

पूर्व विधायक निर्भय लाल जाटव के घर में घुसकर फायरिंग कर जानलेवा हमला करने के ही आरोपी कांस्टेबल को पुलिस मुख्यालय के अफसरों ने गैलेंट्री प्रमोशन कर दिया। मामले का खुलासा हुआ तो पुलिस मुख्यालय, रेंज आईजी व दो जिलों के एसपी एक-दूसरे पर टालने में लगे हुए हैं। पुलिस मुख्यालय के अफसराें का कहना है कि रेंज आईजी से मिले प्रस्ताव मेें मुकदमे की जानकारी छुपाई गई है।

उधर, रेंज आईजी, धौलपुर एसपी और भरतपुर एसपी खुद को बचाने के लिए अलग-अलग तर्क दे रहे हैं। पुलिस मुख्यालय ने हाल ही एक एएसआई का एसआई, पांच हैडकांस्टेबल का एएसआई और 22 कांस्टेबल को हैडकांस्टेबल को गैलेंट्री प्रमाेशन दिया था।

भतरपुर में तैनात संतोष कुमार को भी हैडकांस्टेबल से एएसआई पद पर सराहनीय कामकाज करने के लिए गैलेंट्री प्रमोशन दिया गया। जबकि संतोष के खिलाफ विधायक पर हमले का मुकदमा दर्ज हुआ था और मामला वर्तमान में कोर्ट में पेंडिंग होने के बाद भी अफसरों ने पदोन्नत कर दिया, जबकि नियमानुसार पुलिसकर्मी पर मुकदमा दर्ज होने पर गैलेंट्री प्रमोशन नहीं दिया जाता है।

2009 में हुआ था हमला

11 साल पहले 23 सितंंबर, 2009 को रूपवास के पूर्व विधायक निर्भय लाल जाटव पर घर में घुसकर पुलिसकर्मी संतोष कुमार, डकैत पप्पू गुर्जर समेत पांच जनों ने फायरिंग कर जानलेवा हमला कर दिया था। इस प्रकरण में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया था और उनके खिलाफ कोर्ट में चालान भी पेश हो चुका है। हमला करने की वजह जाटव द्वारा एक मारपीट के मुकदमे में एक पक्ष की पैरवी करना था।

जिम्मेदारों के बयान : मामले को एक-दूसरे पर टालने में लगे हैं अफसर

अगर मुकदमा दर्ज है तो गलत प्रमोशन हो गया

अगर किसी के खिलाफ मामला दर्ज है और कोर्ट में ट्रायल चल रही है तो उस पुलिसकर्मी को गैलेंट्री प्रमोशन नहीं देते हैं। भरतपुर रेंज आईजी व एसपी द्वारा भेजी रिपोर्ट के आधार पर प्रमोशन दिया गया था। उन्होंने मुकदमें की जानकारी नहीं दी। -रवि प्रकाश मेहरड़ा, एडीजी क्राइम, पुलिस मुख्यालय

एसपी की रिपोर्ट पर प्रस्ताव भेजा

संतोष के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज था, इसकी मुझे जानकारी नहीं थी। मेरे पास तो एसपी से प्रस्ताव बनकर आया था तो मैने उस प्रस्ताव को पुलिस मुख्यालय को भेजा था।प्रसन्न कुमार खमेसरा, आईजी, भरतपुर

मामला मेरी जानकारी में नहीं है

गैलेंट्री अभी हुआ है। विधायक पर हमला कराने के मामले की जानकारी मुझे नहीं है। रिपोर्ट पहले ही चली गई होगी। मैने तो रिमाइंडर भेजा था।देवेन्द्र कुमार, एसपी, भरतपुर

मेरे कार्यकाल में गैलेंट्री प्रमोशन की रिपोर्ट नहीं भेजी

मेरे कार्यकाल के दौरान संतोष कुमार की धौलपुर में पोस्टिंग नहीं रही और ना ही मैंने उसकी गैलेंट्री प्रमोशन की रिपोर्ट भेजी है। यह मेरे से पहले का मामला है। केसर सिंह, एसपी, धौलपुर

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *