परमबीर की चिट्‌ठी पर सियासी बवाल: महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे ने हाईलेवल मीटिंग बुलाई, फडणवीस और राज ठाकरे ने देशमुख का इस्तीफा मांगा


  • Hindi News
  • National
  • Uddhav Thackeray | Parambir Singh Writes To Maharashtra CM | Maharashtra Anil Deshmukh | Sachin Waze | Latest News And Updates | High Level Meeting

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

परमबीर सिंह की चिट्‌ठी सामने आने के बाद महाराष्ट्र सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। इसलिए कयास लगाए जा रहे हैं कि उद्धव, देशमुख से इस्तीफा ले सकते हैं।

एंटीलिया केस की आंच अब बढ़ती जा रही है। शनिवार शाम परमबीर सिंह की चिट्‌ठी महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ता जा रहा है। देर रात मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अपने सरकारी बंगले पर हाईलेवल मीटिंग बुलाई है। मीटिंग में महाविकास अघाड़ी (MVA) गठबंधन के नेताओं के शामिल होने की बात कही जा रही है। उधर, गृहमंत्री अनिल देशमुख के सरकारी आवास पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

बताया जा रहा है कि मीटिंग में गृहमंत्री अनिल देशमुख को हटाने को लेकर चर्चा होगी और आगे की रणनीति तय की जाएगी। चिट्‌ठी आने के बाद पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस और मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा है। फडणवीस ने कहा कि गृहमंत्री अनिल देशमुख को अब इस्तीफा दे देना चाहिए। राज ठाकरे ने कहा कि मामले की उच्च स्तरीय जांच होना चाहिए। इससे माहाराष्ट्र का नाम खराब हो रहा है।

चिट्‌ठी में परमबीर का आरोप- वझे से करोड़ों की वसूली करवाते थे देशमुख

चिट्‌ठी में मुंबई पुलिस के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा है कि सचिन वझे को गृहमंत्री अनिल देशमुख का संरक्षण था और उन्होंने वझे से हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने को कहा था। परमवीर सिंह ने चिट्ठी में यह भी कहा कि अपने गलत कामों को छुपाने के लिए मुझे बलि का बकरा बनाया गया है।

चिट्ठी में परमबीर ने लिखा, ‘आपको बताना चाहता हूं कि महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन बझे को कई बार अपने आधिकारिक बंगले ज्ञानेश्वर में बुलाया और फंड कलेक्ट करने के आदेश दिए। उन्होंने यह पैसे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नाम पर जमा करने के लिए कहा। इस दौरान उनके पर्सनल सेक्रेटरी मिस्टर पलांडे भी वहां पर मौजूद रहते थे। गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सचिन बजे को हर महीने 100 करोड़ रुपए जमा करने का टारगेट दिया था।’

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *