पहली बार प्रतिनिधि सभा नागपुर के बाहर: संघ की दो दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा बेंगलुरु में शुरु, कल होगा सरकार्यवाह का चुनाव


  • Hindi News
  • National
  • RSS Sangh Pratinidhi Sabha Bengaluru Meeting Update | Rashtriya Swayamsevak Sangh Latest News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेंगलुरुकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

RSS प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी ने भारत माता के चित्र पर फूल चढ़ाकर बैठक का शुभारंभ किया।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की दो दिन की बैठक बेंगलुरु के चेन्नहल्ली के जनसेवा विद्या केंद्र में चल रही है। बैठक अगले शुक्रवार और शनिवार तक चलना है। बैठक का शुभारंभ RSS प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी ने भारत माता के चित्र पर फूल चढ़ाकर किया। पूरे देशभर से लगभग यहां 450 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। इस बैठक में पारित होने वाले प्रस्तावों और एक साल में सभी प्रांतो में होने वाले कामों पर चर्चा की जाएगी। बैठक का पहला सत्र सुबह 8.30 पर शुरू हुआ है। पहली बार यह बैठक नागपुर के बाहर हो रही है। 20 मार्च के सरकार्यवाह का चुनाव भी होना है। इस वजह से भी बैठक अहम मानी जा रही है।

संघ के बारे में जानने की जिज्ञासा बढ़ रही: मनमोहन वैद्य

प्रतिनिधि सभा के जनरल सेक्रेटरी डॉक्टर मनमोहन वैद्य ने बताया है कि संघ के बारे में जानने की जिज्ञासा बढ़ रही है। सभी लोग संघ से जुड़ नहीं सकते, लेकिन वह साथ रहकर काम करना चाहते हैं। कैसे शाखाओं को बढ़ाया जाए और उनकी भूमिका तय की जाए, इसको लेकर भी बैठक में चर्चा की जाएगी।

बैठक पर कोरोना का असर, 500 लोग होंगे शामिल
बैठक पर कोरोना का भी असर देखने को मिल रहा है। आमतौर पर इस बैठक में संघ के लगभग 1500 लोग शामिल होते हैं, लेकिन इस बार 500 लोग ही शामिल होंगे। कोरोना के चलते लोगों की संख्याओं को कम कर दिया गया है।

संघ के पदाधिकारी देंगे संबोधन
इस बैठक को मोहन भागवत संबोधित करेंगे। उनके अलावा बैठक में भैय्याजी जोशी, दत्तात्रेय होसबोले, मनमोहन वैद्य, डॉक्टर कृष्ण गोपाल जैसे सभी बड़े पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। इस बार बैठक में भाजपा की प्रतिनिधि सभा को नहीं बुलाया गया है।

राम मंदिर से लेकर कोरोना पर चर्चा
बैठक में राम मंदिर को लेकर अबतक हुए कार्यों की समीक्षा की जाएगी। कोरोना के दौरान संघ की भूमिका पर भी चर्चा की जाएगी।

12 साल से सरकार्यवाह के पद पर हैं भैय्याजी जोशी
भैय्याजी जोशी पिछले 12 सालों से सरकार्यवाह के पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। 20 तारीख को इस पद पर चुनाव होना है। ऐसा माना जा रहा है कि भैय्याजी जोशी को इस पद से मुक्त कर, दूसरी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। इससे पहले 2018 में भैय्याजी जोशी ने पद मुक्त करने का अनुरोध किया था। हर 3 साल में सरकार्यवाह का चुनाव किया जाता है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *