पहल: निगम की 21 सड़कें पथ निर्माण विभाग को, अब सुधरेगी हालत, पर 6 माह करना होगा इंतजार


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागलपुर7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • अरसे से सड़काें की नगर निगम ने नहीं कराई मरम्मत, हालत जर्जर, अब नई व्यवस्था

एक दशक से मरम्मत न होने से शहर की करीब दाे दर्जन सड़कें जर्जर हाे चुकी हैं। नगर निगम ने अपनी इन सभी सड़कों की मरम्मत व निर्माण के लिए प्रस्ताव बनाए। फैसले भी लिए, लेकिन एक बार भी मरम्मत नहीं की। अब यही जर्जर सड़कें हादसों को न्योता दे रही हैं। अब नगर निगम की 21 सड़काें काे पथ निर्माण विभाग के हवाले किया गया तो पथ निर्माण विभाग ने निर्माण के लिए कार्ययाेजना बनानी शुरू कर दी है।

इन 21 सड़काें की लंबाई करीब 23 किलाेमीटर है। इनमें से पहले चरण में 7 किलाेमीटर सड़क निर्माण के लिए कार्ययाेजना बनाकर विभाग काे भेजी गई है। स्वीकृति मिलने के साथ टेंडर प्रक्रिया शुरू हाेगी। हालांकि जिम्मेदाराें के मुताबिक इस काम के शुरू हाेने में कम से कम छह माह लगेंगे। इसके बाद ही सड़काें की हालत सुधरेगी।

फिलहाल, घंटाघर से आदमपुर हाेते हुए काेयला घाट, बड़ी खंजरपुर, डीआईजी ऑफिस से बड़ी खंजरपुर हाेते हुए मायागंज अस्पताल से डीएम काेठी तक की सड़क शामिल है। साथ ही डीएम काेठी से जवारीपुर की सड़क के निर्माण की भी याेजना है। यानी ये बाइपास सड़क हाेगी और एनएच से उसे जाेड़ा जाएगा, ताकि आवागमन में कोई परेशानी न हाे। इससे जाम की स्थिति भी नहीं बनेगी।

पथ निर्माण विभाग ने 7 किमी. सड़क का बनाया एस्टीमेट, 12.50 कराेड़ से हाेगा निर्माण
इन सड़काें काे पथ निर्माण विभाग के हवाले किया गया

नगर निगम की 21 सड़कें पथ निर्माण विभाग को हैंडओवर की गई हैं। इनमें बड़ी खंजरपुर राेड से सैंडिस कंपाउंड के गेट तक, राधा रानी सिन्हा राेड, सुंदर लाल लेन, जवारीपुर राेड, सदर अस्पताल के पीछे जीसी बनर्जी राेड, माउंट असीसी जूनियर सेक्शन वाली सड़क, पुलिस लाइन राेड, गंगटी-अलीगंज राेड, कजरैली राेड, एसके तरफदार राेड, एमपी द्विवेदी राेड, गाेशाला राेड, रेड क्राॅस राेड, मायागंज राेड, शमशान घाट राेड, ड्याेढ़ी राेड, मंदिर राेड, फेरी राेड, हनुमान घाट राेड, शामिल हैं।

बता दें कि निगम ने 53 सड़काें की सूची पथ निर्माण काे दी थी। इनमें एसएम काॅलेज से मिरजानहाट शीतला स्थान राेड, पटल बाबू राेड, नाथनगर समेत 19 सड़क थी, जाे पथ निर्माण विभाग के पास पहले से थी। कई सड़क पथ निर्माण के पास पहले से थी। इनमें कई सड़काें काे स्मार्ट सिटी प्राेजेक्ट में भी शामिल किया गया है। इसलिए उन्हें छोड़ दिया गया।

इन सड़कों की बढ़ेगी चौड़ाई, रूट भी होंगे तय इसके बाद जाम से राहत मिलने की है उम्मीद
बताते हैं, सड़काें की मरम्मत या निर्माण पर करीब 25 कराेड़ खर्च होंगे। इनकी चाैड़ाई 7 से 10 मीटर तक हो जाएगी। कहीं पीसीसी, कहीं सड़क का कालीकरण होगा। फिर आदमपुर-मायागंज-डीएम काेठी होकर जवारीपुर राेड में मिलाया जाएगा, यह बाइपास की तरह हाेगा। यानी बाजार से घंटाघर के रास्ते वाहन आदमपुर मायागंज-जवारीपुर आएंगे और एनएच से सबाैर के रास्ते में निकल जाएंगे। इसके बनने पर रूट तय हाेगा। इसके चालू हाेने से कचहरी, बड़ी पाेस्ट ऑफिस, तिलकामांझी, आदमपुर में जाम से राहत मिल सकती है।

पथ निर्माण विभाग की सड़क मेंटनेंस पाॅलिसी में, इसलिए बेहतर हाेने की ज्यादा है संभावना
पथ निर्माण विभाग के पास सड़काें के जाने से इसमें सुधार की उम्मीद है। कारण यह है कि पथ निर्माण की ज्यादातर सड़काें की हालत बाकी से अच्छी है। अभी एसएम काॅलेज से मिरजानहाट राेड, तिलकामांझी-आदमपुर-नया बाजार हाेते हुए चंपानगर व बरारी से तिलकामांझी की सड़क पथ निर्माण विभाग की है और ये तीनाें सड़कें मेंटनेंस पाॅलिसी के तहत हैं। इसका ठेका निरंजन शर्मा काे दिया गया है। ये सड़कें एनएच व निगम की सड़काें से बेहतर हैं। ऐसे में पथ निर्माण को मिली निगम की 21 सड़कों में सुधार की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *