प्रारंभिक जांच पूरी: 8 लेन में जमीन गई तो भू-माफियाओं ने गैर आबाद भूमि पर किया कब्जा, प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन में कई चाैंकाने वाले तथ्य


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धनबाद17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • लेन में जमीन जाने के बाद भू-माफियाओं ने आसपास की गैर मजरुआ जमीन पर कब्जा कर लिया
  • हीरक रोड स्थित गैर आबाद भूमि पर कब्जा मामले में सीओ ऑफिस ने विधि-व्यवस्था काेषांग को जांच रिपोर्ट सौंपी, कहा-

धनबाद अंचल कार्यालय की लापरवाही के कारण हीरक राेड स्थित 8 लेन के पास की कीमती जमीन पर भू-माफियाें ने कब्जा कर लिया। यह जमीन आमाघाटा माैजा की है। साल 2010-12 में तत्कालीन सीओ, सीआई और हल्का कर्मचारी की मिलीभगत से इस गैर आबाद भूमि की जमाबंदी खाेल दी गई थी। प्रशासन के संज्ञान में आने के बाद एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर चंदन कुमार ने गैर आबाद वाले जमीन पर निर्माण कार्य पर राेक लगाते हुए धनबाद अंचल काे पूरे मामले की जांच का निर्देश दिया था। धनबाद अंचल कार्यालय ने प्रारंभिक जांच रिपोर्ट तैयार कर विधि-व्यवस्था कोषांग को सौंप दी है।

प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन में कई चाैंकानेवाले तथ्य हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि आमाघाटा माैजा में पुराना खाता 28 तथा हाल खाता 89 नंबर की जमीन गैर आबाद है। खाता नंबर 89 के पास ही खाता नंबर 11 रैयती जमीन है। जिसकी बहुत सारी जमीन 8 लेन चाैड़ीकरण में चली गई। 8 लेन में जमीन जाने के बाद भू-माफियाओं ने आसपास की गैर मजरुआ जमीन पर कब्जा कर लिया।

नए सर्वे के बाद नहीं जमा हुआ लगान, 2016 तक जमा

आमाघाटा माैजा में पुराना खाता 28 की जिस जमीन की जमाबंदी 2010-12 में खाेल दी गई थी। उन सभी का लगान 2016 तक ही जमा है। नया सर्वे 2016 में हुआ था। इसके बाद सरकारी और गैर सरकारी जमीन की जमाबंदी काे ऑनलाइन कर दी गई थी।

अमीन बहाल कर की जाएगी नापी- एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर

एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर चंदन कुमार का कहना है कि रिपाेर्ट के आधार पर जमीन का भाैतिक निरीक्षण कर आकलन किया जाएगा। अमीन बहाल कर जमीन की नापी कराई जाएगी, जिससे यह स्पष्ट हाे पाए कि कितनी एकड़ सरकारी जमीन पर कब्जा है।

सबलपुर जमीन फर्जीवाड़ा मामला- धनबाद सीओ ने पुलिस का नाेटिस लेने से किया इनकार

सरायढेला सबलपुर जमीन फर्जीवाड़े मामले में सरायढेला पुलिस शनिवार काे सीओ प्रशांत लायक काे नाेटिस तामिला करने उनके कार्यालय पहुंची। सीओ ने नोटिस लेने से इनकार कर दिया। नाेटिस नहीं लेने पर केस के अनुसंधानकर्ता अपनी केस डायरी में इस बात का उल्लेख करेंगे। गाैरतलब है कि करकेंद बाजार के रहने वाले दिलीप अग्रवाल ने जमीन फर्जीवाड़ा काे लेकर धनबाद काेर्ट में शिकायतवाद दर्ज कराई थी। काेर्ट के आदेश पर 15 जनवरी 2020 काे सरायढेला थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई थी। जिसमें सहयाेगी प्राेपर्टी प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक भुनेश्वर यादव, धनबाद सीओ प्रशांत लायक और जेसी मल्लिक के संताेष कुमार काे आराेपी बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *