बूंदों ने मई की लू उतारी: 31 साल में पहली बार मई माह में इतनी बारिश, लू नहीं चली; 44 साल में पहली बार मई में तापमान 34 डिग्री से ऊपर नहीं गया


  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • For The First Time In 31 Years, So Much Rain In The Month Of May, There Was No Heat; For The First Time In 44 Years, The Temperature In May Did Not Go Above 34 Degrees.

नई दिल्ली2 घंटे पहलेलेखक: अनिरुद्ध शर्मा

  • कॉपी लिंक

राजधानी में मानसून की दस्तक।

  • दो बड़े समुद्री तूफानों ताऊ ते और यास ने भगाई गर्मी, दोगुने पश्चिमी विक्षोभ से नियंत्रण में पारा

2021 के मई माह ने मौसम के कई पैमानों को झुठला दिया। गर्मी तो कम पड़ी ही, बारिश भी अच्छी हुई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि मई में देश में औसत 107.9 मिमी बारिश हुई। ऐसा 121 साल में दूसरी और 31 साल में पहली बार हुआ है। वहीं मई में दिन का औसत तापमान सबसे कम 34.18 डिग्री सेल्सियस रहा। ऐसा 1901 के बाद चौथी बार और 44 साल में पहली बार हुआ है।

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि मई में दो बड़े समुद्री तूफान अरब सागर में ताऊ ते और बंगाल की खाड़ी में यास आए। ताऊ ते 14 से 19 मई और यास 23 से 27 मई तक प्रभावी रहा, इस दौरान अच्छी बारिश हुई। वहीं हिमालय क्षेत्र में मई में सामान्य से दोगुने 8 पश्चिमी विक्षोभ आए। इनके असर से पहाड़ों पर बर्फ पड़ी और मैदानी इलाकोंं में बारिश से तापमान नीचे बना रहा। इस कारण भारत के कहीं भी लू नहीं चली।

औसत पारा 350 रहता है, 10 कम रहा; औसत बारिश 62 मिमी होती है, 107 मिमी हुई

21% ज्यादा बारिश, 8 दिन में आधे से अधिक भारत पर मानसून

  • मानसून 8 दिन में ही आधे से ज्यादा भारत में सक्रिय हो चुका है।
  • आम तौर पर इसे आधा देश कवर करने में दो हफ्ते लगते हैं।
  • अब तक देश में 44.5 मिमी बारिश हो चुकी है। यह सामान्य (36.8 मिमी) से 21% ज्यादा है।
  • मानसून अगले दो दिन में पूर्वी यूपी तक पहुंच जाएगा।
  • शुक्रवार को दक्षिणी गुजरात के कुछ हिस्सों, दक्षिणी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और बंगाल के और अधिक हिस्सों में आगे बढ़ गया।
  • मानसून की उत्तरी सीमा दीव, सूरत, रायसेन, दमोह, उमरिया, पुरी और कृष्णा नगर मालदा तक पहुंच चुकी है।
  • 13 जून तक यह गुजरात, मप्र के कुछ हिस्सों, ओडिशा, छत्तीसगढ़ के बचे हिस्सों, पूरे बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वी यूपी के कुछ हिस्सों तक पहुंच जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *