भगोड़े हीरा कारोबारी का छलका दर्द: चोकसी ने कहा- मैं सोच भी नहीं सकता था कि मेरा कारोबार बंद कर संपत्तियां जब्त कर ली जाएंगी, भारतीय एजेंसियां मेरा अपहरण करेंगी


  • Hindi News
  • National
  • Choksi Said I Could Not Imagine That My Business Would Be Closed And Properties Would Be Confiscated, Indian Agencies Would Kidnap Me

4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

करोड़ों रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले का आरोपी और भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी गुरुवार को एंटीगुआ-बारबुडा पहुंचा। मीडिया से बातचीत में उसका दर्द साफ छलका।

चोकसी ने कहा- ‘मैं सोच भी नहीं सकता था कि मेरा कारोबार बंद कर संपत्तियां जब्त कर ली जाएंगी। भारतीय एजेंसियां मेरे अपहरण की साजिश रचेंगी। मैं घर वापस आ गया हूं, लेकिन इस यातना ने शारीरिक और मानसिक रूप से मुझ पर गहरे निशान छोड़े हैं।’

बेगुनाही साबित करने भारत जरूर आऊंगा
चोकसी ने कहा, “मैंने कई बार भारतीय जांच एजेंसियों से एंटीगुआ आकर पूछताछ करने की अपील की, लेकिन वे नहीं आए। मैं अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए भारत लौटने के बारे में सोच रहा हूं। मेरे अपहरण के बाद पिछले 50 दिनों से मेरी तबीयत ज्यादा खराब हो गई है। मैं भारत में अपनी सुरक्षा को लेकर आशंकित हूं। मुझे नहीं पता कि मैं सामान्य शारीरिक या मानसिक स्थिति में वापस आऊंगा।”

चोकसी पिछले 51 दिन से डोमिनिका में था। इलाज के लिए उसे एंटीगुआ जाने की छूट मिली है। यह तस्वीर उसके एंटीगुआ पहुंचने के बाद की है। (तस्वीर-एंटीगुआ न्यूज रूम)

चोकसी पिछले 51 दिन से डोमिनिका में था। इलाज के लिए उसे एंटीगुआ जाने की छूट मिली है। यह तस्वीर उसके एंटीगुआ पहुंचने के बाद की है। (तस्वीर-एंटीगुआ न्यूज रूम)

चार्टर्ड प्लेन से एंटीगुआ पहुंचा चोकसी
स्थानीय मीडिया ने बताया कि फरार हीरा कारोबारी डोमिनिका में लगभग 51 दिनों की हिरासत के बाद एंटीगुआ लौट आया है। एंटीगुआ न्यूज रूम की रिपोर्ट के अनुसार, हल्के हरे रंग की शर्ट और खाकी शॉर्ट्स में चोकसी ने एक चार्टर्ड विमान में एंटीगुआ के लिए उड़ान भरी। एंटीगुआ और बारबुडा के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने हवाई अड्डे पर उनसे मुलाकात की।

तीन दिन पहले इलाज के लिए मिली अंतरिम जमानत
बता दें कि चोकसी को तीन दिन पहले डोमिनिका की कोर्ट ने इलाज के लिए एंटीगुआ-बारबुडा जाने की अनुमति दे दी थी। कोर्ट ने चोकसी को 10 हजार ईस्टर्न कैरेबियन डॉलर (करीब पौने तीन लाख रुपए) जमानत राशि के रूप में देने के बाद अंतरिम राहत दी थी।

चोकसी के वकीलों ने जमानत मांगते हुए सीटी स्कैन और मेडिकल रिपोर्ट भी अदालत में पेश की थी। रिपोर्ट में उनके ‘हेमाटोमा’ (मस्तिष्क से जुड़ी बीमारी है) संबंधी स्थिति बिगड़ने की बात कही गई थी। कोर्ट ने मेडिकली फिट होने के बाद वापस केस का सामना करने के लिए डोमिनिका आने की शर्त लगाई है।

चौकसी पर आरोप है कि वह अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने डोमिनिका आया हुआ था।

चौकसी पर आरोप है कि वह अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने डोमिनिका आया हुआ था।

डोमिनिका में नहीं थी इलाज की सुविधा
डॉक्टरों ने ‘न्यूरोलॉजिस्ट’ और एक ‘न्यूरोसर्जिकल’ सलाहकार द्वारा चोकसी की चिकित्सा स्थिति की तत्काल समीक्षा कराने की सलाह दी थी। ‘सीटी स्कैन’ की रिपोर्ट 29 जून की थी, जिस पर डोमिनिका के प्रिंसेस मार्गरेट हॉस्पिटल के चिकित्सकों येरंडी गाले गुटिरेज और रेने गिल्बर्ट वेरानेस ने हस्ताक्षर किए थे। रिपोर्ट में कहा गया था, ‘इलाज की ये सुविधाएं फिलहाल डोमनिका में उपलब्ध नहीं हैं।’

चौकसी के मुंबई स्थित फ्लैट की दीवारें जांच एजेंसियों के नोटिस से पटी पड़ी हैं।

चौकसी के मुंबई स्थित फ्लैट की दीवारें जांच एजेंसियों के नोटिस से पटी पड़ी हैं।

13,500 करोड़ रुपए के घोटाले में है वांटेड
पंजाब नेशनल बैंक से जुड़े 13,500 करोड़ रुपए के घोटाले में वांटेड हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी 23 मई को एंटीगुआ-बारबुडा से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया था। बाद में उसे पड़ोसी देश डोमिनिका में गैरकानूनी रूप से दाखिल होने के आरोप में हिरासत में लिया गया था।

चोकसी के वकीलों ने आरोप लगाया है कि 23 मई को एंटीगुआ के जोली हार्बर से उसका कुछ पुलिसकर्मियों ने अपहरण कर लिया था। ये पुलिसकर्मी एंटीगुआ तथा भारत के नागरिक लग रहे थे, जो एक नौका में उसे डोमिनिका ले गए।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *