भाजपा नेता राम स्वरूप शर्मा की मौत: कबड्डी खिलाड़ी, NHPC में नौकरी और फिर राजनीति; खुद को PM मोदी का ‘सुदामा’ कहते थे, कई दिन से तनाव में थे


  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • From Mandi Of Himachal Pradesh, BJP MP Ram Swaroop Sharma Biography And Political Career, Found Dead In Delhi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोगेंद्रनगर(मंडी)10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

10वीं तक पढ़े राम स्वरूप शर्मा हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के जोगेंद्रनगर के रहने वाले थे।

  • वर्तमान में राम स्वरूप शर्मा भाजपा के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष थे और उनका नाम प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में भी शामिल था
  • करीब दो साल पहले उन्हें दिल का दौरा पड़ा था, इसके बाद उनका एम्स दिल्ली में सफल ऑपरेशन भी हुआ था

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले से भाजपा सांसद राम स्वरूप शर्मा की दिल्ली में संदिग्ध हालात में दिल्ली में मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक, वे फंदे से लटके हुए थे और कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। माना जा रहा है कि उन्होंने आत्महत्या की है। वहीं उनके निधन से पूरा देश स्तब्ध है। मंडी संसदीय क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त हो गई है।

कांग्रेस उम्मीदवार को रिकॉर्ड मतों से हराकर दूसरी बार सांसद बने

राम स्वरूप शर्मा मंडी से लगातार दूसरी बार सांसद चुने गए थे और प्रदेश के दिग्गज नेता थे। रामस्वरूप शर्मा 2019 के आम चुनाव में हिमाचल प्रदेश के मंडी से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए। 2019 के लोकसभा चुनाव में रामस्वरूप शर्मा ने पंडित सुखराम के पोते कांग्रेस के उम्मीदवार आश्रय शर्मा को रिकॉर्ड 4 लाख 5 हजार मतों से पराजित करके ऐतिहासिक जीत दर्ज की, जो मंडी संसदीय क्षेत्र का रिकाॅर्ड है।

वीरभद्र सिंह की पत्नी को हराकर पहली बार सांसद बने थे

इससे पहले 2014 में भी राम स्वरूप शर्मा मंडी से ही लोकसभा चुनाव जीते थे। 2014 में उन्होंने पहली बार पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी एवं पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ा और 39000 के करीब मतों से विजय हासिल की। मंडी जिला भाजपा में विभिन्न पदों पर रहने के बाद रामस्वरूप शर्मा दो बार प्रदेश संगठन महामंत्री रहे। वे हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के प्रभारी भी रहे।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ कार्यक्रम में शामिल होते राम स्वरूप शर्मा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ कार्यक्रम में शामिल होते राम स्वरूप शर्मा।

प्रदेश अध्यक्ष बनने की दौड़ में शामिल थे

वर्तमान में राम स्वरूप शर्मा भाजपा के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष थे और उनका नाम प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में भी शामिल था। रामस्वरूप शर्मा साधारण परिवार से संबंध रखने वाले जमीन से जुड़े नेता थे। वे पार्टी के संगठन के प्रति वफादार और सबको साथ लेकर चलने वाले नेता थे।

खिलाड़ी भी थे

रामस्वरूप शर्मा कबड्डी के नेशनल प्लेयर रहे। खेल कोटे से वे NHPC में नौकरी पर लगे थे। लेकिन 1985 में नौकरी छोड़कर वे पूरी तरह संघ के प्रचारक बन गए। वे हिमाचल प्रदेश सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन के उपाध्यक्ष मनोनीत हुए थे। सितंबर 2014 में विदेश मामलों पर स्थायी समिति के सदस्य चुने गए थे। सितंबर 2014 में ही वे पर्यटन और संस्कृति मंत्रालय के तहत परामर्श समिति के सदस्य चुने गए थे।

मोदी के सुदामा

मंडी को छोटी काशी का नाम दिलाने का श्रेय रामस्वरूप शर्मा को ही जाता है। रामस्वरूप शर्मा प्रधानमंत्री मोदी को बड़ी काशी का सांसद कहते और स्वयं को उनका मित्र बताकर सुदामा कहलाते थे। ब्यास आरती शुरू करवाने में भी रामस्वरूप शर्मा का अहम योगदान रहा है।

फूलमाला पहनाकर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करते राम स्वरूप शर्मा।

फूलमाला पहनाकर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करते राम स्वरूप शर्मा।

दिल के मरीज थे

रामस्वरूप शर्मा दिल के मरीज थे। उनकी एंजियोप्लास्टी हुई थी। हार्ट में 4 स्टेंट डाले गए थे। बताया जा रहा है कि वे अपनी इस बीमारी की वजह से पिछले कुछ दिनों से डिप्रेशन में थे। करीब दो साल पहले उन्हें दिल का दौरा पड़ा था, इसके बाद उनका एम्स दिल्ली में सफल ऑपरेशन भी हुआ था।

तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर थे

राम स्वरूप अपने तीनों भाइयों में दूसरे स्थान पर थे। बड़े भाई का नाम त्रिलोक शर्मा है तथा रामस्‍वरूप से छोटे सुरेंद्र शर्मा का 2006 में निधन हो गया है। सांसद की पत्नी चंपा शर्मा तीर्थ यात्रा पर गई थीं। उनको पति के निधन की जानकारी जयपुर में मिली और वहां से सीधे दिल्ली पहुंच गईं।

जोगेंद्रनगर में हुआ था जन्म

रामस्वरूप शर्मा का जन्म 10 जून 1958 को हुआ था। वह हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के जोगेंद्रनगर के रहने वाले थे। उन्होंने 10वीं तक पढ़ाई की थी। पिता का नाम स्वर्गीय रामेश्वर शर्मा और माता का नाम स्वर्गीय निर्मला देवी थी। इनकी पत्नी का नाम चंपा शर्मा है और इनके तीन बेटे हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *