भास्कर इन्वेस्टिगेशन: बिहार के मुजफ्फरपुर में कोरोना जांच कराने वाले 25% लोगों ने दिया गलत मोबाइल नंबर, 70% को डेढ़ महीने बाद मिली रिपोर्ट


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुजफ्फरपुर/भागलपुर2 घंटे पहलेलेखक: दिग्विजय कुमार

  • कॉपी लिंक

एंटीजन किट से की जांच में गड़बड़ी की बात सामने आई।

मुजफ्फरपुर जिले में पिछले साल जून 2020 से अब तक 8 लाख 42 हजार लोगों की जांच एंटीजन किट से की गई। इनमें से 90 हजार जांच में गड़बड़ी की बात सामने आई। पूछने पर प्रशासन ने कहा कि रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग के नेशनल पोर्टल पर अपलोड नहीं हो पाई है, जिसे यथाशीघ्र कर देंगे।

कमोबेश ऐसी ही स्थिति भागलपुर में 30 हजार जांच को लेकर है। यहां भी अफसरों ने बताया कि नेशनल पाेर्टल पर अपलाेड में देरी हुई है। दैनिक भास्कर टीम ने मुजफ्फरपुर में 530 और भागलपुर में 250 लाेगाें की जांच की पड़ताल की।

मुजफ्फरपुर में अप्रैल के अंतिम सप्ताह में जांच कराने वाले 374 लाेगाें के माेबाइल पर पिछले 6 दिनों में निगेटिव रिपाेर्ट का एसएमएस भेजा गया। कुछ वैसे लाेगाें को अब निगेटिव रिपाेर्ट का मैसेज भेजा गया, जाे एक से डेढ़ माह पहले एंटीजन जांच में पॉजिटिव मिले थे। यही नहीं 12 ऐसे लाेगाें के मोबाइल पर काेराेना निगेटिव का एसएमएस आया, जिन्होंने कभी जांच कराई ही नहीं थी।

वहीं भागलपुर में 200 से अधिक लाेगाें काे पांच से सात दिनाें के बाद रिपाेर्ट का एसएमएस भेजा गया। 12 लाेग ऐसे मिले, जिन्होंने जांच के लिए सैंपल ही नहीं दिए। तीन दिन पहले 24 लोगों को एंटीजन टेस्ट में निगेटिव बताया गया था, उनको भी माेबाइल पर पाॅजिटिव हाेने का मैसेज आ गया। 47 लोगों ने कभी आरटीपीसीआर जांच ही नहीं कराई, उनकाे भी रिपाेर्ट भी भेजी गयी। कई ऐसे भी हैं, जिन्हाेंने न एंटीजन और न आरटीपीसीआर से जांच कराई, उनके नंबर पर पाॅजिटिव का मैसेज आ गया।

मुजफ्फरपुर : सदर अस्पताल के कर्मचारियों के नंबर पर भी भेजी गई फर्जी जांच रिपोर्ट

सदर अस्पताल के डाटा-एंट्री ऑपरेटर अमन कुमार के मोबाइल पर भी निगेटिव रिपोर्ट का मैसेज गया। आपत्ति जताई कि उसने सैंपल दिया ही नहीं। उसी तरह सदर अस्पताल के डायलिसिस यूनिट के प्रतिनिधि भास्कर के मोबाइल पर शीला देवी के नाम से नेगेटिव रिपोर्ट का एसएमएस आया। यूपी के राजीव दास के मोबाइल पर प्रदीप कुमार राय के नाम से निगेटिव रिपोर्ट का एसएमएस गया है। दास हाल के दिनों में बिहार आए ही नहीं। मनियारी थाना में तैनात पुलिसकर्मी जयमंगल साह के मोबाइल पर महावीर चौहान के नाम से निगेटिव रिपोर्ट का एसएमएस आया है।

बगैर जांच की रिपोर्ट की जांच होगी : डाॅ. अमिताभ सिन्हा

90 हजार एंटीजन जांच रिपोर्ट नेशनल पोर्टल पर अपलोड नहीं की जा सकी है। पीएचसी प्रभारियों से रिपोर्ट मांगी है। बगैर जांच के रिपोर्ट मामले की जांच कराएंगे। गड़बड़ी संभव है। सकरा में सदर अस्पताल के 5 लैब टेक्नीशियन रैपिड एंटीजन किट की हेराफेरी में गिरफ्तार किए जा चुके हैं। –डाॅ. अमिताभ सिन्हा, काेराेना सैंपलिंग के नाेडल अफसर, सदर अस्पताल, मुजफ्फरपुर

जल्द होगी जांच: सिविल सर्जन

मेरी जानकारी में मामला नहीं है। अगर ऐसा है तो जांच होगी। दोषियों पर कार्रवाई भी होगी। -डॉ. एसके चौधरी सिविल सर्जन, मुजफ्फरपुर

भागलपुर : एंटीजन टेस्ट में निगेटिव, बिना जांच आरटीपीसीआर का मैसेज पाॅजिटिव

पूर्णिया निवासी 28 वर्षीय साेनी देवी ने कभी भी काेराेना जांच नहीं करवाई। लेकिन 18 मई को उनके मोबाइल नंबर पर बोनी देवी के नाम से रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पीरपैंती की 20 वर्षीय पल्लवी ने 15 मई काे एंटीजन जांच कराई, रिपोर्ट निगेटिव थी। 19 मई काे आरटीपीसीआर रिपाेर्ट का पाॅजिटिव होने का मैसेज आया।

5 दिन पहले तक 30 हजार एंटीजन जांच रिपाेर्ट का बैकलाॅग था। अब हमने नेशनल पोर्टल पर अपलोड कर दिया है। जो गड़बड़ी आप बता रहे, हम उनकी जांच कराएंगे। -डाॅ. उमेश शर्मा, सिविल सर्जन, भागलपुर

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *