भोपाल में नृशंस हत्या: कत्ल करने के बाद पत्नी के शव को घसीटकर घर के बाहर लाया; देखा कोई नहीं है, तो अंदर ले जाकर बिलख रही 6 माह की बेटी के पास लिटा दिया


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल16 मिनट पहलेलेखक: अनूप दुबे

  • कॉपी लिंक

महज एक हजार रुपए के लिए भोपाल में पति ने पत्नी की हत्या कर दी। नेहा की फाइल फोटो।

  • घर खर्च के महज एक हजार रुपए को लेकर पति-पत्नी में बहस हुई थी
  • मां की मौत के बाद अब बच्चियां को अनाथालय में ही रहना होगा

भोपाल में पत्नी की नृशंस हत्या करने के बाद आरोपी पति उसे घसीटते हुए घर के बाहर लेकर आया था। शव पर पानी डालकर उठाने का प्रयास भी किया था, लेकिन जब पत्नी नहीं उठी तो अंदर ले जाकर बिलख रही 6 माह की बेटी के पास सुला दिया। आरोपी पर इस तरह जुनून सवार था कि बेटी की सिसकियां भी उसके शराब के नशे को कम नहीं कर पाई।

उसने पत्नी को सिर्फ इसलिए मार दिया, क्योंकि उसने घर खर्च के लिए उससेरुपए मांग लिए थे। आरोपी एक हजार रुपए होने के बाद भी उससे छिपाकर शराब पर उड़ाना चाह रहा था। यह खुलासा खुद आरोपी ने पुलिस के सामने किया। अब महिला की मौत के बाद उसकी बच्चियों की कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है, ऐसे में बच्चियों को बालिका गृह भेजने की तैयारी की जा रही है।

घर के इसी हिस्से में नेहा को मारने के बाद आरोपी मनोज ने उसे सुला दिया था।

घर के इसी हिस्से में नेहा को मारने के बाद आरोपी मनोज ने उसे सुला दिया था।

बेटियों तक की चिंता नहीं की

मांडवा बस्ती बस्ती निवासी आरोपी मनोज बालमिकी ने बताया कि रविवार रात को वह शराब पीकर घर पहुंचा। 27 साल की उसकी पत्नी नेहा शर्मा उससे पैसे मांग रही थी। लेकिन उसने पैसे देने से मना कर दिया। उसने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है। नेहा ने उसकी तलाशी ली, तो उसे जेब में हजार रुपए मिल गए थे। वह यह रुपए शराब पीने के लिए किसी से उधार लेकर आया था।

इसको लेकर उनके बीच बहस हो गई, क्योंकि नेहा घर खर्च के लिए पैसे मांग रही थी और मैंने देने से मना कर दिया था। कुछ देर की बहस हाथापाई में बदल गई। नेहा के धक्का देने से मैं नीचे गिर गया। मैंने अंदर पड़ी ईट उठाकर उसके सिर पर मार दी। उस दौरान उसकी बेटियां वहीं थी और वह रो रही थी। नेहा की आवाज बाहर ना जाए इसलिए मैंने चादर से ही उसका मुंह एक हाथ से दबा दिया।

पैर झटपटाना बंद होने पर नेहा के मुंह से हाथ हटा लिया। दोनों बेटियों को उसके पास ही सुला दिया और वह भी वहीं सो गया। रात करीब 3 बजे नींद खुली, तो नेहा को आवाज लगाई, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। वह उसे खींचता हुआ बाहर तक लाया और उसके ऊपर पानी डाला, लेकिन नेहा में तब भी कोई हरकत नहीं हुई।

यह देख मैं थोड़ी देर वहां खड़ा रहा। चारों तरफ देखा, लेकिन कोई नजर नहीं आया। डर के कारण मैं नेहा को घर के अंदर ले गया और बिस्तर पर बेटियों के पास सुला दिया। सुबह करीब 9 पहले मोहल्ले वालों को बताया कि नेहा सो कर नहीं उठ रही। उसके बाद खुद ही थाने पहुंचकर पुलिस को बुला लाया।

मौके पर पहुंचते ही पुलिस समझ गई हत्या हुई है

आरोपी मनोज के बताए घटनास्थल पर पहुंचते ही पुलिस को संदेह हो गया। पुलिस ने सबसे पहले मनोज को हिरासत में ले लिया। बड़ी बेटी से बात की। उसने बताया कि मम्मी-पापा के बीच रात को झगड़ा हुआ था। उसके बाद पापा ने मम्मी के सिर पर ईट मार दी थी। मनोज ने भी अपना जुर्म कबूल कर लिया।

बालिका गृह भेजी जा सकती है बच्चियां

टीआई कमला नगर विजय सिसोदिया ने बताया कि आरोपी ने करीब 5 साल पहले नेहा से लव मैरिज की थी। अभी उनकी साढ़े 5 साल और 6 महीने की दो बेटियां है। नेहा की मां ने बच्चियों को रखने में असमर्थता जताई है। जिसके बाद बालिका गृह से संपर्क किया है।

पुलिस बच्चियों के बेहतर भविष्य के लिए उन्हें बालिका गृह में रखवाने के लिए प्रयास कर रही है। इसके साथ ही कुछ एनजीओ से भी संपर्क किया गया है। फिलहाल दोनों बच्चियां अपनी नानी के यहां श्यामला हिल्स में हैं।

रोज बहस करती थी इसलिए मार दिया

मनोज ने बताया कि वह कुछ ज्यादा कमाई नहीं कर पाता था। घर में भी पैसों की तंगी थी। इसी कारण नेहा से झगड़ा होता था। वह हमेशा घर खर्च के लिए पैसे मांगती रहती थी। उनके झगड़े के बारे में सभी को पता था। रविवार रात भी उसी के कारण उनके बीच झगड़ा हुआ था। उसे नहीं पता था कि नेहा की जान चली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *