भ्रष्टाचार पर शिकंजा: पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद की मुश्किलें बढ़ीं; ED ने 10 दिन की रिमांड मांगी, कल हाेगी सुनवाई


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति की सम्पत्तियों की जांच के लिए ईडी ने रिमांड मांगी है। दस फरवरी को ईडी की अर्जी पर सुनवाई होगी।

  • ED की न्यायिक हिरासत में गायत्री को भेजा गया जेल

सामूहिक दुष्कर्म के एक मामले में लंबे समय से जेल में बंद चल रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी एक अन्य मामले में न्यायिक हिरासत में ले लिया है। गायत्री की 10 दिन के लिए पुलिस कस्टडी रिमांड मांगी गई है। कोर्ट ने ED की ओर से दाखिल गायत्री की कस्टडी रिमांड की मांग वाली अर्जी पर सुनवाई के लिए 10 फरवरी की तारीख तय की है।

बीते 22 जनवरी को ED की विशेष अदालत ने इस मामले में जरिए प्रोडक्शन वारंट गायत्री को जेल से तलब किया था। सोमवार को इस आदेश के अनुपालन में गायत्री को जेल से विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया था। ED के विशेष जज दिनेश कुमार शर्मा तृतीय ने गायत्री को न्यायिक हिरासत में लेने का आदेश सोमवार को पारित किया।

विजिलेंस ने भी गायत्री के खिलाफ दर्ज किया था आय से अधिक सम्पत्ति का मामला

ED के विशेष वकील कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, 26 अक्टूबर, 2020 को विजिलेंस ने गायत्री के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया था। 14 जनवरी, 2021 को इसी आधार पर ईडी ने भी जांच शुरू की। ईडी की प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि बतौर खनन मंत्री गायत्री ने अपनी आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है। फिलहाल दो करोड़ 98 लाख 28 हजार 511 रुपए अधिक संपत्ति का पता चला है।

ED के मुताबिक, गायत्री जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं जबकि गायत्री के बहुत सारी फर्म हैं। जिसमें कई करोड़ रुपए निवेश किए गए हैं। इनका लड़का अनिल प्रजापति इन कंपनियों का निदेशक हैं। इनकी कई प्रॉपर्टी अमेठी, लोनावाला व गोवा में होने की जानकारी मिली है। इस संदर्भ में गायत्री से पूछताछ आवश्यक है। लिहाजा गायत्री का 10 दिन के लिए पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *