ममता बनर्जी का बड़ा आरोप: दीदी बोलीं- भाजपा UP-बिहार के गुंडों से अपनी पार्टी की एक और महिला की हत्या कराएगी, फिर बंगाल को बदनाम करेगी


  • Hindi News
  • National
  • Chief Minister Of West Bengal । Mamata Banerjee । Slams BJP । Death Issue Of A BJP Worker’s Mother । Shova Majumdar । Goons Of Uttar Pradesh And Bihar, Bengal Elections

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाता5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बंगाल में दूसरे फेज के चुनाव का मंगलवार को आखिरी दिन है। ममता बनर्जी ने नंदीग्राम के भागाबेड़ा में व्हीलचेयर पर बैठकर चुनाव प्रचार किया।

पश्चिम बंगाल में पहले फेज की वोटिंग के बाद जुबानी जंग तेज हो गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को BJP कार्यकर्ता की मां शोवा मजूमदार की मौत का आरोप भाजपा पर ही मढ़ दिया है। उन्होंने कहा कि उनके (BJP) पास अपनी पार्टी की एक और महिला की हत्या कराने का प्लान है। ये लोग उत्तर प्रदेश और बिहार से लाए गुंडों से महिला की हत्या कराएंगे और दोष बंगाल पर मढ़ देंगे।

केंद्रीय मंत्री प्रधान बोले- मानसिक संतुलन खो चुकीं ममता
ममता का बयान आने के बाद केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पलटवार किया है। प्रधान ने कहा कि ममता अपना दिमागी संतुलन खो चुकी हैं। नंदीग्राम में उन्हें निगेटिव रिजल्ट देखने को मिल रहा है। वे हार रही हैं, इसलिए दुखी हैं। प्रधान ने कहा कि BJP कार्यकर्ता की मां की मौत को उत्तर प्रदेश से जोड़ना अपनी जिम्मेदारियों से भागने जैसा है।

शुभेंदु अधिकारी ने कहा- दीदी को झूठ बोलने की आदत
नंदीग्राम से ‌BJP प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी ने भी ममता के बयान पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को झूठ बोलने की आदत है। वे मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही हैं। उन्हें रोजगार और निवेश जैसे मामलों पर बात करनी चाहिए।

ममता ने कहा था- बाहरी लोगों को मार भगाना चाहिए
इससे पहले भी ममता बनर्जी ने BJP पर बिहार और उत्तर प्रदेश से गुंडे लेकर आने का आरोप लगाया था। उन्होंने सोमवार को कहा था कि BJP के गुंडों ने ही मुझ पर हमला किया था। हमला करने वाले लोग नंदीग्राम के नहीं थे, उन्हें BJP ने उत्तर प्रदेश और बिहार से बुलाया था। ममता ने कहा था कि वे साफ-सुथरा चुनाव चाहती हैं। अगर बाहरी लोग आते हैं तो यहां की महिलाओं को उन्हें बेलन और स्टील के बर्तनों से मारना चाहिए। जो लोग यहां की संस्कृति से प्यार नहीं करते, उन्हें यहां राजनीति करने का भी अधिकार नहीं है।

खबरें और भी हैं…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *