महंगाई से राहत नहीं: राजस्थान में पेट्रोल की कीमत 101 के पार, भोपाल में 95.19 रु. और मुंबई में 93.83 रु. लीटर हुए दाम


  • Hindi News
  • Business
  • Petrol Diesel Price Alert 9 February 2021 State Wise Latest Update | Today’s Petrol Diesel Price In Indian Metro Cities

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आज पेट्रोल और डीजल की कीमतें फिर बढ़ी हैं। 9 फरवरी को पेट्रोल 41 और डीजल 38 पैसे तक महंगा हुआ है। इस बढ़ोतरी के बाद राजस्थान के गंगानगर में प्रीमियम पेट्रोल के दाम 101 रुपए प्रति लीटर को पार कर गए हैं। हालांकि सादा पेट्रोल 97.72 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 87.34 हो गई है। वहीं डीजल 77.52 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा है। इसके अलावा मुंबई में पेट्रोल 93.83 और भोपाल में ये 95.19 रुपए प्रति लीटर बिक रह है।

देश के प्रमुख शहरों में पेट्रोल डीजल के दाम

शहर का नाम पेट्रोल (रुपए/लीटर) डीजल (रुपए/लीटर)
गंगानगर 97.72 89.40
भोपाल 95.19 85.50
मुंबई 93.83 84.36
जयपुर 93.65 85.66
दिल्ली 87.30 77.48
गांधीनगर 84.73

83.59

पानीपत 84.65 77.37
पटना 89.74 82.66
चंडीगढ़ 84.02 77.19

जनवरी में पेट्रोल 2.59 और डीजल 2.61 रु./लीटर महंगा हुआ
जनवरी में दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। 7 दिसंबर को दिल्ली में पेट्रोल 83.71 रुपए और डीजल 73.87 रुपए/लीटर पर बिक रहा था। इसके बाद 29 दिनों तक इनके दाम नहीं बढ़े। 6 जनवरी को इस महीने पहली बार इनके दाम बढ़ाए गए थे। वहीं फरवरी में अब तक 2 बार इनके दाम बढ़ाए गए हैं।

तेल प्रोडक्शन में कमी के चलते बढ़ रही कीमतें
हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (HPCL) के हेड, मुकेश कुमार सुराणा ने कहा कि पिछले 2-3 दिनों में अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में अचानक 59 डॉलर प्रति बैरल तक की वृद्धि हुई है। इसकी बड़ी वजह ये है कि साऊदी ने तेल की मांग और आपूर्ति के साथ प्रोडक्शन में कटौती की है।

सुराणा ने कहा कि रिटेल प्राइस केंद्र और राज्य सरकार के टैक्स के बाद तय होती है। देश के सिर्फ 25% से 30% रिटेल पंप की कीमतें इंटरनेशनल बेंचमार्क लागत पर निर्भर हैं। बाकी कीमतें केंद्र और राज्य सरकार के टैक्स से तय होती हैं। ऐसे में हमारे पास ग्राहकों के लिए कोई विकल्प नहीं रह जाता। सरकार टैक्स घटाती है तो कीमतें भी कम हो सकती हैं।

टैक्स के बाद पेट्रोल हो जाता है 3 गुना महंगा
इसको समझने के लिए पहले ये समझना जरूरी है कि कच्चे तेल से पेट्रोल-डीजल पंप तक कैसे पहुंचता है। पहले कच्चा तेल बाहर से आता है। वो रिफायनरी में जाता है, जहां से पेट्रोल और डीजल निकाला जाता है। इसके बाद ये तेल कंपनियों के पास जाता है। तेल कंपनियां अपना मुनाफा बनाती हैं और पेट्रोल पंप तक पहुंचाती हैं। पेट्रोल पंप पर आने के बाद पेट्रोल पंप का मालिक अपना कमीशन जोड़ता है। ये कमीशन तेल कंपनियां ही तय करती हैं। उसके बाद केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से जो टैक्स तय होता है, वो जोड़ा जाता है। उसके बाद सारा कमीशन, टैक्स जोड़ने के बाद पेट्रोल और डीजल हम तक आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *