महबूबा मुफ्ती की पासपोर्ट एप्लीकेशन रिजेक्ट: CID ने पुलिस वैरिफिकेशन में आपत्ति जताई, महबूबा ने पूछा- क्या एक पूर्व CM देश के लिए खतरा है?


  • Hindi News
  • National
  • Jammu And Kashmir । Jammu And Kashmir Live News Updates । Former Chief Minister । President Of Peoples Democratic Party PDP । Mehbooba Mufti Denied Passport । Passport Authorities

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

श्रीनगर5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पासपोर्ट का आवेदन रिजेक्ट होने के बाद महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों से जो वादे किए गए थे, वैसा कुछ नहीं हुआ।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और PDP चीफ महबूबा मुफ्ती की भारतीय पासपोर्ट के लिए दी गई एप्लीकेशन रद्द हो गई है। जम्मू-कश्मीर क्राइम इंवेस्टीगेशन डिपार्टमेंट (CID) ने पुलिस वैरिफिकेशन रिपोर्ट (PVR) में महबूबा को पासपोर्ट न देने के लिए कहा है। PVR रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद रीजनल पासपोर्ट ऑफिस ने उन्हें पासपोर्ट जारी करने से मना कर दिया है।

इस घटना के बाद महबूबा ने सोशल मीडिया पर गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि पासपोर्ट के लिए दिया गया मेरा आवेदन रद्द कर दिया गया है, क्या एक पूर्व मुख्यमंत्री देश के लिए खतरा है? पासपोर्ट ऑफिस ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) चीफ महबूबा को लेटर जारी किया है। लेटर में लिखा है कि यदि महबूबा चाहें तो पासपोर्ट रिजेक्शन के खिलाफ विदेश मंत्रालय में अपील कर सकती हैं।

महबूबा का तंज, इस तरह करेंगे कश्मीर का नॉर्मलाइजेशन
पासपोर्ट की अर्जी खारिज होने के बाद महबूबा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कश्मीर में नॉर्मलाइजेशन का वादा किया गया था। क्या इस तरह सारी चीजों को नॉर्मल किया जाएगा? मेरा पासपोर्ट नहीं जारी किया जा रहा है। CID ने अपनी रिपोर्ट में मुझे देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है। 2019 के बाद हमें यही सब हासिल हुआ है। एक पूर्व मुख्यमंत्री को पासपोर्ट देने से एक शक्तिशाली देश की साख खतरे में आ जाती है।

14 महीने रह चुकी हैं नजरबंद
जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद महबूबा मुफ्ती को नजरबंद कर लिया गया था। उन्हें पिछले साल 27 नवंबर को रिहा किया गया है। वे 14 महीने तक नजरबंद रहीं। इसके बाद जनवरी 2021 में महबूबा ने वीडियो जारी कर फिर उन्हें नजरबंद करने का आरोप लगाया था। इसके बाद कश्मीर जोन पुलिस ने मामले में ट्वीट कर बताया कि महबूबा मुफ्ती को घर में नजरबंद नहीं किया गया है, बल्कि सुरक्षा कारणों के चलते उनसे पुलवामा के दौरे को रद्द करने की अपील की गई थी।

दिग्गज नेता छोड़ रहे हैं महबूबा का साथ
महबूबा मुफ्ती इस समय अलग-थलग पड़ती जा रही हैं। उनकी पार्टी के दिग्गज नेता उनका साथ छोड़कर दूसरी पार्टी में जा रहे हैं। PDP के सबसे पुराने नेताओं में से एक और संस्थापक सदस्य मुजफ्फर हुसैन बेग ने हाल ही में पार्टी छोड़ी थी। बेग सज्जान लोन की पीपुल्स कांफ्रेंस में शामिल हो गए हैं। बेग की पत्नी सफीना बेग भी PDP से इस्तीफा देने वाली हैं। PDP के कई नेता J&K के पूर्व मंत्री अल्ताफ बुखारी के नेतृत्व वाली ‘जम्मू कश्मीर अपनी पार्टी’ में भी शामिल हुए हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *