मानवता का क्रूर चेहरा देखिए!: डिलीवरी के बाद सड़क पर फेंका भ्रूण, कुत्तों ने इस कदर नोंचा की सिर्फ सिर-हाथ ही बचा, फुटेज में दिखी महिला पर शक


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संगरिया7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भास्कर अक्सर ऐसी फोटो दिखाता नहीं, ये तस्वीर आपको विचलित जरूर कर सकती है लेकिन दम तोड़ रही इंसानियत का यह चेहरा सामने लाना जरूरी है इसलिए हम इसे दिखा रहे हैं।

  • संगरिया के ढाेलनगर क्षेत्र का मामला; 6 से 7 माह का था भ्रूण, आज करवाया जाएगा पोस्टमार्टम

मानव भ्रूण को किसी महिला के द्वारा सड़क पर खुले में फेंक देने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यह 6 से 7 माह का भ्रूण है। खास बात यह है कि सड़क पर फेंके गए भ्रूण को कुत्तों ने इस कदर नोच लिया कि उसका केवल सिर व एक बाजू बची रही। बाकी उसका शरीर कुत्तों ने नोच-नोच कर खा लिया।

पुलिस ने ढोल नगर निवासी जगपालसिंह पुत्र गेजासिंह मजबी सिख की रिपोर्ट पर पुलिस थाना में मामला दर्ज किया है। मामला दर्ज करवाते हुए ढाेलनगर निवासी जगपालसिंह ने बताया कि आज करीब 3:30 बजे वह खेत जा रहा था। जब वह गांव के बाहर की साइड में नुकेरां रोड पर पहुंचा, तो एक मानव बच्चे को कुत्ते नोच रहे थे। उसने कुत्तों से छुड़ाया ताे पता लगा कि यह भ्रूण था और इसके शरीर का काफी हिस्सा खा लिया गया था।

मौके पर ग्रामीण जगविंदर सिंह बराड़, सुखपाल सिंह, अजीत सिंह आदि भी आए। मालारामपुरा चौकी प्रभारी भूप बेनीवाल सहित पुलिस भी मौके पर पहुंची। उन्होंने शव को संगरिया सरकारी हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया। चौकी प्रभारी बेनीवाल ने बताया कि पोस्टमार्टम सुबह करवाया जाएगा। डॉ. अरविंद शर्मा ने बताया कि भ्रूण का केवल सिर और बाजू बची है। बाकी का हिस्सा बुरी तरह से नोच लिया गया है।

भास्कर अक्सर ऐसी फोटो दिखाता नहीं, ये तस्वीर आपको जरूर विचलित कर सकती है, लेकिन दम तोड़ रही इंसानियत का यह चेहरा सामने लाना जरूरी है इसलिए हम इसे दिखा रहे हैं। क्योंकि जिस महिला ने इसे सड़क पर फेंका, उसके बाद कुत्तों ने इसके टुकड़े-टुकड़े कर दिए। लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर कौन है ऐसे लोग, जो इतनी क्रूर हरकत करते हैं।

हैरत तो ये है कि उनके माथे पर सिकन तक नहीं आती है। इसलिए आप तय करें क्या होनी चाहिए ऐसे लोगों की सजा? आखिर क्या कसूर था इस बच्चे का? जब तक इन लोगों को सजा नहीं होगी तब तक मानवता यूं ही शर्मसार होती रहेगी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *