मानसून ट्रैकर: बिहार में खतरे के निशान से ऊपर बह रही गंडक नदी 9 जिलों में बाढ़ का खतरा मंडराया; MP में भोपाल समेत खंडवा और मुरैना जिले में भारी बारिश


  • Hindi News
  • National
  • Monsoon, Rain And Weather Forecast Today News And Updates 17 June 2021| Bihar Gandak River Flowing Danger Mark In Bihar Threatens To Flood 9 Districts

नई दिल्ली2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नेपाल के तराई और पहाड़ी इलाकों में पिछले दो दिन से हो रही तेज बारिश का असर बिहार के सीमावर्ती इलाकों में देखने को मिला रहा है। यहां गंडक समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। गोपालगंज जिले के छह प्रखंडो में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। बांध के नीचे बसे ज्यादातार गांव में बाढ़ का पानी घुसने की खबर है। नदी के तट पर बसे रहवासी ऊंचे स्थानों की ओर पलायन कर रहे हैं। मौसम विभाग ने इन इलाकों में हाई अलर्ट जारी किया है। पटना समेत 7 जिलों को रेड अलर्ट पर रखा है।

इधर, IMD ने बताया कि गुरुवार को देश के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इनमें पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, यूपी, झारखंड, मध्यप्रदेश, गोवा और कर्नाटक में बारिश होने की संभावना है। राजधानी दिल्ली में अगले कुछ दिन हल्की बारिश होने का अनुमान है। मानसून की बारिश के लिए 7 से 10 दिन का इंतजार करना पड़ेगा। पछुआ हवाओं के कारण उत्तर-पश्चिम भारत में मानसून पहुंचने की गति प्रभावित हुई है।

बिहार: गंडक नदी उफान पर, आज भी भारी बारिश का रेड अलर्ट
बिहार में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। पूर्वी और पश्चिमी चंपारण के साथ ही सारण में गंडक में पानी बढ़ने से कई इलाकों में पानी घुस गया। पूर्वी-पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज जिलों में भारी बारिश और पूरे बिहार में 18 जून तक वज्रपात का अलर्ट भी जारी किया है। फिलहाल, राज्य के 38 जिलों में बारिश जारी है। पटना में बुधवार दोपहर से रुक-रुककर बारिश हो रही है। राज्य के 7 जिलों को रेड अलर्ट पर रखा है। इनमें पटना, गया, नवादा, नालंदा, शेखपुरा, बेगूसराय और लखीसराय शामिल है। इधर, बेतिया के दर्जनों गांव में पानी घुस गया है। बेतिया में गंडक, बूढ़ी गंडक, हरबोड़ा, बलोर, मसान, रामरेखा, कोहड़ा, कठहा, गांगुली, दोहरम और पंड़ई आदि नदियों में बाढ़ आ गई। बेतिया में 195MM बारिश दर्ज की गई है।

बाढ़ से प्रभावित होने वाले जिलों को लेकर प्रशासनिक तौर पर इस बार भी अलर्ट किया गया है। बाढ़ के बढ़ते खतरे को देख NDRF एक्शन में आ गया है। पटना समेत कुल 9 जिलों में 10 अलग-अलग टीमों को तैनात कर दिया गया है। बिहटा स्थित मुख्यालय से 9वीं बटालियन की टीम को अररिया, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफफरपुर, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया तथा पटना जिलों में भेजा गया। NDRF की हर एक टीम कमांड सीनियर इंस्पेक्टर के हाथ में दी गई है। कुल 13 सीनियर इंस्पेक्टर सभी 10 टीम को लीड कर रहे हैं। हर एक टीम में अफसर और जवान मिलाकर 35 से 37 लोग हैं।

बिहार के पूर्वी-पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

बिहार के पूर्वी-पश्चिमी चंपारण और गोपालगंज जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मध्यप्रदेश: टीकमगढ़ में सबसे ज्यादा 52.0mm बारिश, कई इलाकों में गरज-चमक की संभावना
मानसून आने के बाद से ही राज्य में बारिश का सिलसिला जारी है। राजधानी भोपाल समेत खंडवा और मुरैना में देर रात तेज बारिश हुई। आज प्रदेश कई हिस्सों में बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग के मुताबिक, झारखंड में दवाब का सिस्टम बनने से पूर्वी मध्यप्रदेश में ज्यादा बारिश की संभावना है। रीवा, शहडोल संभाग के जिलों में तेज बारिश हो सकती है। भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, इंदौर, उज्जैन संभाग के कई जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश की भी संभावना है। मौसम विभाग ने 20 किमी रफ्तार से हवा चलने का अनुमान जताया है।

पिछले 24 घंटे में कई जिलों में बारिश दर्ज की गई। इनमें टीकमगढ़ में 52.0 mm, उमरिया 40.8 mm, नरसिंहपुर में 7.0 mm, मंडला में 36.0 mm, खंडवा में 28.0 mm, जबलपुर में 10.4 mm, भोपाल में 0.1 mm, ग्वालियर में 2.6 mm, खजुराहो में 9.0 mm, बैतूल में 4.2 mm, सागर में 13.8 mm, नौगांव में 13.8 mm, दमोह 13.0 mm, छिदवाड़ा 0.2 mm के अलावा होशंगाबाद और गुना में बूंदाबांदी दर्ज की गई।

तस्वीर राजधानी भोपाल की है। यहां 15 मिनट की बारिश में पूरा शहर भीग गया।

तस्वीर राजधानी भोपाल की है। यहां 15 मिनट की बारिश में पूरा शहर भीग गया।

दिल्ली: राज्य के कई इलाकों में गिरा पानी, मानसूनी बारिश के लिए 10 दिन का इंतजार
दिल्ली के कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई। इससे तापमान में गिरावट के साथ ही मौसम सुहाना हो गया। हालांकि, बारिश के चलते लोगों को जाम का भी सामना करना पड़ा। दिल्ली के कई ऐसे इलाके हैं, जहां अक्सर बारिश के बाद जाम लग जाता है। इधर, मौसम विभाग ने गुरुवार को भी दिल्ली में बारिश का अलर्ट जारी किया है। इस दौरान तेज हवाएं भी चल सकती हैं। इससे पहले मौसम विभाग ने कहा था कि पछुआ हवाओं की वजह से मानसून की स्पीड में कमी आई है। दिल्लीवासियों को अभी मानसून की बारिश के लिए 10 दिन का इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पश्चिम दिल्ली, साउथ दिल्ली (अयानगर, डेरामंडी), NCR और आसपास के क्षेत्रों में बारिश की संभावना है।

तस्वीर दिल्ली की है। यहां शाम बारिश के चलते लंबा जाम लग गया।

तस्वीर दिल्ली की है। यहां शाम बारिश के चलते लंबा जाम लग गया।

छत्तीसगढ़: प्रदेश में अब तक 126mm बारिश,आज कई इलाकों में गिरेगा पानी
प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में गुरुवार को हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। रायपुर समेत कुछ जिलों में भारी बारिश हो सकती है। प्रदेश के सभी हिस्सों में सक्रिय मानसून के प्रभाव से राज्यभर में बारिश के हालात बने हुए हैं। यहां मानसून अब तक अच्छा रहा है। राज्य में 16 जून तक 126 मिमी बारिश हो चुकी है। यह औसत से 108% ज्यादा है। प्रदेश में एक-दो जगह भारी बारिश होने अंधड़ चलने की भी संभावना है।

तस्वीर रायपुर की है।

तस्वीर रायपुर की है।

महाराष्ट्र: 24 से 48 घंटों में भारी बारिश की संभावना, कोल्हापुर की पंचगंगा का जलस्तर बढ़ा
महाराष्ट्र में कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। IMD ने अगले 24 से 48 घंटों में भारी बारिश की संभावना जताई है। मुंबई के पश्चिमी उपनगरों और पूर्वी उपनगरों में पिछले 24 घंटों में बारिश हुई। इसमें वर्ली में 128mm, कोलाबा में 100mm, मालाबार हिल में 97mm, हाजी अली में 62mm, बीएमसी ऑफिस में 58mm, भांडूप में 9mm, गोरेगांव में 13mm, डिंडोशी में 17mm और अंधेरी में 34mm बारिश हुई है।

इधर, भारी बारिश के चलते कोल्हापुर में पंचगंगा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में पंचगंगा नदी का जलस्तर 10 फीट बढ़ गया है। वर्तमान में पंचगंगा नदी 24 फीट से बह रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में कई छोटे बांध जलमग्न हो गए हैं। कोल्हापुर-गर्गोटी मार्ग पर मझगांव के छोटे से पुल का रास्ता बह गया। शाहूवाड़ी तालुका में गोगवेन के पास सड़क पर एक पेड़ गिर गया है। भडगांव पुल जलमग्न हो गया है और गढ़िंगलाज-चांदगढ़ राज्य राजमार्ग को बंद कर दिया गया है।

मुंबई के पश्चिमी एक्सप्रेस हाइवे पर बुधवार को हल्की बारिश के बाद जाम लग गया।

मुंबई के पश्चिमी एक्सप्रेस हाइवे पर बुधवार को हल्की बारिश के बाद जाम लग गया।

उत्तरप्रदेश: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में प्री- मानसून बारिश
पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में आज बारिश की संभावना है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में प्री-मानसूनी बारिश हो सकती है। NCR वाले गाजियाबाद, छपरौला, नोएडा के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है। इसके अलावा मुजफ्फरनगर, शामली, खतौली, सकोटी टांडा, दौराला के इलाकों में मध्यम तीव्रता के साथ बारिश होगी। आज सुबह भी वाराणसी में बारिश दर्ज की गई है। बहराइच में पिछले 4 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिससे घाघरा नदी में बाढ़ आ गई है। नदी के किनारे बसे लगभग दस गांव पानी में डूब गए। बाराबंकी में बारिश के चलते इन दिनों रेट नदी उफान पर है। नदी का जल स्तर पहले से बढ़ा हुआ है। इधर, गोरखपुर में 8.7mm, बलिया में 12.2mm बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने बताया कि लखनऊ में मानसून पहुंचने के लिए इंतजार करना पड़ेगा।

बहराइच में घाघरा में आई बाढ़ में फंसे ग्रामीण।

बहराइच में घाघरा में आई बाढ़ में फंसे ग्रामीण।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *