मार्च में मई सी तपिश: दिल्ली में 1945 के बाद सबसे गर्म मार्च, राजस्थान और मध्यप्रदेश में हीट वेव की चेतावनी


  • Hindi News
  • National
  • Severe Heat Wave In Delhi. At 40.1 Deg C, City Records Highest Temperature In March Since 1945

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली/जयपुर/भोपाल3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मौसम विभाग के मुताबिक, सोमवार को दिल्ली में 40.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

मार्च अभी खत्म भी नहीं हुआ है और मौसम में गरमाहट काफी बढ़ने लगी है। दिल्ली में तो गर्म मौसम ने 1945 में पड़ी गर्मी की बराबरी कर ली है। मौसम विभाग के मुताबिक, यहां सोमवार को मार्च में 76 साल बाद सबसे ज्यादा 40.1 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। इसी तरह का हाल राजस्थान और मध्य प्रदेश में है। यहां भी पारा 40 डिग्री के पार चला गया है। दोनों राज्यों के कुछ हिस्सों में एक-दो दिन में हीट वेव चलने की चेतावनी जारी की गई है।

राजस्थान में अभी से मई जैसा मौसम
राजस्थान में मार्च में ही मई जैसी गर्मी का अहसास हुआ। राज्य में सबसे ज्यादा गर्म जैसलमेर और चूरू रहे। यहां अधिकतम तापमान 42 डिग्री दर्ज किया गया। यह औसत से 5 डिग्री ज्यादा है। कई और शहरों में भी तापमान 40 डिग्री से ज्यादा रहा। सबसे गर्म रातें अजमेर और जयपुर की हैं। यहां रात का पारा 26.4 और 26.2 डिग्री दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिन में तेज गर्मी के साथ पश्चिमी राजस्थान में लू चलने की चेतावनी दी है।

MP के 5 जिलों में हीट वेव का यलो अलर्ट
अप्रैल आने से पहले ही गर्मी तेवर दिखाने लगी है। राजधानी भोपाल समेत पूरे मध्यप्रदेश में दिन का तापमान अचानक बढ़ गया है। 2 दिन में ही दिन और रात का टेम्परेचर सामान्य से ज्यादा हो गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में छतरपुर, सागर, दमोह, होशंगाबाद और दतिया में लू चलने का यलो अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के अनुसार, होशंगाबाद प्रदेश में सबसे ज्यादा तप रहा है। यहां तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा पहुंच गया है। जबलपुर और इंदौर संभागों में तापमान सामान्य जबकि सागर, उज्जैन और ग्वालियर में तापमान सामान्य से ज्यादा चल रहा है। मंडला और रायसेन में न्यूनतम तापमान सबसे कम 15 डिग्री सेल्सियस रहा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *