मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ: कोरोना के इलाज पर सरकार को फटकार, श्रीनगर की बच्ची का PM मोदी को वीडियो मैसेज और चंद घंटे की दूरी पर मानसून की फुहार



  • Hindi News
  • National
  • Dainik Bhaskar Top News Headlines; Supreme Court Raps Central Government Over The Treatment Of Corona To Srinagar Girl’s Video Message To PM Modi And Monsoon Is At A Distance Of Few Hours And More

2 मिनट पहले

नमस्कार!
कहां हाईकोर्ट की सुनवाई में गूंजे फिल्मी तराने? कैसे तैयार होगा CBSE 12वीं का रिजल्ट? बिहार में बच्चे को कैसे हुआ कोरोना का अजीब संक्रमण? ट्विटर पर राहुल गांधी के एक्शन से क्यों मची खलबली? आज सुबह हम ऐसी ही खास खबरें आपके लिए लेकर आए हैं। तो चलिए शुरू करते हैं मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ…

सबसे पहले देखते हैं बाजार क्या कह रहा है..

  • BSE का मार्केट कैप पहली बार 224.62 लाख करोड़ रुपए हुआ। एक्सचेंज पर करीब 64% कंपनियों के शेयरों में बढ़त रही।
  • 3,284 कंपनियों के शेयरों में ट्रेडिंग हुई। इसमें 2,103 कंपनियों के शेयर बढ़े और 1,013 कंपनियों के शेयर गिरे।

आज इन इवेंट्स पर रहेगी नजर..

  • भगोड़े कारोबारी मेहुल चौकसी के मामले में डोमिनिका कोर्ट में सुनवाई होगी।
  • हिमाचल प्रदेश के बहुचर्चित गुड़िया दुष्कर्म और हत्या मामले में दोषी को सजा सुनाई जाएगी।
  • आरएसएस से जुड़ा भारतीय मजदूर संघ बंगाल एकजुटता दिवस मनाएगा। पश्चिम बंगाल की CM और गवर्नर को चिट्ठी भेजेगा।
  • बॉम्बे हाईकोर्ट में महाराष्ट्र में 10वीं की परीक्षा से संबंधित याचिका पर सुनवाई होगी।

देश-विदेश

सरकार को सुप्रीम फटकार
कोरोना महामारी के समय दवा, इलाज, ऑक्सीजन और वैक्सीनेशन के मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से अहम सवाल पूछे हैं। हालांकि सरकार ने इस दौरान जब कोर्ट के अधिकारों पर सवाल उठाया, तो अदालत ने संविधान का हवाला देते हुए कहा कि जब लोगों के अधिकारों पर हमला हो, तो वह खामोश नहीं रह सकता। देश में 18 से 44 साल के लोगों के पेड वैक्सीनेशन के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने मनमाना और तर्कहीन बताया। कोर्ट ने पूछा कि जिस कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन को जरूरी बताया जा रहा है, उसे नेत्रहीन कैसे इस्तेमाल करेंगे। देश की आधी आबादी के पास मोबाइल नहीं है, वे कैसे वैक्सीनेशन कराएंगे।

कैसे तैयार होगा CBSE 12वीं का रिजल्ट?
कोरोना महामारी के बीच केंद्र सरकार ने मंगलवार को देशभर में 12वीं बोर्ड के एग्जाम कैंसिल कर दिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 12वीं का रिजल्ट तय समयसीमा के भीतर और तार्किक आधार पर तैयार किया जाएगा। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर स्टूडेंट्स का असेसमेंट कैसे होगा। CBSE ने बुधवार को बताया कि स्टूडेंट्स के मूल्यांकन के लिए स्ट्रक्चरिंग क्राइटेरिया तय करने में करीब 2 हफ्ते का समय लगेगा। इस बीच, सूत्रों ने भास्कर को बताया कि नतीजों के लिए CBSE का फोकस अभी इंटरनल असेसमेंट पर है। अगर स्टूडेंट्स एग्जाम देना चाहते हैं, तो उन्हें ये विकल्प भी दिया जाएगा।

अब तक 5 राज्यों में 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द
कोरोना से बने हालात के मद्देनजर केंद्र सरकार ने मंगलवार को CBSE 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी। हरियाणा ने भी इसी दिन 12वीं बोर्ड एग्जाम न कराने का फैसला लिया। इसके ठीक एक दिन बाद यानी बुधवार को पहले गुजरात ने, फिर मध्य प्रदेश ने, उसके बाद उत्तराखंड और राजस्थान (10वीं-12वीं दोनों) ने भी अपने यहां 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा कर दी। मध्य प्रदेश में 12वीं के 7.5 लाख और गुजरात में 6.83 लाख छात्र हैं। राजस्थान में 12वीं में करीब साढे़ 9 लाख स्टूडेंट हैं। ऐसा माना जा रहा है कि UP और महाराष्ट्र भी इस पर जल्द फैसला ले सकते हैं।

बिहार में बच्चे को संक्रमण का अजीब केस
बिहार के दरभंगा जिले में रविवार को 24 घंटे में ढाई माह के मासूम सहित 4 बच्चों की मौत हुई तो लोग कोरोना के तीसरी लहर की आशंका जताने लगे। अब नया मामला IGIMS में सामने आया है, जहां छपरा के एक 8 साल के मासूम का फेफड़ा 90% खराब हो चुका था और संक्रमण के कारण लिवर और किडनी पर भी काफी असर पड़ा था। RTPCR और एंटीजन की जांच रिपोर्ट निगेटिव थी। CT स्कैन रिपोर्ट देख डॉक्टरों की टीम भी दंग रह गई। हालांकि डॉक्टरों की टीम ने बच्चे की जान बचाने के लिए पूरी ताकत लगा दी और अब वे काफी हद तक इसमें सफल हो गए हैं। बच्चा अब रिकवर कर रहा है।

कोरोना पर थोड़ी राहत भरी खबर
भारत में सबसे पहले पाए गए कोरोना वायरस के वैरिएंट को लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने बड़ा बयान दिया है। WHO ने मंगलवार को कहा कि भारत में सबसे पहले पाए गए कोरोना वैरिएंट का एक स्ट्रेन ही अब चिंता का विषय है, जबकि बाकी दो स्ट्रेन का खतरा कम हो गया है। कोरोना के इस वैरिएंट को WHO ने B.1.617 या डेल्टा नाम दिया था। इसी की वजह से भारत में कोरोना की दूसरी लहर इतनी खतरनाक हुई थी। पिछले महीने ही WHO ने कोरोना के इस वैरिएंट को ‘वैरिएंट ऑफ कंसर्न’ यानी चिंताजनक वैरिएंट बताया था।

हाईकोर्ट की सुनवाई में फिल्मी तराने
एक्ट्रेस जूही चावला की 5G टेक्नोलॉजी के खिलाफ दायर याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को ऑनलाइन सुनवाई की। हाईकोर्ट में जस्टिस जेआर मीढ़ा की बेंच जब दलीलें सुन रही थी, उसी वक्त सुनवाई के पेज पर एक के बाद एक फिल्मी तराने सुनाई देने लगे। दरअसल, जूही ने सुनवाई का वीडियो लिंक सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था। सुनवाई के बीच एक आदमी बार-बार गाने गाकर गायब हो रहा था। उसने जूही की फिल्मों के 3 गाने गाए। इसके बाद सुनवाई रोकनी पड़ी। कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए कोर्ट मास्टर को इन लोगों को खोजकर अवमानना नोटिस देने का आदेश दिया।

मॉडर्ना और फाइजर के लिए ग्रीन कॉरिडोर
मॉडर्ना और फाइजर की कोरोना वैक्सीन को जल्द से जल्द देश में उपलब्ध करवाने के लिए केंद्र सरकार उनकी शर्तें मानने को तैयार हो गई है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने कहा है कि अगर इन कंपनियों की वैक्सीन को बड़े देशों और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली हुई है तो भारत में इन्हें लॉन्चिंग के बाद ब्रिजिंग ट्रायल की जरूरत नहीं है। सरकार ने अभी वैक्सीन के इस्तेमाल के बाद होने वाले बड़े साइड इफेक्ट को लेकर हर्जाने या जवाबदेही जैसी शर्त पर फैसला नहीं किया है।

श्रीनगर की बच्ची का मोदी को वीडियो मैसेज
जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से एक 6 साल की बच्ची ने पढ़ाई से परेशान होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शिकायत की थी। माहिरा इरफान ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए मोदी से ऑनलाइन क्लास का समय कम करने के लिए कहा था। वीडियो वायरल होने के बाद उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बच्ची की यह मांग मान ली है। स्कूल शिक्षा विभाग ने पहली से 8वीं तक के बच्चों के लिए ऑनलाइन क्लास का समय डेढ़ घंटे कर दिया है। जबकि 9वीं से 12वीं के बच्चों के लिए 3 घंटे से ज्यादा का समय नहीं होगा। इससे खुश माहिरा ने कहा कि वे अब अपने किचन सेट के साथ खेल सकती हैं। देखिए माहिरा का वीडियो..

बंगाल के लिए बिहार से उठी आवाज
पश्चिम बंगाल में जारी विवाद और उस पर जारी सियासत को लेकर अब बिहार से भी आवाज उठने लगी है। बिहार की 25 शख्सियत ने राज्यपाल फागू चौहान को पत्र लिखकर बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद जारी हिंसा पर कार्रवाई की मांग की है। इस पत्र की प्रति राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी भेजी गई है। बिहार के राज्यपाल को पत्र लिखने वालों में अलग-अलग क्षेत्रों के 25 बुद्धिजीवी शामिल हैं। इनमें पद्मश्री से सम्मानित 5 शख्सियत भी शामिल हैं।

ट्विटर पर राहुल गांधी के एक्शन से खलबली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ही दिन में पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं, करीबियों और पत्रकारों को ट्विटर पर अनफॉलो कर हलचल मचा दी है। केरल के वायनाड से लोकसभा सांसद राहुल ने मंगलवार को अपने ही संसदीय कार्यालय के कुछ लोगों और दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकारों को भी अनफॉलो कर दिया। पार्टी ने बयान जारी कर कहा कि यह राहुल के अकाउंट का रिफ्रेशमेंट है। वे जल्द ही नई रणनीति के साथ लौटेंगे। वहीं, कुछ मीडिया मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हाल ही में कुछ वरिष्ठ नेताओं ने राहुल के खिलाफ पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए शिकायत की थी। इसी के खिलाफ राहुल ने यह एक्शन लिया है।

सिस्टम की पोल खोलती भास्कर की पड़ताल
कोरोना की दूसरी लहर ने देश में पूरे हेल्थ सिस्टम की पोल खोल कर रख दी। सरकारी आंकड़ों में तो जान गंवाने वाले लाखों लोग दर्ज हुए, लेकिन बहुत से ऐसे भी लोग थे जिन्हें इन आंकड़ों में जगह नहीं मिली। मौतों की ऐसी हकीकत जानने के लिए दैनिक भास्कर ने राजस्थान के पाली जिले की दो पंचायतों का दौरा किया। यहां प्रशासन ने दो महीने में कोरोना से सिर्फ एक मौत का दावा किया। जबकि भास्कर रिपोर्टर गांव में घूमा तो 55 मौतों का आंकड़ा सामने आया। जिनकी मौतें हुईं, उनमें से अधिकतर का कोरोना टेस्ट नहीं हुआ था। उनकी कोरोना जांच होती तो सच्चाई सामने आ जाती।

बिहार में सियासी तूफान के संकेत
RJD (राष्ट्रीय जनता दल) सुप्रीमो लालू यादव के जमानत पर बाहर आने और NDA के अहम सहयोगी हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी व VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के हाल के बयानों ने बिहार की सियासत में गरमाहट ला दी है। NDA जहां अपने मजबूत होने का दावा कर रही है। वहीं, मांझी और सहनी के हाल में दिए गए बयान विपक्ष को एक मौके की तरह लग रहे हैं। इस बीच नीतीश सरकार की स्थिरता पर सवाल खड़े होने लगे हैं। राजनीतिक जानकार बिहार में सियासी उलटफेर होने की बात कह रहे हैं। इसकी वजह दोनों नेताओं के बयान और सोशल मीडिया पोस्ट को बताया जा रहा है।

नए IT नियमों पर गूगल की दलील
केंद्र सरकार के नए IT रूल्स को लेकर गूगल ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है। गूगल LCC ने हाईकोर्ट से केंद्र के नए IT एक्ट 2021 से अंतरिम राहत देने की मांग की है। इन रूल्स के तहत केंद्र ने सोशल मीडिया के लिए कई गाइडलाइंस जारी की हैं। गूगल ने कहा है कि वो एक सर्च इंजन है और ऐसे में उस पर ये नियम नहीं लागू होने चाहिए। मामला सिंगल जज वाली बेंच के एक ऑर्डर से जुड़ा है। बेंच ने महिला याचिकाकर्ता की अपील पर गूगल से कहा था कि वो आपत्तिजनक कंटेंट को हटाए। न केवल भारत में बल्कि हर जगह ये कंटेंट 24 घंटे के भीतर हटाया जाए।

मानसून अब चंद घंटे की दूरी पर
मौसम विभाग के मुताबिक अगले 12 से 15 घंटे में मानसून केरल में दस्तक दे सकता है। यह तय वक्त से 2 दिन लेट है। केरल में 3 दिन से प्री मानसून बारिश जारी है। सैटेलाइट इमेज में केरल के तटवर्ती इलाकों और उससे सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर में बादल छाए नजर आ रहे हैं। हालांकि, निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने 30 मई की दोपहर को ही मानसून के केरल पहुंचने का ऐलान कर दिया है। इस बार दो तूफानों ताऊ-ते और यास का कई राज्यों पर असर पड़ने के कारण नौतपा का असर बिल्कुल नजर नहीं आया। दिल्ली में बुधवार को तापमान 22.2 डिग्री दर्ज किया गया। ये सामान्य से 5 डिग्री कम है।

IPL फेज-2 को लेकर BCCI सख्त
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने IPL के बाकी बचे 31 मैच संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में कराने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। बोर्ड प्रेसिडेंट सौरव गांगुली और सचिव जय शाह समेत कई टॉप अधिकारी फिलहाल UAE में ही हैं। वहीं, इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लीग के दौरान उपलब्ध न होने की खबरों के बीच बोर्ड ने विदेशी खिलाड़ियों पर सख्ती करने की तैयारी कर ली है। इनसाइड स्पोर्ट्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, UAE नहीं आने वाले विदेशी खिलाड़ियों की सैलरी काटी जाएगी। IPL फेज-2 18-19 सितंबर से शुरू हो सकता है। वहीं, फाइनल 9-10 अक्टूबर को खेला जा सकता है।

सुर्खियों में और क्या है..

  • सिंगल डोज वाली रूस की स्पुतनिक लाइट कोरोना वैक्सीन बुजुर्गों में करीब 83 फीसदी तक प्रभावी पाई गई है। भारत में अभी दो डोज वाली स्पूतनिक V वैक्सिन को अप्रूवल दिया गया है।
  • देश के 15 राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हैं। इनमें हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, मिजोरम, गोवा, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी शामिल हैं।
  • देश के 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन है। इनमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, असम, मणिपुर, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश और गुजरात शामिल हैं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *