मोदी का बांग्लादेश दौरा: पड़ोसी देश के 50वें स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होंगे PM; शेख हसीना के पिता बगबंधु के पैतृक गांव भी जाएंगे


  • Hindi News
  • National
  • PM To Attend 50th Independence Day Celebrations Of Neighboring Country; Sheikh Hasina’s Father Will Also Visit The Ancestral Village Of Bagbandhu

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली/ढाका26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगवानी के लिए पूरे ढाका शहर को बैनर पोस्टर से सजाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार सुबह करीब 10 बजे 2 दिन के दौरे पर बांग्लादेश के लिए रवाना होंगे। वे पड़ोसी देश के 50वें स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल होंगे। PM मोदी का स्पेशल विमान ढाका के हजरत शाह जलाल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सुबह करीब 11 बजे उतरेगा। यहां बांग्लादेश की PM शेख हसीना उनकी अगवानी करेंगी। PM मोदी को यहां 19 तोपों की सलामी के साथ गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा।

उन्होंने ने अपनी यात्रा को लेकर कहा कि मुझे खुशी है कि कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद किसी ऐसे पड़ोसी मित्र देश की यह मेरी पहली विदेश यात्रा है, जिसके साथ भारत के सांस्कृतिक, भाषाई और दोनों देशों के लोगों के बीच आपस में गहरे संबंध हैं। मैं राष्ट्रीय दिवस समारोह में अपनी भागीदारी का इंतजार कर रहा हूं, जब बांग्लादेश के राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्मशती भी मनाई जा रही है। बंगबंधु पिछली शताब्दी के कद्दावर नेताओं में से एक थे, जिनका जीवन और आदर्श लाखों लोगों को प्रेरित करता है।

उनकी स्मृति को अपना सम्मान देने के लिए मैं तुंगीपाड़ा में बंगबंधु की समाधि पर जाने के लिए उत्सुक हूं। मैं पौराणिक परंपरा की 51 शक्तिपीठों में से एक, प्राचीन जशोरेश्वरी काली मंदिर में देवी काली की पूजा करने का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। मैं विशेष रूप से ओराकांडी में मतुआ समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ अपनी बातचीत की भी प्रतीक्षा कर रहा हूं, जहां से श्री हरिचंद्र ठाकुर जी ने अपने पवित्र संदेश का प्रसार किया।

बांग्लादेश के मुक्ति योद्धाओं को देंगे श्रद्धांजलि
ढाका एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री का काफिला सीधे बांग्लादेश के राष्ट्रीय शहीद स्मारक पहुंचेगा। PM मोदी बांग्लादेश की आजादी के लिए शहीद हुए मुक्ति योद्धाओं को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे और उनकी याद में एक पौधा लगाएंगे। दोनों देशों के प्रधानमंत्री बंगबंधु इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस सेंटर आएंगे। यहां दोनों देशों के प्रधानमंत्री मिलकर बंगबंधु-बापू म्यूजियम का उद्घाटन करेंगे। वहीं पर शेख हसीना ने मोदी के सम्मान में डिनर का आयोजन किया है। शहीद स्मारक से निकलकर प्रधानमंत्री पैन पेसिफिक सोनारगांव होटल जाएंगे, जहां उनके ठहरने का इंतजाम है।

काली मंदिर में पूजा के बाद हसीना के गांव जाएंगे
27 मार्च की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेजगांव केंटोनमेंट से ढाका से 300 किलोमीटर की दूरी पर सतखिरा के श्यामानगर के ईश्वरीपुर गांव स्थित श्री श्री जसोरेश्वरी काली मंदिर के दर्शन के लिए पहुंचेंगे। करीब 10 बजे काली मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री हेलीकॉप्टर से बंगबंधु मुजीबुर रहमान की जन्म स्थली तुंगिपारा पहुंचेंगे। यह बांग्लादेश की प्रधानमंत्री हसीना का पैतृक गांव है। यहां एक बार फिर शेख हसीना उनकी अगवानी करेंगी। यहां बने स्मारक में यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली यात्रा है। मोदी यहां एक पौधा भी लगाएंगे।

मतुआ समुदाय के सबसे बड़े तीर्थ स्थल जाएंगे
दोनों प्रधानमंत्री बंगबंधु स्मारक जाएंगे। वहां से एक बार फिर पीएम हेलीकॉप्टर से गोपालगंज के ओराकंडी जाएंगे। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओराकंडी में मतुआ समुदाय के सबसे बड़े तीर्थ स्थल ठाकुरबाड़ी में दर्शन करेंगे। वे यहां करीब 300 मतुआ धर्म प्रचारको को संबोधित करेंगे। इन कार्यक्रमों की समाप्ति के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हेलीकॉप्टर से वापस ढाका अपने होटल लौट आएंगे।

कोरोना के चलते साल 2020 में यात्रा रद्द की गई थी
बीते साल कोरोना संक्रमण के शुरुआत के बाद पीएम की जो विदेश यात्रा मार्च 2020 में रद्द की गई थी वो बांग्लादेश की ही थी। पीएम मोदी को शेख मुजीबुर रहमान जन्मशती कार्यक्रम में शरीक होने के लिए पहले 17 मार्च 2020 को बांग्लादेश की यात्रा करनी थी। हालांकि, कोविड-19 महामारी के बीच अपनी विदेश यात्राओं का सिलसिला शुरू करने के लिए उन्होंने पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश को ही चुना।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *