मोदी-शाह टटोलेंगे योगी सरकार की नब्ज: 800 भाजपा कार्यकर्ताओं से फोन पर पूछेंगे सरकार से कहां चूक हुई? लोगों का गुस्सा कैसे कम हो? PM के भरोसेमंद एके शर्मा ने बनाई है लिस्ट


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Uttar Pradesh, Election, Yogi Govt, Narendra Modi, Will Ask 800 BJP Workers Over The Phone, Where Is The Mistake, State Vice President AK Sharma, Close To Modi, Has Made This List

कानपुरएक घंटा पहलेलेखक: आदित्य द्विवेदी

  • कॉपी लिंक

कोरोनाकाल में सरकारी व्यवस्थाओं से गुस्साए वोटर्स की नब्ज टटोलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह खुद मोर्चा संभाल रहे हैं। नवनियुक्त प्रदेश उपाध्यक्ष एके शर्मा ने यूपी के 800 लोगों की सूची बनाई है, जिनसे मोदी-शाह फोन पर बात करेंगे। इसमें ज्यादातर वे लोग हैं जो भाजपा की विचारधारा को पसंद करते हैं।

मोदी-शाह इन लोगों से पूछेंगे कि प्रदेश में भाजपा की सरकार कैसी चल रही है? कोरोना काल में सरकार से कहां चूक हुई? जनता कितनी संतुष्ट है। खामियों को कैसे सुधारा जा सकता है? अगले विधानसभा चुनाव के लिए वर्तमान जनप्रतिनिधि कितने कारगर रहेंगे।

भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्र कहते हैं कि यूपी में भी एक-एक सीट का पहले फीडबैक लिया जाएगा। अलग-अलग पैरामीटर पर हर विधायक का रिपोर्ट कार्ड बनेगा। टिकट वितरण से पहले इस रिपोर्ट कार्ड को भी आधार बनाया जाएगा।

यूपी के 2022 विधानसभा चुनाव में लागू होगा गुजरात फॉर्मूला

भाजपा का शीर्ष नेतृत्व हर हाल में यूपी में अपनी सत्ता बरकरार रखना चाहता है। इसी क्रम में कई तरह के सर्वे पर लगातार काम चल रहा है। भाजपा के पिछले तीन सर्वे 2022 में होने वाले चुनाव को लेकर चिंता बढ़ा चुके हैं। अब इस चिंता के समाधान पर काम तेजी से शुरू हो चुका है। इसी क्रम में अब मोदी और शाह प्रदेश में संघ और भाजपा की मानसिकता वाले पुराने जुझारू लोगों से फोन पर बात करेंगे। इस बातचीत का मकसद ये है कि प्रदेश में किस वर्ग के लोगों में ज्यादा गुस्सा है और उसे कैसे शांत किया जा सकता है। चुनिंदा प्रश्नों के माध्यम से इन जमीनी लोगों से राय ली जाएगी। लोगों से मिली सलाह के बाद आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

2024 का सेमीफाइनल होगा 2022 का यूपी विधानसभा चुनाव
2022 का यूपी चुनाव भाजपा के लिए सेमीफाइनल की तरह होगा। यहां से मिला रिस्पांस ही उत्तर भारत के अन्य राज्यों का रुख तय करेगा। यूपी विधानसभा 2022 का सीधा असर 2024 के चुनाव में देखने को मिलेगा। इसीलिए भाजपा में मंथन और निर्णय का दौर चल रहा है। 2017 से अब तक सभी विधानसभा में विधायकों के क्रियाकलापों की कुण्डली नए सिरे से तैयार की जा रही है। इसमें सरकार के कार्यों से लेकर जनप्रतिनिधियों की सक्रियता पर बारिकी से रिपोर्ट तैयार होनी है। इस रिपोर्ट के बाद गुजरात की तर्ज पर बड़ी संख्या में टिकट वितरण की रणनीति तय होगी।

मोदी के भरोसेमंद एके शर्मा ने बनाई है ये लिस्ट
मोदी के भरोसेमंद माने जाने वाले एके शर्मा ने उत्तरप्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से चुनिंदा नामों की सूची बनाई है, जिनसे फीडबैक लिया जाएगा। एके शर्मा को दो दिन पहले ही यूपी में भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष भी नियुक्त किया गया है। पहले शर्मा को यूपी का उपमुख्यमंत्री बनाने की भी अटकलें थीं लेकिन उन्हें संगठन में जगह दी गई है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *