राजस्थान में MLA फंड सांसदों के बराबर: CM गहलोत ने विधायक निधि 4 मिनट में 2.25 करोड़ से बढ़ाकर 5 करोड़ रुपए करने का ऐलान किया, कब से लागू होगा तय नहीं


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Announcement To Increase MLA Fund From 2.25 Crore To 5 Crore In Four Minutes, Now MLA Fund Will Be Equal To MPs In Rajasthan

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

विधानसभा में बजट पारित होने से ठीक पहले विधायक फंड बढाने की घोषणा

  • अब तक सालाना 450 करोड़ था विधायक निधि का बजट, अब 1000 करोड़ होगा

राजस्थान सरकार ने गुरुवार को बजट पास करने से ठीक 4 मिनट पहले विधायक फंड का पैसा सांसदों के फंड के बराबर करने की घोषणा की। राज्य में MLA का फंड 2.25 करोड़ है, जिसे बढ़ाकर अब 5 करोड़ रुपए सालाना किया गया है। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह कब से लागू होगा।

विधानसभा में 7 बजकर 14 मिनट पर स्पीकर ने चर्चा छेड़ी और 7:18 पर CM अशोक गहलोत ने इसकी घोषणा कर दी। मुख्यमंत्री वित्त और विनियोग विधेयक पर बहस का जवाब देकर बैठे ही थे कि स्पीकर सीपी जोशी ने इशारा किया। इस पर गहलोत वापस खड़े हुए और पूछा कि स्पीकर साहब कैसे इशारा कर रहे हैं, कोई बात है? अध्यक्ष दो बार पूछ रहे हैं, इसके मायने हैं? मैं स्पीकर साहब को कई साल से जानता हूं इनकी बॉडी लैंग्वेज, इनके फरमान इनकी स्टाइल। इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने कहा, विधायक फंड बढ़ाने की बात कर रहे हैं विधायक।

स्पीकर ने कहा- विपक्ष के नेता कहेंगे, उतना बढ़ेगा विधायक फंड
स्पीकर ने विधायक फंड बढ़ाने की बात कही तो CM गहलोत ने कहा, जो आदेश होगा उसकी पालना होगी। इस पर स्पीकर ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया कहेंगे उतना विधायक फंड होगा। इस पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ खड़े हुए और बोले- महंगाई के इस जमाने में विधायक फंड की राशि कम पड़ रही है, इसे बढ़ाकर 5 करोड़ किया जाए।

इस पर स्पीकर ने कहा, कटारिया साहब की इसमें सहमति है कि नहीं, कटारिया साहब आपको ही अधिकार दिया जाता है कि कितना होना चाहिए फंड। इस पर कटारिया ने कहा, मैं भी विधायक हूं, सब चाहते हैं 5 करोड़ होनी चाहिए तो सबकी राय में मेरी राय है। सदन में यह वार्तालाप चल रहा था इस दौरान मुख्य सचेतक महेश जोशी ने CM के कान में आकर कुछ कहा।

राजस्व मंत्री बोले- विधायक निधि 5 करोड़ करना अव्यावहारिक
इस बीच राजस्व मंत्री हरीश चौधरी खड़े हुए और कहा कि राठौड़ साहब 5 करोड़ की बात कर रहे हैं कोरोना काल में यह व्यावहारिक नहीं है। मोदी सरकार ने तो सांसदों को मिलने वाली 5 करोड़ की सांसद निधि पर ही रोक लगा रखी है। इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने हरीश चौधरी से बैठने को कहा। स्पीकर बोले- आज का दिन ऐतिहासिक है। आज पूर्व स्पीकर कैलाश मेघवाल ने सदन में ऐतिहासिक भाषण दिया। मुख्यमंत्री विधायक फंड को बढ़ाकर 5 करोड़ करने की घोषणा करें।

इसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने स्पीकर सीपी जोशी से कहा, आप जो कह रहे हैं आपके आदेश की पालना होगी। आपका आदेश पूरा होगा। इस तरह से विधायक फंड बढ़ने की घोषणा हो गई। अभी यह घोषणा नहीं की है कि बढा हुआ विधायक फंड कब से लागू होगा।

अब सालाना 1000 करोड़ खर्च होंगे
अब तक विधायक निधि पर प्रति विधायक 2.25 करोड़ के हिसाब से सालाना 450 करोड़ रुपए का बजट होता था, अब यह बजट बढ़कर 1000 करोड़ रुपए हो जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *