राजस्थान हाईकोर्ट: आजीवन कारावास की सजा को चुनौती देने वाली आसाराम की याचिका पर आज होगी सुनवाई


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोधपुर10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आसाराम वर्ष 2013 से जोधपुर जेल में बंद है।

  • वर्ष 2013 से जोधपुर जेल में बंद है आसाराम

नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न मामले में जोधपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे आसाराम की याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट में आज सुनवाई होगी। अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा के खिलाफ आसाराम ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर रखी है। आसाराम की ओर से इस मामले की जल्द सुनवाई करने की एक याचिका लगाई गई थी। इसके बाद उनकी याचिका को पहले सुना जा रहा है।

आज न्यायाधीश संदीप मेहता व न्यायाधीश देवेन्द्र कच्छवाह की खंडपीठ में इस मामले की सुनवाई होगी। इस मामले में आसाराम, राज्य सरकार व पीड़िता की तरफ से बहस होनी है। बहस के आधार पर खंडपीठ अपना फैसला सुनाएगी। आसाराम ने सजा स्थगन की भी एक याचिका दायर कर रखी है, लेकिन हाईकोर्ट में सजा को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई पहले हो रही है।

इस कारण आसाराम है जेल में

वर्ष 2013 में आसाराम के गुरुकुल में पढ़ाई करने वाली एक नाबालिग छात्रा ने जोधपुर के पास मणाई गांव के एक आश्रम में आसाराम पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इसके बाद 31 अगस्त 2013 को आसाराम को मध्यप्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया गया। आसाराम पर पोक्सो एक्ट, जुवेनाइल जस्टिस एक्ट, दुष्कर्म, आपराधिक षडयंत्र और दूसरे कई मामलों के तहत केस दर्ज हुए। उसके बाद से आसाराम लगातार जेल में बंद है। आसाराम की तरफ से देश के कई नामी वकील उन्हें जमानत दिलाने के लोअर से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक एक दर्जन से अधिक प्रयास कर चुके है। सभी कोर्ट से आसाराम को निराशा ही हाथ लगी। अप्रेल 2018 में जोधपुर स्पेशल कोर्ट ने आसाराम को दोषी करार दिया था और आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *